जब इस खिलाड़ी ने दिलाई टेस्ट क्रिकेट वाले महेंद्र सिंह धोनी की याद, मैदान पर किया कुछ ऐसा जिसके बाद सभी दर्शकों ने किया अभिनंदन | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

जब इस खिलाड़ी ने दिलाई टेस्ट क्रिकेट वाले महेंद्र सिंह धोनी की याद, मैदान पर किया कुछ ऐसा जिसके बाद सभी दर्शकों ने किया अभिनंदन 

जब इस खिलाड़ी ने दिलाई टेस्ट क्रिकेट वाले महेंद्र सिंह धोनी की याद, मैदान पर किया कुछ ऐसा जिसके बाद सभी दर्शकों ने किया अभिनंदन

वैसे तो क्रिकेट का दूसरा नाम “जेंटल मेंन” गेम भी है. मगर कुछ समय से क्रिकेट के मैदान में खिलाड़ियों द्वारा सिर्फ आक्रमकता, गुस्सा ,और एक दूसरे को स्लेज करना ही दिखता है. मगर इंग्लैंड में खेले जा रहे काउंटी क्रिकेट में शनिवार को एक मैच के दौरान शानदार मिसाल देखने को मिली जब एस्सेक्स के कप्तान रयान टेन डसकाटे ने मिडिलेक्स के बल्लेबाज जॉन सिम्पसन की रन आउट की अपील वापस ले ली.IPL: क्या आप जानते हैं आईपीएल में किस टीम के नाम दर्ज हैं सबसे ज्यादा जीत और हार का रिकॉर्ड

घटना उस समय की है, जब काउंटी चैम्पियनशिप में एक मैच के दौरान स्टीव एस्किनोजी ने नील वेगनर की गेंद पर एक शॉट खेला और रन लेने दौड़े मगर जब दूसरे छोर में खड़े उनके साथी जॉन सिम्पसन रन लेने दौड़े तो वह गेंदबाज नील वेगनर से टकरा गए और मैदान मै ही गिर पड़े और रन पूरा नहीं कर सके और इसी बीच फिल्डर ने आके स्टंप की गिल्ली गिरा दी.

ये सब होने के बाद सारे फिल्डर पहले तो एक दूसरे को हैरानी से देखने लगे और अंपायर भी एक साथ खड़े होकर बातचीत करने लगे. मगर तब ही कुछ देर बाद एस्सेक्स के कप्तान रयान टेन डसकाटे ने अपनी इस अपील को वापस ले लिया और जॉन सिम्पसन को फिर से बल्लेबाजी करने दी गई. इसे वहा बैठे सभी दर्शक जोर जोर से ताली बजाने लगे.

और इसके बाद जॉन सिम्पसन ने अपनी टीम के लिए बहुत ही बेहतरीन 90 रन की पारी खेली और अपनी टीम को 507 रन का विशाल स्कोर बनाने में मदद की.IPL10: पुणे बनाम हैदराबाद ये रहे मैच के 5 बड़े निर्णायक क्षण

क्रिकेट के मैदान में घटी ये घटना दुनिया भर के क्रिकेटरो के लिए एक प्रेरणा का प्रतिक है और सभी को रयान टेन डसकाटे से ये सीखने की जरुरत है. वैसे रयान टेन डसकाटे आईपीएल में कोलकता नाईट राइडर के लिए भी खेल चुके है. उन्होंने 29 आईपीएल मैचो में 23.29 की औसत से 326 रन बनाए है.

दें, कि ऐसा पहली बार नहीं है, कि क्रिकेट के मैदान पर ऐसा देखने को मिला हो. एक बार टीम इंडिया जब इंग्लैंड के दौरे पर थी, उस समय भी ऐसा ही कुछ सभी को देखने को मिला था.

दरअसल उस समय इयान बेल बल्लेबाज़ी कर रहे थे और उन्हें लगा, कि चाय का समय हो चूका है और वो क्रीज़ छोड़कर चल दिए, तभी बाउंड्री से हरभजन सिंह ने थ्रो किया और उन्हें आउट करार दिया गया. चायकाल के दौरान महेंद्र सिंह, जोकि उस समय टीम इंडिया के टेस्ट कप्तान थे, इंग्लैंड के ड्रेसींग रूम में गए और उन्होंने अपनी अपील वापस ली, जिसके बाद बेल ने भारत के खिलाफ शानदार शतक लगाया था.

Related posts