नई दिल्ली, 29 अगस्त (आईएएनएस)| रियो ओलम्पिक में बेटियों ने भारत की लाज रखी। बैडमिंटन में पीवी सिंधु ने जहां रजत पदक जीता वहीं कुश्ती में साक्षी मलिक ने कांस्य जीता। इसके अलावा जिमनास्टिक में दीपा करमाकर बहुत कम अंतर से पदक से चूकीं। इसी को ध्यान में रखते हुए बॉलीवुड के प्रख्यात गीतकार प्रसून जोशी ने अपनी एक कविता बेटियों को समर्पित की है। अपनी इस कविता, जिसका शीर्षक- ‘शर्म आ रही है ना’ है, के माध्यम से प्रसून ने कन्या भ्रूण हत्या जैसी शर्मनाक घटनाओं को रोकने और बेटियों को समाज में बराबर हक देने की अपील की है और साथ ही बेटियों को लेकर रूढ़ीवादी सोच रखने वाले समाज पर तंज कसा है।

यह भी पढ़े : भारत बनाम वेस्टइंडीज़ दुसरे ट्वेंटी-ट्वेंटी में बने यह रिकार्ड्स, अश्विन और बुमराह ने रचे इतिहास

प्रसून की इस कविता को बॉलीवुड के कई दिग्गजों ने सराहा है। अपनी इस कविता के माध्यम से प्रसून ने उस समाज पर गहरा कुठाराघात किया है, जो बेटियों के जन्म पर खुशी नहीं मनाता और बेटियों को हमेशा बंद दरवाजों में रखने की वकालत करता है।

प्रसून ने इससे आगे बढ़कर उस समाज और फिल्मनगरी को भी आड़े हाथों लिया है, जिसने बेटियों (महिलाओं) को ‘शरीर’ से अधिक कुछ नहीं समझा। उनकी कविता की पंक्ति कहती है-“शर्म आ रही है ना, उन शब्दों को, उन गीतों को, जिन्होंने उसे कभी, शरीर से ज्यादा नहीं समझा।”

यह भी पढ़े : आईसीसी से आई भारतीय टीम के लिए बुरी खबर

अपनी कविता की अगली पंक्तियों में प्रसून राजनीति और धर्म को भी आड़े हाथों लिया, जिसने बेटियों को बार-बार शर्मसार करने का काम किया। साथ ही प्रसून ने हर उस ख्याल को आड़े हाथों लिया, जिसने बेटियों को आगे बढ़ने से रोका है।

उनकी कविता कहती है-“शर्म आनी चाहिए ,ऐसे हर खयाल को , जिसने उसे रोका था , आसमान की तरफ देखने से, शर्म आनी चाहिए , शायद हम सबको , क्योंकि जब मुट्ठी में सूरज लिए, नन्ही सी बिटिया , सामने खड़ी थी, तब हम उसकी उँगलियों से छलकती रोशनी नहीं, उसका लड़की होना देख रहे थे”

यह भी पढ़े : इस भारतीय खिलाड़ी की वजह से खतरे में इन दिग्गज भारतीय खिलाड़ियों का करियर

अंत में प्रसून ने बड़े संजीदा अंदाज में बेटियों की विजय का जश्न मनाया और समाज को ऐसा आइना दिखाया, जिस पर समाज के ठेकेदार पछताने के अलावा कुछ नहीं कर सकते।

प्रसून लिखते हैं-“उसकी मुट्ठी में था आने वाला कल, और सब देख रहे थे मटमैला आज, पर सूरज को तो धूप खिलाना था, बेटी को तो सवेरा लाना था और सुबह हो कर रही।”

  • SHARE
    आईएएनएस एक न्यूज़ मिडिया कम्पनी है, जों दुसरे न्यूज़ मिडिया कों सभी प्रकार की खबरे प्रदान करती है. आईएएनएस खेल, राजनीती और बालीवुड के अलावा अन्य सभी प्रकार की खबरे अपने मिडिया पार्टनर कों प्रदान करता है.

    Related Articles

    WWE SMACKDOWN RESULTS 18 अक्टूबर 2017: ये रहे मैचो के रिजल्ट्स

    इस बार स्मैकडाउन की शुरुआत डेनियल ब्रयान ने की, उन्होंने कुछ बड़े मैचो की अनाउंसमेंट की. अनाउंसमेंट करते हुए सेमी जेन रिंग में आ...

    वार्मअप मैच- बोर्ड प्रेसीडेंट इलेवन ने कीवि टीम के कतरे पर, 30 रनों की...

    न्यूजीलैंड की क्रिकेट टीम के भारत दौरे की शुरूआत हो गई हैं जहां उसे मंगलवार को मुंबई के ऐतिहासिक मैदान ब्रेबॉर्न स्टेडियम में खेले...

    पाकिस्तानी क्रिकेटर का पीसीबी पर गंभीर आरोप, जगह बनाने के लिए करना पड़ता है...

    पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व स्पिनर सकलैन मुश्ताक ने मगंलवार को एक न्यूजपेपर को दिए साक्षात्कार में अपनी टीम को लेकर एक सनसनीखेज खुलासा...

    SMACKDOWN PREDICTION: यहां जानिए स्मैकडाउन में किस मैच में किसका होगा किससे मुकाबला

    यहां पढ़िये कल होने वाली स्मैकडाउन में रेस्लर्स कौन सी स्टोरीलाइन में नजर आयेंगे. 1.बैरन कोर्बिन vs एजे स्टाइल्स  हेल इन द सेल में यूनाइटेड स्टेट्स...

    न्यूजीलैंड की टीम को अभ्यास मैच में ही लगा बड़ा झटका, ये खिलाड़ी चोट...

    भारतीय क्रिकेट टीम के सामनें अब न्यूजीलैंड की चुनौती है। भारतीय टीम की हालिया फॉर्म को देखकर तो आसानी से अंदाजा लगाया जा सकता...