नई दिल्ली, 11 जुलाई (आईएएनएस)| पेशेवर मुक्केबाजी में धाक जमा चुके भारत के ओलम्पिक पदक विजेता मुक्केबाज विजेंदर सिंह ने सोमवार को कहा कि चाहे वह मुक्केबाजी हो या मनोरंजन वह मिलने वाले हर अवसर के लिए पूरी तरह तैयार हैं।

पेशेवर मुक्केबाजी में कदम रखने के बाद अपने सारे प्रतिद्वंद्वियों को नॉक आउट कर चुके विजेंदर अब अपने घरेलू दर्शकों के सामने 16 जुलाई को आस्ट्रेलियाई मुक्केबाज कैरी होप के खिलाफ विश्व मुक्केबाजी संगठन (डब्ल्यूबीओ) एशिया पैसिफिक सुपर मिडिलवेट चैम्पियनशिप का खिताबी मुकाबला खेलेंगे।

टेलीविजन पर अपनी अभिनय प्रतिभा दिखा चुके विजेंदर ने आईएएनएस को दिए साक्षात्कार में कहा, “मुझे टेलीविजन पसंद है। जहां मुझे अवसर मिलता है, वह मैं कर लेता हूं। फिर चाहे वह कुछ भी हो।”

विजेंदर मनोरंजन जगत में भी सक्रिय रहे हैं। उन्हें पिछली बार 2014 में आई फिल्म ‘फगली’ में देखा गया था। इसके अलावा वह टेलीविजन शो ‘रोडीज’ और ‘एमटीवी रियलिटी’ में भी निर्णायक की भूमिका निभा चुके हैं।

एशियन खेलों-2006 में कांस्य पदक विजेता रहे विजेंदर ने हालांकि होप से होने वाले मुकाबले के बारे में कोई सीधा जवाब नहीं दिया और कहा, “मुकाबला काफी रोमांचक होगा। आप आईए और देखिए। आपको काफी आनंद आएगा।”

पूर्व यूरोपियन मिडिलवेट चैम्पियन होप के पास 30 मुकाबलों का अनुभव है और उन्होंने इनमें से 23 मुकाबलों में जीत हासिल की है। होप के पास विजेंदर से कहीं ज्यादा 183 राउंड का अनुभव है।

होप जैसे अनुभवी प्रतिद्वंद्वी से होने वाले मुकाबले की तैयारी के बारे में विजेंदर ने कहा, “तैयारी काफी अच्छी है। यह मुकाबला 10 राउंड का है, तो इसके लिए मैंने काफी प्रशिक्षण लिया है। मैं तैयार हूं।”

बीजिंग ओलम्पिक-2008 में कांस्य पदक जीतने वाले विजेंदर से जब पूछा गया कि एक प्रतिद्वंद्वी के रूप में वह होप के बारे में क्या सोचते हैं? उन्होंने कहा, “अभी मैं कुछ नहीं कह सकता। जब मुकाबला होगा तब देखेंगे।”

होप से होना वाला मुकाबला कितना मुश्किल होगा? इस बारे में विजेंदर ने कहा, “देखते हैं। यह समय और स्थिति पर निर्भर है। मुझे, तो नहीं लगता।”

अंतर्राष्ट्रीय मुक्केबाजी महासंघ (एआईबीएफ) द्वारा पेशेवर मुक्केबाजों को ओलम्पिक खेलों में हिस्सा लेने की अनुमति दिए जाने पर हरियाणा के निवासी 30 वर्षीय विजेंदर ने कहा, “यह काफी अच्छा कदम है। मेरे साथ जो विवाद हुआ कि सरकारी कर्मचारी होने के नाते मुझे पेशेवर मुक्केबाज के रूप में अंतर्राष्ट्रीय मुकाबलों में हिस्सा लेने की अनुमति नहीं मिल रही थी, ऐसी स्थिति का सामना अन्य पेशेवर मुक्केबाजों को नहीं करना होगा।”

  • SHARE
    आईएएनएस एक न्यूज़ मिडिया कम्पनी है, जों दुसरे न्यूज़ मिडिया कों सभी प्रकार की खबरे प्रदान करती है. आईएएनएस खेल, राजनीती और बालीवुड के अलावा अन्य सभी प्रकार की खबरे अपने मिडिया पार्टनर कों प्रदान करता है.

    Related Articles

    ग्रीम स्मिथ ने कहा मार्करम के जगह अगर इन्हें मिली होती कप्तानी तो शायद...

    भारत और साउत अफ्रीका के बीच तीन टी20 मैचों की सीरीज का दूसरा अर्न्तराष्ट्रीय मुकाबला कल,यानि 21 फरवरी को सेचुंरियन के क्रिकेट स्टेडियम में...

    आईपीएल के बाद स्टार इंडिया प्राइवेट लिमिटेड ने बीसीसीआई के साथ इसको लेकर किया...

    इंडियन प्रीमियर लीग की शुरूआत होने को है। इस हाई वॉल्टेज टी-20 क्रिकेट लीग के शुरू होने को लेकर क्रिकेट फैंस अब तो बेसब्री...

    पाॅल एडम्स ने बताया वो कारण जिसकी वजह से हर एक वनडे और टी-20...

    भारतीय टीम के स्पिनरों की पूरे क्रिकेट जगत में तूती बोलती है। मौजूदा समय में साउथ अफ्रीका के खिलाफ भारतीय स्पिनर कुलदीप यादव और...

    आर्थिक संकट झेल रही इस टीम को किसी देश की मेजबानी करने के लिए...

    जिम्बाब्वे और अफगानिस्तान के बीच 5 वनडे मैचों की सीरीज का आखिरी मुकाबला जो कि अफगानिस्तान ने जिम्बाब्वे को 146 रनों के बड़े अंतर...
    International cricketers who make poor record of most runout

    ये है क्रिकेट इतिहास के सबसे सुस्त खिलाड़ी, जो क्रिकेट मैदान पर हुए सबसे...

    क्रिकेट एक ऐसा खेल है जिसको हर कोई देखना पसंद करता है और इस खेल में शानदार बल्लेब्जी के साथ ही विकेट के बीच...