हाल ही में कप्तान “विराट कोहली” ने बांग्लादेश के खिलाफ एक ऑफ टेस्ट के लिए चेतेश्वर पुजारा की बजाये “रोहित शर्मा” को चुना था. पुजारा का 2014 में 24 .15 की औसत के साथ ख़राब प्रदर्शन रहा और उसका सबसे बेहतर स्कोर 73 रहा. लेकिन फिर अब यह उम्मीद थी कि वह नंबर 3 पर वापसी कर सकता है लेकिन कोहली ने रोहित को चुना.

देखा जाये तो रोहित शर्मा का बांग्लादेश के खिलाफ प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा वह मात्र 6 रन बनाकर ही आउट हो गया. लेकिन फिर भी कुछ कारण है जिससे लगता है कि उसका टीम में होना सही है.

1 .रोहित शर्मा ऐसा खिलाडी है जो खेल के हर फ्रेम में से एक उच्च स्तर निचोड़ लेता है. इस ओ डी आई शुरुवाती बल्लेबाज़ को अच्छी तरह से पता है कि बड़ा स्कोर कैसे बनाना है और उसमे यह क्षमता भी है. उसके पिछले ओ डी आई रिकॉर्ड इसका उदाहरण है. 100 का आंकड़ा पार करने पर भी वह नहीं रुकता और अधिक रन बनाने की मशक्क़त करता है. वह तेज़ी से स्कोर करने की काबिलियत रखता है.

2 .रोहित शर्मा का टेस्ट टीम में होने का दूसरा कारण यह है कि उसमे हर संभव हालात में उत्कृष्टता प्राप्त करने की क्षमता है. अगर वह ओ डी आई शुरुवाती बल्लेबाज़ के तौर पर ऑस्ट्रेलिया में दोहरा शतक लगा सकता है तो टेस्ट मैचों में भी बढ़िया प्रदर्शन कर सकता है. उसे सिर्फ धैर्य रखने की ज़रूरत है. 28 वर्षीय इस खिलाडी को ऑफ स्टंप के बाहर की गेंदों को छोड़ देना चाहिए ,अगर वह ऐसा कर लेता है तो निश्चित रूप से एक बड़ा स्कोर बना सकता है.

3 .वहीँ इससे पहले भी वह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में नंबर 3 पर बल्लेबाज़ी कर चुका है.उस दौरान रोहित ने दो पारियोंं में 53 और 39 रन बनाये थे. वहीँ न्यूज़ीलैंड में भी रोहित ने 72 रन बनाये थे . दक्षिण अफ्रीका ,न्यूज़ीलैंड ,इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान रोहित की औसत 23 .75 रही. वहीँ पुजारा की भी देश से बाहर 29 .4 की औसत रही. यह सच है कि पुजारा ने दक्षिण अफ्रीका में 150 रन बनाये थे लेकिन दूसरे दौरे में , पहले दौरे के दौरान पुजारा को भी संघर्ष करना पड़ा था.

4 . हम रोहित के केवल कुछ ही विदेशी दौरों के आधार पर उसकी क्षमता व् प्रतिभा का मूल्यांकन नहीं कर सकते. भारतीय दिग्गज बल्लेबाज़ वी वी एस लक्ष्मण की भी विदेशी धरती पर 12 टेस्ट मैचों के बाद औसत 28 .33 थी वंही रोहित की 9 टेस्टो के बाद औसत 23 .75 है.

5 .तेज़तर्रार बल्लेबाज़ रोहित शर्मा निश्चित रूप से टेस्ट क्रिकेट में बड़ा स्कोर करने की प्रतिभा व् कौशल रखता है और ये नतीजा देखने के लिए प्रबंधक को थोड़ा धैर्य रखना होगा और रोहित को कई टेस्ट मैच खेलने के अवसर देने चाहिए.
 

  • SHARE
    sportzwiki हिंदी सभी प्रकार के स्पोर्ट्स की सभी खबरे सबसे पहले पाठकों तक पहुँचाने के लिए प्रतिबद्ध है. हमारी कोशिस यही रहती है, कि हम लोगो को सभी प्रकार की खबरे सबसे पहले प्रदान करे.

    Related Articles

    स्पोर्ट्स राउंड अप: एक नजर में पढ़े शनिवार {23 सितम्बर} से जुड़ी हर एक...

    खेल के मैदान से जुड़ी हर एक बड़ी खबर आपने मिस कर दी हैं, तो चिंता मत कीजिये. इस लेख के माध्यम से हम...

    NO MERCY 2017 PREDICTION: नो मर्सी शुरू होने से पहले सभी मैचो के परिणाम...

    WWE का अगला इवेंट नो मर्सी भारत में 25 सितम्बर की सुबह टेलीकास्ट होगा पर आज हम आपको इस इवेंट में होने वाले मैचो...

    ऑस्ट्रेलिया तेज गेंदबाज नाथन कोल्टर नाइल की तुलना नील नितिन मुकेश से कर बैठे...

    भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पांच एकदिवसीय मैचों की श्रृंखला का रोमांच देखते ही बन रहा हैं. टीम इंडिया लगातार दो मुकाबले जीतकर पेटीएम...

    ब्रेकिंग न्यूज: होल्कर के पिच क्यूरेटर ने कोलकाता वनडे के हीरो कुलदीप-चहल को दिया...

    कलकत्ता के ईडन गार्डन में खेले गए दूसरे वनडे मैच के दौरा मेहमान आॅस्ट्रेलिया टीम के खिलाफ शानदार गेंदबाजी करने वाले भारतीय स्पिनर युजवेन्द्र...

    पार्थिव पटेल ने बताई दिल की बात, कहा एक समय अपने ऊपर ही करने...

    पार्थिव पटेल भारतीय क्रिकेट के लिए कोई नया चेहरा नही हैं. उन्होंने अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट में तब पर्दार्पण किया जब उनके जैसे किशोर साइकिल चलाना...