भारत में पहली बार प्रथम श्रेणी क्रिकेट में गुलाबी गेंद से डे नाइट टेस्ट मैच खेला गया. ये मैच दुलीप ट्रॉफी में इंडिया रेड और इंडिया ग्रीन के बीच खेला गया. इंडिया रेड के कप्तान युवराज सिंह और इंडिया ग्रीन के कप्तान सुरेश रैना ने गुलाबी गेंद के प्रयोग को सफल कहा हैं, और कहा, कि अगर हम लगातार गुलाबी गेंद से खेलते रहे, तो सभी कों  इसकी आदत हो जायेगी.

यह भी पढ़े: डेल स्टेन के साथ पाकिस्तानी गेंदबाज ने उड़ा डाला ऑस्ट्रेलिया के कप्तान का मजाक

युवराज सिंह की कप्तानी वाली इंडिया रेड ने दुलीप ट्रॉफी के पहले मैच में इंडिया ग्रीन को हराया. इस जीत के बाद युवराज सिंह ने कहा, “गुलाबी गेंद पुरानी नहीं होती, और इससे खेलने में एक अलग ही मजा हैं.”

युवराज सिंह ने कहा, “SG गेंद से ज्यादा स्विंग गुलाबी गेंद करती हैं, लेकिन गुलाबी गेंद बल्ले पर काफी अच्छे से आती हैं. गुलाबी गेंद पुरानी नहीं होती य सबसे अहम बात हैं.”

इंडिया ग्रीन के कप्तान सुरेश रैना ने कहा, कि “गुलाबी गेंद से डे नाइट टेस्ट खेलने में बड़ा ही मजा आया. गुलाबी गेंद से हम जितना खेलते जाएंगे, उससे हम हल्का महसूस करेंगे.”

यह भी पढ़े: मैच से पहले वेस्टइंडीज के आलराउंडर खिलाड़ियों से डरे भारतीय कप्तान, दिया बड़ा बयान

दुलीप ट्रॉफी के इस मैच पर युवराज सिंह ने कहा, कि “पहले दिन गेंद काफी ज्यादा स्विंग हो रहीं थी, और हमारी टीम 161 रनों पर अॉल आउट हो गयी. लेकिन मुझे ये उम्मीद थी, कि हमारे गेंदबाज भी उनकी टीम को जल्दी आउट करेंगे, और नाथु सिंह ने कमाल की गेंदबाजी करते हुए 6 विकेट लिए, और हमने उनकी पहली पारी को 151 रनों पर अॉल आउट किया.”

युवराज सिंह ने कहा, “दुसरी पारी में अभिनव मुकुंद और सुदीप चैटर्जी ने कमाल की पारियां खेली, और हम उन दोनों के शतक के बदौलत जीत के नजदीक पहुंच गये थे.”

इस मैच में दोनों पारियों में धमाकेदार पारियां खेलने वाले अभिनव मुकुंद मैन अॉफ द मैच बने, और उन्होंने कहा कि, “मैनें इस मैच से पहले मेरे घर पर नाइट में अभ्यास किया था, जिसका लाभ मुझे मिला. पहले दिन पिच पर काफी नमी थी, उस वजह से बल्लेबाजी करना काफी मुश्किल था. लेकिन मैनें अपना सर्वश्रेष्ठ खेल दिखाया.”

यह भी पढ़े: शर्मनाक: बांग्लादेश ने जों धोनी के साथ किया उससे बुरा पाकिस्तान ने विराट कोहली के साथ कर डाला

अभिनव मुकुंद ने कहा कि, “मुझे अब पुरी उम्मीद हैं, कि मैं इस पुरे सीजन ऐसा ही खेलता रहूं, और भारतीय टीम में अपनी जगह बनाने में सफलता हासिल करू.”

अभिनव मुकुंद भारत के लिए 2011 में कुछ टेस्ट मैच खेल चुके हैं, जब इंग्लैंड और वेस्टइंडीज दौरे पर अभिनव मुकुंद गये थे. लेकिन उसके बाद से उन्हें कभी भी मौका नहीं मिला, और अब फिर से वे अपनी जगह बनाना चाहते हैं.

यह भी पढ़े: रमीज़ राजा ने की आल-टाइम XI की घोषणा, 3 भारतीयों की मिली जगह, अकरम टीम से बाहर

  • SHARE

    I am sagar an ardent fan of cricket. I want to become a cricket writer, i always suport virat kohli and ms dhoni in every international match, but not in ipl in ipl i always chear for mumbai indian and rohit sharma.

    Related Articles

    आई-लीग : चेन्नई सिटी, गोकुलम एफसी ने बदले घरेलू स्थल

    नई दिल्ली,22नवंबर; आई-लीग क्लब चेन्नई सिटी और गोकुलम एफसी ने 25 नवंबर से शुरू हो रहे नए सीजन के लिए अपने घरेलू स्थल बदल दिए...

    आईएसएल-4 : दिल्ली के सामने, पुणे की रिकार्ड सुधारने की कोशिश

    पुणे, 22 नवंबर; हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के इतिहास में दिल्ली डायनामोज के सामने सिर्फ एक बार जीत दर्ज करने वाली एफसी पुणे सिटी...

    PHOTOS: हाल ही में स्मैकडाउन की डीवाओं को पीटने वाली ये हैं एनजो अमोरे...

    इस बार की स्मैकडाउन में तीन डीवाओं ने डेब्यू किया जिसमे एक नाम है लिव मॉर्गन का, वे एनजो अमोरे की गर्लफ्रेंड हैं. यहाँ...

    WWE NEWS: रोमन रेन्स के इंटरकांटिनेंटल चैंपियन बनने की वजह का हुआ खुलासा जिसे...

    इस हफ्ते हुई रॉ के मेन इवेंट मैच में रोमन रेन्स ने मिज़ को हारकर इंटरकांटिनेंटल चैंपियनशिप जीत ली और जीतते ही उन्होंने अपना...

    फीफा ने 3 अधिकारियों पर लगाया अजीवन प्रतिबंध

    ज्यूरिख, 22 नवंबर; तीन फुटबाल अधिकारियों को विश्व फुटबाल की नियामक संस्था फीफा ने अजीवन काल के लिए प्रतिबंधित कर दिया है। इस बात की...