सहवाग के बाद अब जहीर कों एमसीसी ने दी आजीवन सदस्यता - Sportzwiki
क्रिकेट

सहवाग के बाद अब जहीर कों एमसीसी ने दी आजीवन सदस्यता

  • भारत के महान तेज गेंदबाज़ ज़हीर खान एमसीसी के आजीवन सदस्य बन गए हैं, ज़हीर इस सूची में शामिल होने वाले 5वे भारतीय खिलाड़ी बन गए. ज़हीर से पहले सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, सौरव गांगुली और वीरेंद्र सहवाग यह सम्मान हासिल कर चुके हैं. हाल में भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज़ और ज़हीर के साथी खिलाड़ी वीरेंद्र सहवाग अगस्त में इस सुची में शामिल हुए थे.

    यह भी पढ़े: जहीर खान के संन्यास के बाद अगला जहीर कौन????????

    ज़हीर खान के शानदार गेंदबाजी की मदद से वर्ष 2011 में भारत विश्वकप जीता, जबकि वर्ष 2009 में पहली बार टेस्ट रैंकिंग में पहले पायदान पर पहुची थी. ज़हीर खान ने भारत के लिए 15 वर्षो तक अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेला.

    ज़हर खान ने भारत के लिए 92 टेस्ट मैचो में 32.94 की औसत से 311 विकेट हासिल किये.

    37 वर्ष के बाएं हाथ के गेंदबाज़ मुख्यरूप से एकदिवसीय क्रिकेट में ज्यादा सफल रहे, वर्ष 2000 में एकदिवसीय क्रिकेट में पदार्पण करने वाले ज़हीर खान ने 200 एकदिवसीय मैचो में 29.34 की गेंदबाजी औसत से 282 विकेट हासिल किये.

    यह भी पढ़े: पियर्स मोर्गन ने लगाया सहवाग से 10 लाख का शर्त, लेकिन सहवाग के जबाब के बाद डिलीट कर दी ट्वीट

    ज़हीर खान ने इंग्लैंड के ऐतिहासिक मैदान लॉर्ड्स पर 3 टेस्ट मैच खेले लेकिन लॉर्ड्स के ऑनर बोर्ड में जगह बनाने से चुक गए, ज़हीर ने वर्ष 2007 में भारत और इंग्लैंड के बीच खेले गए ड्रा टेस्ट में 79 रन देकर 4 विकेट हासिल किये थे.

    ज़हीर खान ने लॉर्ड्स के मैदान पर 3 एकदिवसीय मैच भी खेले, जिसमे वर्ष 2002 के नेटवेस्ट सीरीज का ऐतिहासिक फाइनल भी शामिल है,  नेटवेस्ट सीरीज के फाइनल में ज़हीर ने 62 रन देकर 3 विकेट हासिल किये थे.

    यह भी पढ़े: अब राहुल के पक्ष में उतरा भारतीय टीम का दिग्गज खिलाड़ी

    एमसीसी क्रिकेट के प्रमुख जॉन स्टेफेनसन ने कहा “ज़हीर भारत के शानदार क्रिकेटर रहे हैं, और कई वर्षो तक भारत की सफल टीम के अभिन्न अंग भी रहे हैं”.

    “यही कारण है कि क्लब उन्हें आजीवन सदस्यता अवार्ड देकर खुश हैं”.

    “वह हमेशा शानदार रहे है,  वह लॉर्ड्स में खेले हैं और वह उन्हें यहाँ एमसीसी सदस्य के रूप में देखर बेहद खुश होंगे”.

    sw

    Most Popular

    Top