नई दिल्ली, 14 नवंबर; मार्को मातेराजी के मार्गदर्शन में 2015 में हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) का खिताब अपने नाम करने चुकी पूर्व विजेता चेन्नयन एफसी चौथे सीजन में नए कोच के साथ मैदान पर उतरेगी। मातेराजी के मार्गदर्शन वाली चेन्नयन एफसी काफी आक्रामक रही है और किसी भी कीमत पर हार न मानने के लिए जानी जाती रही है। तीन सीजन बाद अब जब मातेराजी क्लब से अलग हो गए हैं और चेन्नयन के साथ एस्टन विला के पूर्व कोच जॉन ग्रीगोरी आ गए हैं। नए कोच का मानना है कि उन पर 2015 में मातरेजी के मार्गदर्शन में मिली खिताबी जीत को दोहराने का दबाव रहेगा।

ग्रीगोरी ने कहा, “मार्को चेन्नई में लीजेंड के तौर पर जाने जाते हैं और उन्होंने क्लब को निरंतरता प्रदान की है। पहले तीन साल में उन्होंने जैसा काम किया था, मैं उसी काम को जारी रखना चाहूंगा। पेशेवर खेल में हमेशा दबाव होता है और एक पेशेवर होने के नाते सफलता के लिए आपको उस दबाव की जरूरत होती है।”

ग्रीगोरी ने अपने कोचिंग करियर की शुरुआत पोर्ट्समाउथ के साथ की थी और पोर्ट्समाउथ आर्गइल तथा व्याकोम्बे वंडर्स में भी काम किया था। इसके बाद वह इंग्लिश प्रीमियर लीग क्लब एस्टन विला में कोच के तौर पर गए थे।

यह देखना दिलचस्प होगा की वह इस टीम को कैसे निखारते हैं? थाईलैंड में प्री-सीजन कैम्प में टीम सही लय में नजर आ रही थी और वह स्वदेश थाई प्रीमियर लीग बैंकॉक यूनाइटेड एफसी पर 3-0 से जीत दर्ज करते हुए लौटी थी।

कोच ने कहा, “थाईलैंड में हमने तीन सप्ताह तक प्री-सीजन कैम्प किया था और तीन मैच खेले थे। हम टीम को सर्वश्रेष्ठ तैयारी का मौका देना चाहते हैं। मैं इस तरह के खिलाड़ियों के नजरिए से काफी प्रभावित हूं। हम कड़ी मेहनत कर रहे हैं और 19 नवंबर को होने वाले मैच से लिए पूरी तरह से तैयार हैं।”

19 नवंबर को चेन्नयन एफसी का सामना लीग के अपने पहले मैच में एफसी गोवा से होगा। इसी टीम को हराकर उसने 2015 में लीग का खिताब जीता था। कोलंबिया के स्ट्राइकर स्टीवन मेंडोजा उस मैच के स्टार थे और पिछले साल चेन्नयन एफसी को उनकी कमी खली थी। वह सातवें स्थान पर रही थी, लेकिन इस बार उन्होंने पुराने प्रदर्शन को दोहराने की तैयारी कर ली है।”

पिछले सीजनों की तरह टीम में कोई स्टार खिलाड़ी नहीं है। कोच ने कहा, “जो बात सबसे ज्यादा मायने रखती है, वो टीम का एकजुट होकर प्रदर्शन करना। क्लब की छवि स्टार खिलाड़ी निकलाने की है। मैं इस बात को लेकर आश्वस्त हूं कि चौथे सीजन के बाद एक-दो खिलाड़ी ऐसे होंगे जो आईएसएल के बड़े स्टार होंगे।”

एक खिलाड़ी जो अभी से सुर्खियों में हैं, वो हैं हेनिरक सोरेनो। सोरनो एक कप्तान बनने की प्रक्रिया में हैं। एटीके और पुर्तगाल इंटरनेशनल के इस खिलाड़ी का चेन्नयन एफसी में बड़ा रोल होगा। वहीं ब्राजील के राफेल अगस्तो और स्पेनिश डिफेंडर इनइगो काल्डेरोन दो ऐसे विदेशी खिलाड़ी हैं जिन पर सभी की निगाहें होंगी।

वहीं भारतीय खिलाड़ियों में जेजे लालपेखलुआ क्लब के बड़े खिलाड़ी हैं। क्लब ने गोलकीपर करणजीत सिंह, जैरी लालरिनजुआला और युवा अनिरुद्ध थापा को भी रिटेन किया है। थोई सिंह, धनपाल गणेश और धनचरण सिंह की वापसी से ग्रीगोरी की टीम मजबूत होगी।

ग्रीगोरी ने कहा, “हर कोच का अपना स्टाइल है। मैंने मीडिया और क्लब के प्रशंसकों पर मेरे बारे में निर्णय लेने का फैसला छोड़ दिया है, लेकिन मार्को और बाकी के अन्य कोचों की तरह मैं हराने से नफरत और जीतने से प्यार करता हूं।”

Related Articles

ये है वो कारण जिसकी वजह से विराट कोहली ने सुरेश रैना से साउथ...

भारत और साउथ अफ्रीका के बीच जोहनसबर्ग में खेले गये पहले टी20 मैच में उस समय सभी हैरान रह गये जब भारतीय टीम के...

STATS: साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहले टी-20 मैच में ही हुई रिकॉर्ड की बारिश,...

भारत और साउथ अफ्रीका के बीच आज टी-20 सीरीज का पहला मैच खेला गया. जहाँ आज एक बार फिर से साउथ अफ्रीका को हार...

जाने भुवनेश्वर कुमार द्वारा फेंकी जाने वाली नकल बॉल क्या होती है और सबसे...

भारतीय टीम को अपनी शानदार गेंदबाजी चलते भुवनेश्वर कुमार ने जीत दिला दी है. भुवनेश्वर कुमार ने पहले टी20 मैच में आज रविवार को...

भारतीय टीम में विराट कोहली की भरपाई करने को तैयार है यह 18 वर्षीय...

भारतीय जूनियर क्रिकेट टीम में आजकर अगर किसी की सबसे ज्यादा चर्चा होती है तो वो हैं शुभमन गिल। पंजाब के शुभमन गिल ने...

साउथ अफ्रीकन कप्तान जेपी डुमिनी ने सीधे तौर पर इन खिलाड़ियों को ठहराया पहले...

भारत और साउथ अफ्रीका के बीच चल रही तीन मैचों की वनडे सीरीज का पहला टी20 मैच आज रविवार को जोहनसबर्ग के वांडर्स स्टेडियम...