डेनमार्क ओपन 2018: पीवी सिन्धु के सामने कैरोलिना मारिन की कड़ी चुनौती

Trending News

Blog Post

बैडमिंटन

डेनमार्क ओपन 2018: किदाम्बी श्रीकांत ऐसा करने वाले बन सकते हैं पहले भारतीय खिलाड़ी 

डेनमार्क ओपन 2018: किदाम्बी श्रीकांत ऐसा करने वाले बन सकते हैं पहले भारतीय खिलाड़ी

बैडमिंटन सुपर-750 टूर्नामेंट, डेनमार्क ओपन कल से शुरू हो रहा है। किदाम्बी श्रीकांत, साइना नेहवाल और पीवी सिन्धु से भारत को ख़िताबी उम्मीद होंगी। भारतीय शटलरों का इस साल प्रदर्शन बेहद ही ख़राब रहा है।

कोई भारतीय शटलर, 2018 में किसी बड़े टूर्नामेंट पर कब्ज़ा नहीं जमा पाया है। यहाँ उम्मीद होगी की भारतीय खिलाड़ी, 2018 के इस ख़िताबी सूखे का अंत करें। आइये डालते हैं एक नज़र किन खिलाड़ियों से है भारत को ख़िताबी उम्मीद।

किदाम्बी श्रीकांत रच सकते हैं इतिहास

पुरुष एकल वर्ल्ड रैंकिंग के टॉप-10 में मौजूद एकमात्र भारतीय, किदाम्बी श्रीकांत ने बीते वर्ष इस ख़िताब पर कब्ज़ा जमाया था। लेकिन इस साल वो संघर्ष करते दिखाई पड़ रहे हैं।

पूर्व विश्व नंबर-1, जापान ओपन और चीन ओपन जैसे बड़े टूर्नामेंट के क्वार्टर-फाइनल से भी आगे नहीं बढ़ पाए थे। वहीँ वर्ल्ड चैंपियनशिप में तो वो तीसरे राउंड में ही बाहर हो चले थे।

डेनमार्क ओपन 2018: किदाम्बी श्रीकांत ऐसा करने वाले बन सकते हैं पहले भारतीय खिलाड़ी 1

बता दें कि 2017 में किदाम्बी श्रीकांत, इस टूर्नामेंट को जीतने वाले केवल दूसरे भारतीय बने थे। उनसे पहले 1980 में प्रकाश पादुकोण इस ख़िताब को जीतने वाले पहले भारतीय बने थे। अब श्रीकांत के पास मौका होगा कि वो इस ख़िताब को दो बार जीतने वाले पहले भारतीय बन जाएँ।

डेनमार्क ओपन की ख़िताबी दौड़ में शामिल अन्य भारतीय पुरुष खिलाड़ी, समीर वर्मा हैं। जिन्हें पहले ही राउंड में विश्व नंबर-3, चीन के शी युकी से भिड़ना है।

महिला सिंगल्स में साइना नेहवाल और पीवी सिन्धु

इसी साल के अंत में स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी से शादी करने जा रही हैं साइना नेहवाल। विश्व चैंपियनशिप में उन्हें कैरोलिना मारिन के खिलाफ़ केवल आधे घंटे में ही कोर्ट से बाहर होना पड़ा था। वह उनके करियर की सबसे शर्मनाक हार में से एक रही।

वहीँ हाल ही में हुए कोरिया ओपन के क्वार्टर-फाइनल मुक़ाबले में वो जीते हुए मैच को नोज़ोमी ओकुहारा के खिलाफ़, बड़े ही शर्मनाक तरीके से हार गयी थीं।

डेनमार्क ओपन 2018: किदाम्बी श्रीकांत ऐसा करने वाले बन सकते हैं पहले भारतीय खिलाड़ी 2

वहीँ टॉप-सीडेड भारतीय महिला खिलाड़ी, पीवी सिन्धु सेमी-फाइनल तक तो पहुँच जाती हैं। लेकिन यहाँ आकर उनकी रणनीति जवाब दे जाती है। 2018 के राष्ट्रमंडल खेलों में, एशियाई खेलों में और वर्ल्ड चैंपियनशिप में भी उन्हें रजत पदक से संतोष करना पड़ा था।

साफ़ है कि कैरोलिना मारिन और ताइ ज़ू यिंग के खिलाफ़, पीवी सिन्धु इस साल संघर्ष करती नज़र आई हैं। यह उनके लिए उनके ख़ुद के मनोबल को नीचे गिराने जैसी बात प्रतीत होती है। यहाँ उन्हें ख़िताब जीतना है तो बेहतर करना होगा।

Related posts

Leave a Reply