क्रिकेट का बॉस कौन? ब्रेडमैन, सचिन या डिविलियर्स - Sportzwiki
क्रिकेट

क्रिकेट का बॉस कौन? ब्रेडमैन, सचिन या डिविलियर्स

  • वैसे तो क्रिकेट में बहुत सारे महान और दिग्गज खिलाड़ी हुए हैं. लेकिन हर युग में कुछ ऐसे खिलाड़ी हुए हैं, जिनका नाम क्रिकेट की चर्चा में अगर न लिया जाये. तो ऐसा लगता है मानो क्रिकेट ही अधूरा है. कहने का मतलब ये खिलाड़ी क्रिकेट के पर्याय बन गये हैं. आज हम बहुत सी क्रिकेट चर्चा में ये देखते हैं, कि लोग ब्रेडमैन, सचिन और डिविलियर्स में से कौन सर्वश्रेष्ठ है को लेकर लम्बी बहस करने लगते हैं. कोई ब्रेडमैन को क्रिकेट का सर्वोच्च खिलाड़ी मानता है, तो कोई क्रिकेट के भगवान सचिन को क्रिकेट का सबसे बड़ा खिलाड़ी मानता है, और आजकल तो लोग डिविलियर्स को भी सबसे अच्छा खिलाड़ी मानते हैं. ये तीनों खिलाड़ी आज की डेट में लोगों के लिए चर्चा का विषय बने हुए हैं. दुनिया के हर क्रिकेट प्रेमी का अपना अलग नजरिया है. सबसे खास बात ये है, कि इन तीनों क्रिकेटरों का क्रिकेट खेलने का युग अलग-अलग रहा है.

    हम यहाँ आपको इन तीनों के खिलाड़ियों की खासियत के बारे में अलग-अलग बताना चाहेंगे:

    1. डॉन ब्रेडमैन

    don

     

    दुसरे विश्वयुद्ध की समाप्ति के बाद डॉन ब्रेडमैन ने क्रिकेट खेलना शुरू किया था. उस दौरान टेस्ट क्रिकेट खेलने वाले सिर्फ 3 देश थे. साथ ही टेस्ट क्रिकेट ही होता था. पूरी दुनिया की आर्थिक स्थिति बहुत ही ख़राब थी. साथ ही ऑस्ट्रेलिया की जनसँख्या 6 लाख थी, क्रिकेट उस वक्त आज के जितना ग्लैमरस नहीं था. उस वक्त विश्वकप जैसे टूर्नामेंट का कोई कांसेप्ट आया ही नहीं था, और उससे पहले ब्रेडमैन ने सन्यास भी ले लिया था. उस वक्त क्रिकेट में हेलमेट और तकनीकी का इतना स्थान नहीं था. ऐसे में डॉन उस जमाने के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर थे.

    2.सचिन तेंदुलकर

    sachin

    सचिन ने जब क्रिकेट में पदार्पण किया था. तब भारत लिबरलाइजेशन के दौर से गुजर रहा था. साथ ही चार विश्वकप प्रतियोगिताएं हो चुकी थीं. टीमों ने रंगीन कपड़ों के साथ दिन-रात्रि में क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था. क्रिकेट मैचों का लाइव प्रसारण टीवी पर आने लगा था. साथ ही भारत की जनसंख्या एक अरब के करीब पहुँचने वाली थी. सचिन ने अपने बीस साल के क्रिकेट करियर में 6 विश्वकप टूर्नामेंट और 200 से अधिक टेस्ट और 400 से अधिक वनडे अंतर्राष्ट्रीय मैच खेले. उन्होंने सबसे ज्यादा शतक और सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड अपने नाम रखा. साथ उनके नाम बहुत सारे रिकॉर्ड और हैं. जिसे पाना दुनिया के अन्य बल्लेबाजों के लिए बेहद ही कठिन काम है.

    3.एबी डिविलियर्स

    ab

    डिविलियर्स इस वक्त के सबसे नायाब क्रिकेटर हैं. वह क्रिकेट में सभी भूमिका निभा सकते हैं. बल्लेबाज़ी, विकेटकीपिंग, गेंदबाज़ी और बेहतरीन फील्डिंग में उनका कोई सानी नहीं है. ऐसे में इस वक्त विश्व क्रिकेट में डिविलियर्स सरीखा कोई दूसरा खिलाड़ी नहीं है. लेकिन डिविलियर्स के युग में वसीम अकरम, शोएब अख्तर, हेनरी ओलंगा और एलन डोनाल्ड जैसे गेंदबाज़ नहीं हैं. साथ आईसीसी के नए नियमों से क्रिकेट अब कहीं ज्यादा बल्लेबाजों के फेवर का हो गया है. टी-20 क्रिकेट के आ जाने से क्रिकेटर को अपने विकेट की कीमत से नहीं रन बनाने से सिर्फ मतलब होता है. साथ सीमारेखा को भी छोटा कर दिया गया है.

     

    ये तो रही इन खिलाड़ियों के बारे में मोटी-मोटी बातें जो हर कोई जानता है. ये तीन खिलाड़ी भिन्न-भिन्न युग के सबसे बेहतरीन क्रिकेटर रहे हैं. ऐसे में इनमे किसी एक को क्रिकेट का बॉस कहना बेहद कठिन काम है.   

    sw
    Click to comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    Top