भारत ने रियो ओलिम्पिक में अपना अब तक का सबसे बड़ा दल भेजा था, इस मकसद से कि इस बार भारत के पास किसी भी ओलिम्पिक के मुकाबले इस ओलिम्पिक में सबसे ज्यादा पदक आयेंगे. लेकिन भारतीय खिलाड़ी उम्मीदों पर खड़ा नहीं उतर सके और पिछले ओलिम्पिक में मिले पदक की बराबरी भी नहीं कर सके.

यह भी पढ़े: वेस्टइंडीज से भारत के लिए आई बुरी खबर

आइये नज़र डालते है पांच कारणों पर जिनकी वजह से भारत के लिए निराशाजनक रहा रियो का सफ़र

1.बीसीसीआई की तरह खेल बोर्ड पर नहीं होना चाहिए सरकार का कोई अधिपत्य

bcciभारत में क्रिकेट की देखरेख के लिए, जो बोर्ड है उस पर किसी भी तरह से सरकार का कोई लेना देना नहीं है. बीसीसीआई एक अलग संसथान है जिसमे सरकार का किसी भी प्रकार से कोई रोल नहीं है. और हम सभी जानते है कि क्रिकेट में और बाकी खेलों में भारत में कितना अंतर है. क्रिकेट के लिए सभी अंतर्राष्ट्रीय स्तर की सुविधाएँ उपलब्ध है जबकि बाकी खेलों की बात किया जाये, तो वहाँ हमारे खिलाड़ियों के पास कुछ खास सुविधाएँ नहीं होती और वो बाकी देशों के खिलाड़ियों के मुकाबले हमेशा तैयारी में कम रह जाते है.

यह भी पढ़े : बेटी बचाओं के नारे से खतरे में भारत की बेटियों का भविष्य!

1
2
3
4
5
  • SHARE
    सभी खेलों में दिलचस्पी है लेकिन सबसे पसंदीदा खेल क्रिकेट, पसंदीदा खिलाड़ी विराट कोहली और नोवाक जोकोविच.

    Related Articles

    बेन स्टोक्स पर आरोप तय होने के साथ ही खत्म हुआ करियर, इंग्लैंड क्रिकेट...

    इंग्लैंड के स्टार ऑलराउंड बेन स्टोक्स के खिलाफ काफी लंबे समय से ब्रिस्टल में की गई मारपीट की जाँच चल रही थी, लेकिन इस...

    इन खिलाड़ियों ने किया है भारत के खिलाफ टेस्ट में डेब्यू और पहले ही...

    दक्षिण अफ्रीका और भारत के बीच टेस्ट सीरीज का दूसरा मुकाबला खेला जा चूका है जिसमें अफ्रीका ने अपने गेंदबाजों की शानदार गेंदबाजी के...

    WWE NEWS: इस WWE रेस्लर ने कम्पनी पर लगाया आरोप, कहा सिर्फ मेरी बदौलत...

    WWE का नाम स्पोर्ट्स इंडस्ट्री की सबसे बड़ी कंपनियों में आता है, इसमें नजर आने वाले रेस्लर सालाना करोड़ो रूपए कमाते हैं. इसी कड़ी...

    RECORD: टेस्ट की दोनों पारियों में ये शर्मनाक रिकॉर्ड बनाने वाले पहले भारतीय बने...

    सेंचुरियन, 17 जनवरी; भारतीय टीम के मध्यक्रम के बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में एक ऐसा रिकार्ड...

    पीडब्ल्यूएल : आसान नहीं था पूजा ढांडा के लिए ओलम्पिक विजेता को हराना

    नई दिल्ली, 17 जनवरी; प्रो रेसलिंग लीग (पीडब्ल्यूएल) के तीसरे सीजन में मंगलवार की शाम भारतीय महिला कुश्ती की सबसे सफलतम शामों में से एक...