उत्तर प्रदेश के वाराणसी की रहने वाली स्वाती सिंह अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर वेटलिफ्टिंग में भारत का प्रतिनिधित्व करती हैं. उनका जन्म 2 अक्टूबर 1987 में हुआ था. उन्होंने साल 2014 में ग्लासगो में हुए कॉमनवेल्थ खेलों में ब्रांज मेडल जीता था. वास्तव में वह चौथे नंबर आयीं थी. लेकिन नाइजिरिया की स्वर्ण पदक जीतने वाली चिका अमलाहा डोप टेस्ट में असफल हो गयीं थी. इसलिए उन्हें ब्रांज मेडल मिला था. हालांकि उन्होंने साल 2010 में भारत में हुए कॉमनवेल्थ खेलों में भी भाग लिया था. लेकिन इवेंट के दौरान ही उन्हें चोट लग गयी थी. जिसकी वजह से उनकी पदक की आशा खत्म हो गयी थी. पेश है उनसे की गयी एक विशेष बातचीत:

1
2
3
4
5
6
  • SHARE

    Related Articles

    बार्सिलोना ने डिफेंडर वर्माएलेन की चोट की पुष्टि की

    मेड्रिड, 24 जनवरी; बार्सिलोना ने अपने डिफेंडर थॉमस वर्माएलेन के चोटिल होने की पुष्टि की है। क्लब ने कहा कि मांसपेशियों में खिंचाव की समस्या...

    आस्ट्रेलियन ओपन : सेमीफाइनल में पहुंचे चुंग

    मेलबर्न, 24 जनवरी; दक्षिण कोरिया के 21 वर्षीय खिलाड़ी हेयोन चुंग ने बुधवार को अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए साल के पहले ग्रैंड स्लैम...

    किसने क्या कहा-रोहित की जगह कप्तान कोहली द्वारा टीम में रहाणे को जगह देने...

    भारत और साउथ अफ्रीका के बीच तीन टेस्ट मैचोॆ की सीरीज का आखिरी मुकाबला आज,यानि 24 जनवरी को जोहान्सबर्ग के न्यू वाॅन्डरर्स क्रिकेट स्टेडियम...

    SAvIND: अगर आज साउथ अफ्रीका में चल गयी भारतीय टीम की बल्लेबाजी तो अफ्रीका...

    यह हर रोज़ कहानी नहीं है कि 17-वर्षीय जुड़वां खिलाड़ियों को भारतीय टीम के नेट सत्र में विशेष ध्यान विशेष रूप से खेलाया जाए।...

    भारतीय टीम के युवा तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज हुए साइबर क्राइम के आरोपी, लड़की...

    भारतीय टीम के उभरते हुए तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज से जुडी एक बहुत बड़ी खबर आ रही है. जो यह है, कि मंगलवार को भारतीय...