रोहित शर्मा ने बल्लेबाजों का किया बचाव, बताया कौन हो सकते हैं दूसरे मैच से बाहर 1

बांग्लादेश के हाथों 7 विकेट से करारी हार झेलने के बाद रोहित शर्मा की टीम इंडिया घायल शेर की तरह बंगलादेशी चीतों पर हमला करने को बेकरार है. भारत जैसी दुनिया की नंबर एक टीम जानती है कि किस तरह से सीरीज में वापसी करनी है.

मौजूदा टी 20 सीरीज में भारतीय टीम के कप्तान रोहित शर्मा ने राजकोट टी 20 से पहले बुधवार को एक प्रेस कांफ्रेंस किया है, जिसमे उन्होंने पत्रकारों के सवालों के जवाब दिए.

गलतियों को न दोहराना ही अच्छी टीम की पहचान

भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने प्रेस कांफ्रेंस में पिछले टी 20 में हुई गलतियों को न दोहराने की बात कही उन्होंने पत्रकारों के सवालों के जवाब देते वक्त कहा कि

” यह वो समय है जब हमें समझना होगा कि एक अच्छी टीम के तौर पर हम पिछली गलतियों को न दोहराएँ, क्योंकि गलतियों को न दोहराना ही अच्छी टीम की पहचान है.”

राजकोट की पिच का क्या मिजाज है ?

राजकोट की पिच को लेकर सवाल पूछने पर रोहित ने कहा कि राजकोट की पिच सदैव बल्लेबाजों को मदद करती है, इसलिए गेंदबाजों को ज्यादा जिम्मेदारी लेनी होगी, जितना कि मैंने राजकोट की पिच को समझा है, यह पिच दिल्ली की पिच से बेहतर होगी.

क्या अगले मैच में टीम में बदलाव देखने को मिल सकता है ?

टीम में बदलाव पर भी पत्रकारों ने उनसे सवाल पूछें जिसमें उन्होंने कहा कि

“मुझे नहीं लगता कि हमें पिछले मैच में क्या हुआ इस बारे में ज्यादा सोचना चाहिए. हम वही टीम उतारेंगे जो पिच के हिसाब से बेहतर होगी. मुझे हमारे बल्लेबाजी में ज्यादा कमियां नहीं दिखी इसलिए हम बल्लेबाजी में बदलाव नहीं करना चाहेंगे. “

क्या भारतीय गेंदबाज दबाव में हैं?

इस सवाल का जवाब देते हुए रोहित शर्मा ने कहा, कि अच्छा प्रदर्शन करने का दबाव केवल टीम पर है न कि खेल के किसी एक विभाग में चाहें वो गेंदबाजी हो या बल्लेबाजी. आप एक टीम के तौर पर मैच हारते हो न कि गेंदबाज के तौर पर, इसलिए हमें सभी विभागों में अच्छा करने की जरूरत है. हम सभी को एकजुट होकर खेलने की आवश्यकता है. यदि हमारी पहले बल्बलेबाजी आती है तो हमे एक अच्छा टोटल खड़ा करना होगा और यदि हम पहले गेंदबाजी करते है तो विपक्षी टीम को कम से कम स्कोर में रोकना होगा.

टी 20 में भारतीय टीम में निरंतरता की कमी का क्या कारण है?

भारतीय टीम इस समय उन युवाओ को ज्यादा मौका देना चाहती है, जिनमें भारतीय टीम का भविष्य बनने कि पूरी काबिलियत है. हमारे मुख्य बल्लेबाज बीते कुछ टी 20 मैच में शामिल नहीं रहें है. मेरी समझ में ये सबसे बड़ा कारण है.

रोहित शर्मा चाहतें हैं मजबूत बेंच स्ट्रेंथ

रोहित ने युवाओं के बारें में बोलते हुए कहा

टी 20 एक एसा प्रारूप है, जिसमे आप बदलाव कर सकतें है और युवाओं को मौका दें सकते हैं तथा उन्हें भी सभी फॉर्मेट्स में खेलने के लिए तैयार कर सकते हैं. मैंने कई ऐसे खिलाड़ी देखें हैं, जिनका करियर टी 20 ने पूरी तरह से बदल दिया और आज वो तीनो फ़ॉर्मेट्स में अच्छा कर रहे हैं. हम अपनी बेंचस्ट्रेंथ जितना ज्यादा हो सके उतना मजबूत करना चाहते हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हम टी 20 मैच नहीं जीत रहें हैं. हमने कई टी 20 सीरीज जीती है. जीत हमारी पहली प्राथमिकता है.