नई दिल्ली, 23 नवंबर; पिछले सीजन में सभी को चौंकाते हुए आई-लीग का खिताब अपने नाम करने वाले आईजोल एफसी के नए कोच पाउले मेनसेस ने कहा कि इस बार उनकी टीम विपक्षी टीम के खिलाड़ियों की आंख में आंख डालकर बिना डरे खेलेगी।

आई-लीग के नए सीजन की शुरुआत शनिवार से हो रही है। आईजोल ने पिछले सीजन में खालिद जमील के मार्गदर्शन में खिताब जीता था और पूर्वोत्तर से यह खिताब जीतने वाली पहली टीम बनी थी।

ईस्ट बंगाल, मोहन बागान जैसे दिग्गज क्लबों के रहते हुए उसके लिए खिताब बचाना आसान नहीं होगा, लेकिन कोच का मानना है कि उनकी टीम पर किसी तरह का दबाव नहीं है बल्कि लीग के बाकी बड़े क्लबों पर अच्छा प्रदर्शन करने का दबाव है।

लीग के शुरू होने से पहले आईएएनएस के साथ विशेष बातचीत में पाउलो ने कहा कि उनकी टीम सामने आने वाली हर चुनौती के लिए तैयार है और निडर होकर मैदान में खिताब बचाने उतरेगी।

लीग में दबाव के साथ उतरने के सवाल पर पाउलो ने कहा, “नहीं, दबाव नहीं है। मेरे हिसाब से आइजोल एफसी से बड़े जो क्लब हैं उन पर हमसे ज्यादा दबाव है। आइजोल एफसी ने पिछले सीजन में सभी को हैरान कर दिया था। इस सीजन हमने अपने छह-सात अहम खिलाड़ियों को खो दिया है। हमने दोबारा से टीम बनाई है। हमारी टीम में अब काफी अच्छा मिश्रण है। हमारे पास कुछ अच्छे स्थानीय खिलाड़ी हैं और कुछ अच्छे विदेशी खिलाड़ी।” 

कोच ने भरोसे के साथ कहा, “मैं आश्वस्त हूं कि हर मैच में कड़ा मुकाबला करेंगे। हम क्लब की प्रतिष्ठा बनाए रखने के लिए दूसरे क्लबों की अच्छी टक्कर देंगे और हर मैच में अपना सर्वश्रेष्ठ देते हुए खिताब बचाने की कोशिश करेंगे।”

आइजोल ने पिछले सीजन में जिस कोच के साथ खिताब जीता था वह अब ईस्ट बंगाल में चले गए हैं। एक ऐसा शख्स जो टीम के बार में काफी कुछ जानता हो, उसके खिलाफ अपनी टीम को तैयार करने की चुनौती के बारे में पाउलो ने कहा, “यह सही है कि जिस कोच के साथ आप खेलते हैं और वो आपको खिताब दिलाता है, वो आपको जानता है, ऐसी स्थिति में थोड़ी मुश्किल होती है।” 

उन्होंने कहा, “दूसरे मैच में हमारा सामना उन्हीं की टीम ईस्ट बंगाल से होगा, लेकिन हम अच्छी तरह से तैयारी कर रहे हैं। मुझे अपनी टीम पर भरोसा है। हमारे पास कुछ बेहतरीन प्रतिभा के धनी खिलाड़ी हैं। वो जानते हैं कि उन्हें किस तरह से खेलना है। वो मानसिक तौर पर भी काफी मजबूत हैं।”

कोच ने लीग में खेलने की अपनी रणनीति के बारे में कहा, “तीन सप्ताह पहले, हम चेन्नई गए थे उनकी टीम से दोस्ताना मैच खेलने। मेरी नजरों में चेन्नई की टीम लीग की सबसे खतरनाक टीमों में से एक है। मैंने जो खिलाड़ियों से कहा और जो मैं हर मैच से पहले कहूंगा वो ये है कि चेहरे पर देखो, आंखों में आंखे डाल कर खेलो और पूरे 90 मिनट अपनी जान लगाकर खेलो। हम बिना डर के बड़े लक्ष्य के साथ मैदान पर उतरेंगे।”

कोच ने एकजुटता को अपनी टीम की ताकत बताते हुए कहा, “हम कुछ खिलाड़ियों पर निर्भर नहीं हैं। हम एक टीम के तौरपर एकजुट होकर खेलेंगे।”

  • SHARE

    आईएएनएस एक न्यूज़ मिडिया कम्पनी है, जों दुसरे न्यूज़ मिडिया कों सभी प्रकार की खबरे प्रदान करती है. आईएएनएस खेल, राजनीती और बालीवुड के अलावा अन्य सभी प्रकार की खबरे अपने मिडिया पार्टनर कों प्रदान करता है.

    Related Articles

    INDvSL: तीसरे वनडे के लिए भारतीय टीम घोषित, 1 बदलाव के बाद इन 11...

    भारत और श्रीलंका के बीच खेले जाने वाले तीन वनडे मैचों की सीरीज का निर्णायक मुकाबला रविवार,यानि 17 दिसंबर को विशाखापट्टनम के क्रिकेट स्टेडियम खेला...

    FACT: WWE दिग्गज रेस्लरो का कर रही है अपमान, जानबूझकर हरा रही है हर...

    WWE हमेशा ही अपने दिग्गज रेस्लरो को सम्मान देने के लिए जानी जाती है लेकिन मौजूदा समय में WWE कई ऐसे गलत काम कर...

    चार दिवसीय टेस्ट मैच में दिखेगा कई अनोखे नियम, 26 दिसंबर को होगा साउथ...

    जिम्बाब्वे और साउथ अफ्रीका के बीच खेले जाने वाले चार दिवसीय टेस्ट मैच में क्रिकेट प्रशंसकों को नए नियम देखने को मिल सकते हैं। अभी...

    बड़ी खबर : चयनकर्ताओं ने 20 दिसंबर से शुरू होने वाली भारत-श्रीलंका टी20 सीरीज...

    भारतीय टीम और श्रीलंकाई टीम के बीच वनडे सीरीज के बाद 20 दिसंबर से तीन मैचों की टी20 सीरीज खेली जायेगी. जिसके लिए भारतीय...

    आज भी लोगो के सिर चढ़कर बोल रहा है सहवाग का जादू मैदान पर...

    भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेन्द्र सहवाग ने अपने करियर के दौरान दर्शकों का जमकर मनोरंजन किया है। वीरेन्द्र सहवाग की बल्लेबाजी...