रियो ओलिम्पिक में भारत का प्रदर्शन बेहद निराशाजनक भरा रहा था, टेनिस से पदक की उम्मीद थी लेकिन सानिया मिर्ज़ा और रोहन बोपन्ना की जोड़ी सेमी फाइनल मुकाबले में अमेरिकी जोड़ी से हार गयी थी. सानिया मिर्ज़ा और लीएंडर पेस के रिश्ते कुछ अच्छे नहीं रहे यही एक कारण था कि भारत ने रियो में मिक्स्ड डबल्स मुकाबले में अपनी सबसे बेहतर टीम नहीं भेजी.

यह भी पढ़े : हार से निराश सानिया का अगले ओलम्पिक में खेलने पर संदेह

“मैं यह कह सकता हूं कि हमने इस ओलिम्पिक और पिछले ओलिम्पिक में अपनी सर्वश्रेष्ट टीम नहीं भेजी. इस ओलिम्पिक में हमारे पास मिक्स्ड डबल्स मुकाबले में सुनेहरा मौका था, एक इंसान को इससे ज्यादा और क्या चाहिए कि 14 महीनो में 4 ग्रैंड स्लैम ख़िताब जीत जाये. मेरे पास और टूर्नामेंट नहीं थे जीतने के लिए, मैं खुद से टूर्नामेंट तैयार नहीं कर सकता.”

लीएंडर पेस ने ऐसा कहने के बाद आख़िरी में बोला, कि बड़ी कहानी को छोटे रूप में बताता हूं  अब समय है इन युवा खिलाड़ियों को सीखाने का.

सानिया मिर्ज़ा जोकि रोहन बोपन्ना के साथ रियो ओलिम्पिक में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए गयी थी, उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर लीएंडर पेस पर कटाक्ष करते हुए लिखा, कि

यह भी पढ़े : टेनिस : विंस्टन-सालेम ओपन फाइनल में पेस-बेगेमैन की हार

“किसी ज़हरीले व्यक्ति के साथ जीतने का सबसे अच्छा तरीका है खेलो ही नहीं.”

आश्चर्य की बात यह रही कि रोहन बोपन्ना ने भी सानिया के इस ट्वीट को रीट्वीट किया. सानिया और बोपन्ना को रियो ओलिम्पिक में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए चुना गया था, लेकिन पहले सेमी फाइनल मुकाबले में और उसके बाद कांस्य पदक मैच में हार का सामना करना पड़ा था.

लीएंडर पेस डेविस कप में स्पेन के खिलाफ अपने मैच के बाद मीडिया से बात कर रहे थे और तब उन्होंने कहा कि वह साकेत मयेनी के साथ भविष्य में भी टेनिस खेलना चाहेंगे.

“मैं हमेशा से यह मानता आया हु कि यह कप्तान और चयन समिति का फैसला होता है, लेकिन हम दोनों ने जिस तरह का खेल ओलिम्पिक स्वर्ण पदक विजेता टीम के सामने दिखाया जिसमे एक 14 बार का ग्रैंड स्लैम विजेता है तो दूसरा खिलाड़ी भी हाल ही में एक ग्रैंड स्लैम जीत कर आया है, ऐसी टीम के खिलाफ ऐसा प्रदर्शन दिखने के बाद कुछ भी बदलाव करना बेवकूफी होगी. लेकिन अंत में मैं यहाँ टीम का साथ देने आया हूं.” 

43 वर्षीय पेस ने कहा कि 18 महीने बाद एशियाई खेल आने वाले है और 4 साल बाद ओलिम्पिक, मुझे नहीं पता की तब तक मैं खेलूँगा या नहीं लेकिन हमे अभी से तैयारी शुरू करनी पड़ेगी नहीं तो खिलाड़ी आखिर तक यही लड़ाई चलती रहेगी कि किसे खेलना है और किसे नहीं.

  • SHARE
    सभी खेलों में दिलचस्पी है लेकिन सबसे पसंदीदा खेल क्रिकेट, पसंदीदा खिलाड़ी विराट कोहली और नोवाक जोकोविच.

    Related Articles

    SW WEEKLY UPDATE: एक नजर में पढ़े 18 सितम्बर से लेकर 25 सितम्बर तक...

    अगर आप सभी ने बीते हफ्ते की तमाम और मुख्य खबरे मिस कर दी हैं, तो घबराइए बिलकुल भी मत. इस लेख के माध्यम...

    WWE NEWS: नो मर्सी में रोमन रेन्स से मिली हार की वजह से छीन...

    नो मर्सी में मिली हार से जॉन सीना की रिटायरमेंट की खबरों ने और जोड़ पकड़ लिया पर इस सबके बीच उनके लिए एक...

    बर्थडे स्पेशल : अपने पुरे करियर में नहीं लगाया एक भी छक्का, लेकिन फिर...

    आज 26 सितम्बर मंगलवार का दिन भारतीय क्रिकेट के लिए बेहद खास है, क्योंकि आज भारतीय क्रिकेट के एक बहुत बड़े दिग्गज खिलाड़ी का...

    शाहिद अफरीदी ने एक समारोह के दौरान बनाया खुद का मजाक, कहा कुछ ऐसा...

    पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व क्रिकेटर शाहिद अफरीदी जब मैदान पर बल्लेबाजी करने के लिए आते थे, तो विपक्षी टीम के गेंदबाजों के लिए...

    #BEN STOKES ARREST: इंग्लैंड के स्टार ऑलराउंडर बेन स्टोक्स इस शर्मनाक हरकत की वजह...

    इंग्लैंड के सुपर स्टार ऑलराउंडर खिलाड़ी बेन स्टोक्स हर मैच के साथ इंग्लैंड के लिए महत्वपूर्ण होते जा रहे हैं। बेन स्टोक्स अब इंग्लैंड...