साउथ अफ्रीका के खिलाड़ी बिना दिमाग लगाए क्रिकेट खेल रहे हैं: ब्रायन मैकमिलन

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

बिना दिमाग लगाए क्रिकेट खेल रहे हैं साउथ अफ्रीकी खिलाड़ी: ब्रायन मैकमिलन 

बिना दिमाग लगाए क्रिकेट खेल रहे हैं साउथ अफ्रीकी खिलाड़ी: ब्रायन मैकमिलन

भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज में साउथ अफ्रीका ने बेहद निराशाजनक प्रदर्शन किया। खेले गए तीनों मैचों में एक वक्त भी ऐसा नहीं आया जब अफ्रीकी टीम का पड़ला भारी रहा हो। पूरी सीरीज के दौरान भारती बल्लेबाजों व गेंदबाजों का बोलबाला रहा। परिणामस्वरूप साउथ अफ्रीका पहली बार भारत के हाथों क्लीन स्वीप हुई। टीम के निराशाजनक प्रदर्शन पर पूर्व दिग्गज क्रिकेटर्स ने बात करते हुए अपनी-अपनी राय रखी।

सीनियर खिलाड़ियों के संन्यास के साथ कोलपैक से भी प्रभावित है टीम

साउथ अफ्रीका

साउथ अफ्रीका के निराशाजन प्रदर्शन के बारे में बात करते हुए साउथ अफ्रीका के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी पीटर कस्टर्न ने सीनियर खिलाड़ियों के साथ-साथ कोलपैक डील के प्रभाव की बात की।

“टाइम्स ऑफ इंडिया ने बताया, “मुझे भारत में साउथ अफ्रीकी टीम का निराशाजनक प्रदर्शन देखकर कुछ खास आश्चर्य नहीं हुआ। हमने विश्व कप में भी खराब प्रदर्शऩ किया। भारत की परिस्थितियों में खेलना काफी मुश्किल होता है।

एबी डिविलियर्स और हाशिम अमला जैसे कुछ बड़े खिलाड़ियों के रिटायरमेंट के कारण हमारी टीम के पास अनुभव कम है। साथ ही कोलपैक डील के कारण हमारी टीम बुरी तरह प्रभावित हुई है।”

साउथ अफ्रीका टीम के पास नहीं है लीडरशिप क्वालिटी

बिना दिमाग लगाए क्रिकेट खेल रहे हैं साउथ अफ्रीकी खिलाड़ी: ब्रायन मैकमिलन 1

साउथ अफ्रीका के दिग्गज ऑलराउंडर ब्रायन मैकमिलन ने टीम के बारे में बात करते हुए कहा, ”हम रॉक बॉटम पर हैं। ऐसा लग रहा है कि हमारी टीम के पास कोई दिशा नहीं है और न कोई लीडरशिप क्वालिटी नहीं है। एक अफवाह यह भी है कि कप्तान को बदला जा सकता है जिसमें नए कप्तान युवा टेम्बा बावुमा हो सकते हैं। हमारे कई क्वालिटी वाले खिलाड़ी इंग्लैंड, अन्य यूरोपीय देशों, न्यूजीलैंड और अट्रैक्टिव टी20 लीग में खेल खेलने के लिए जा चुके हैं।”

निराशाजन प्रदर्शन कर रही अफ्रीकी टीम

भारत और साउथ अफ्रीका के बीच सीरीज में भारतीय गेदंबाजों के सामने अफ्रीकी बल्लेबाजों ने घुटने टेक दिए। वहीं भारतीय बल्लेबाजों ने विपक्षी गेंदबाजों की जमकर पिटाई की। तीनों मैचों में भारत ने जीत दर्ज की। विशाखापट्टनम में खेले गए पहले मैच में 203 रन से, पुणे टेस्ट में एक पारी और 137 रन से और रांची टेस्ट में एक पारी और 202 रन से टीम इंडिया ने जीत दर्ज की।

आपको बता दें, विश्व कप में भी अफ्रीकी टीम का प्रदर्शन निराशाजनक रहा। हालांकि इस बात में कोई दोराय नहीं है कि टीम बदलाव के दौर से गुजर रही है और युवा खिलाड़ियों को सेट होने में थोड़ा वक्त तो लगेगा ही।

Related posts