भारतीय दूतावास के समारोह आयोजन से निराश हुए एथलीट - Sportzwiki
न्यूज़

भारतीय दूतावास के समारोह आयोजन से निराश हुए एथलीट

  • रियो डी जनेरियो, 16 अगस्त (आईएएनएस)| ब्राजील में भारतीय दूतावास और युवा मामले और खेल मंत्रालय द्वारा भारत के स्वतंत्रता दिवस पर एक समारोह का आयोजन किया गया। हालांकि, इस समारोह से एथलीट खासा निराश नजर आए। इसका कारण यह रहा कि एथलीटों को इस समारोह में अपने देश के स्वादिष्ट व्यंजन परोसे जाने की आशा थी लेकिन उनकी इन आशाओं पर पानी फिर गया।

    सभी एथलीट भारतीय खाने के स्वाद को काफी याद कर रहे थे और उन्हें आशा थी कि स्वतंत्रता दिवस पर आयोजित इस समारोह में उन्हें इसका भरपूर आनंद लेने का अवसर मिलेगा। हालांकि, ऐसा कुछ नहीं हुआ।

    यह भी पढ़े: रियो ओलिम्पिक : भारतीय कोच हिरासत में, महिला डॉक्टर से बदसलूकी का आरोप

    इस समारोह में उन्हें चाय, कॉफी और शरबत आदि पेश किया गया और साथ में कुछ बिस्कुट और चॉकलेट दिए गए, जिसके कारण अपने देश के व्यंजनों का स्वाद चखने के लिए बेताब एथलीट निराश हो गए।

    एक एथलीट ने कहा, “क्या उन्होंने हमें ओलम्पिक खेल गांव से इसलिए यहां बुलाया था?”

    एथलीटों को यहां आने और ओलम्पिक खेल गांव वापस जाने में कुल चार घंटे लगे।

    खेल मंत्रालय के सचिव राजीव यादव के नाम पर भारतीय दूतावास ने समारोह का आमंत्रण भेजा था। इस समारोह में भारतीय राजदूत सुनील लाल भी मौजूद थे और कुल 200 लोग आए थे।

    यह भी पढ़े: भारतीय एथिलिट्स की आलोचना करने वाली शोभा डे ने दीपा की तारीफ की

    रियो में लागून के लागोआ इलाके में ओलम्पियंस रूयुनियन सेंटर में इस समारोह का आयोजन हुआ और एथलीट दो बसों में यहां पहुंचे।

    समारोह में मौजूद भारतीय दल के ‘चीफ मेडिकल ऑफिसर’ पवनदीप सिंह कोहली ने कहा, “वह खाने-पीने की कुछ चीजों का इंतजाम कर सकते थे, क्योंकि एथलीटों को काफी भूख लगी थी। उनके स्वागत के लिए कुछ सामान्य तौर पर कुछ अच्छी व्यवस्था की जा सकती थी।”

    यह भी पढ़े: रियो ओलम्पिक : सिंधु क्वार्टर फाइनल में, विकास और सीमा हारे

    इस समारोह में मौजूद लगभग सभी एथलीट इसी बात पर चर्चा कर रहे थे और अपने समूह के प्रमुख को इसकी शिकायत कर रहे थे। सभी एथलीट जल्द ही इस समारोह से चले गए।

    बाद में बस में भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कप्तान पी.आर.श्रीजेश ने कहा कि उन्हें इस समारोह में खाए खाने का इतना आनंद आया कि उन्होंने ओलम्पिक खेल गांव में अपना रात्रिभोज रद्द कर दिया है। इस मजाक से बस में निराश बैठे कुछ अन्य एथलीटों के चेहरे पर हल्की मुस्कान बिखर गई।

    यह भी पढ़े: हार से निराश सानिया का अगले ओलम्पिक में खेलने पर संदेह

    sw
    Top