उत्तर प्रदेश के वाराणसी की रहने वाली स्वाती सिंह अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर वेटलिफ्टिंग में भारत का प्रतिनिधित्व करती हैं. उनका जन्म 2 अक्टूबर 1987 में हुआ था. उन्होंने साल 2014 में ग्लासगो में हुए कॉमनवेल्थ खेलों में ब्रांज मेडल जीता था. वास्तव में वह चौथे नंबर आयीं थी. लेकिन नाइजिरिया की स्वर्ण पदक जीतने वाली चिका अमलाहा डोप टेस्ट में असफल हो गयीं थी. इसलिए उन्हें ब्रांज मेडल मिला था. हालांकि उन्होंने साल 2010 में भारत में हुए कॉमनवेल्थ खेलों में भी भाग लिया था. लेकिन इवेंट के दौरान ही उन्हें चोट लग गयी थी. जिसकी वजह से उनकी पदक की आशा खत्म हो गयी थी. पेश है उनसे की गयी एक विशेष बातचीत:

1
2
3
4
5
6
  • SHARE

    Related Articles

    ब्रोक लेसनर रिंग में तो रेस्लरो की धज्जियाँ उड़ा देते हैं पर माइक स्किल्स...

    ब्रोक लेसनर WWE के मौजुदा समय के सबसे बड़े सुपरस्टार हैं और किसी भी रेस्लर के मुकाबले वे कंपनी को सबसे ज्यादा कमाकर देते...

    कल मैदान पर उतरते ही पुजारा के नाम दर्ज ये अनोखा रिकॉर्ड, सचिन और...

    टेस्ट में बेस्ट माने जाने वाले नई दीवार के नाम से प्रसिद्द चेतेश्वर पुजारा इस समय शानदार फॉर्म में हैं. अब उनके नाम एक...

    घरेलू क्रिकेट में 413 रनों की मैराथन पारी खेलने वाला यह युवा खिलाड़ी भारतीय टीम...

    भारतीय टीम और श्रीलंकाई टीम के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला टेस्ट मैच कोलकता के ईडन गार्डन स्टेडियम में खेला जा...

    ये हैं वनडे क्रिकेट में सबसे तेज 25 शतक लगाने वाले दिग्गज बल्लेबाज, दो...

    क्रिकेट जगत में अक्सर रिकाॅर्ड बनते-बिगड़ते रहते हैं। इसमें से कुछ रिकाॅर्ड ऐसे होते हैं, जो बेहद जल्द ही टूट जाते हैं,तो कुछ को...

    आईपीएल-11 के लिए मुंबई इंडियंस ने लिया हैरान करने वाला फैसला, अपने सबसे स्टार...

    आईपीएल के 2018 में होने वाले 11वें सत्र के लिए बीसीसीआई की आईपीएल गवर्निंग काउंसिलिंग ने सभी आईपीएल फ्रेंचाइजी टीमों को अपनी टीम में तीन...