क्रिकेट इतिहास के इन 10 रिकार्ड्स को तोड़ पाना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन भी है

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

विश्व रिकार्ड्: 70 सालो में आज तक नहीं टूटे क्रिकेट के ये 10 रिकॉर्ड, अब इन्हें तोड़ पाना मुश्किल नहीं नामुमकिन 

विश्व रिकार्ड्: 70 सालो में आज तक नहीं टूटे क्रिकेट के ये 10 रिकॉर्ड, अब इन्हें तोड़ पाना मुश्किल नहीं नामुमकिन

क्रिकेट एक ऐसा खेल है जहाँ कई रिकार्ड बनते हैं तो कई टूटते हैं, लेकिन क्रिकेट इतिहास में कुछ ऐसे भी रिकॉर्ड हैं जिन्हें तोड़ना किसी भी खिलाड़ी के लिए मुश्किल ही नही नामुमकिन है. आज हम ऐसे ही 10 रिकॉर्ड की बात करेंगे जो इन खिलाड़ियों ने जब बनाये, तो उन्होंने खुद नही सोचा था कि इन्हें किसी के लिए भी तोड़ना असम्भव होगा.

विश्व रिकार्ड्: 70 सालो में आज तक नहीं टूटे क्रिकेट के ये 10 रिकॉर्ड, अब इन्हें तोड़ पाना मुश्किल नहीं नामुमकिन 1

1. डॉन ब्रेडमैन का बल्लेबाजी औसत-

विश्व रिकार्ड्: 70 सालो में आज तक नहीं टूटे क्रिकेट के ये 10 रिकॉर्ड, अब इन्हें तोड़ पाना मुश्किल नहीं नामुमकिन 2

डॉन ब्रेडमैन दुनिया के ऐसे बल्लेबाज हैं, जिन्होंने क्रिकेट जगत में अलग ही पहचान बनाई उन्होंने टेस्ट क्रिकेट की 80 पारियों में 99.94 की औसत से रन बनाए. उनका फर्स्ट क्लास में भी औसत 95.14 का रहा. दशकों बीत गये मगर उनके रिकॉर्ड को कोई भी हिला नहीं सका.

2. मुरलीधरन के 1347 अंतरराष्ट्रीय विकेट-

विश्व रिकार्ड्: 70 सालो में आज तक नहीं टूटे क्रिकेट के ये 10 रिकॉर्ड, अब इन्हें तोड़ पाना मुश्किल नहीं नामुमकिन 3

श्रीलंका के स्पिन गेंदबाज मुथैया मुरलीधरन ने 20 साल की उम्र में खेलना शुरू किया था. और  लगभग 20 साल के अपने क्रिकेट करियर में मुरली ने 800 टेस्ट विकेट, 534 वन डे विकेट लिए, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है. मुरली ने 13 टी-20 विकेट भी हासिल किये. 1347 अन्तर्राष्ट्रीय विकेट लेने वाले वह दुनिया के एकमात्र गेंदबाज हैं.

3. जैक हॉब्स के 61760 रन-

विश्व रिकार्ड्: 70 सालो में आज तक नहीं टूटे क्रिकेट के ये 10 रिकॉर्ड, अब इन्हें तोड़ पाना मुश्किल नहीं नामुमकिन 4
Sir Jack Hobbs

सर जैक हॉब्स 20 सदी के बेहतरीन खिलाड़ी रहे. जैक हॉब्स ने 834 फर्स्ट क्लास मैच खेले, इनमें सिर्फ 61 टेस्ट मैच हैं. हॉब्स का एकमात्र शौक रन बनाना था. उन्होंने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 61,760 रन बनाए. उन्हें क्रिकेट लीजेंड के रूप में हमेशा याद किया जाएगा.

4. जिम लेकर की शानदार गेंदबाजी-

Image result for जिम लेकर

इंग्लैंड के ऑफ स्पिनर जिम लेकर ने 1956 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 90 रन देकर 19 विकेट हासिल किए. लेकर के साथी खिलाड़ियों ने 123 ओवर डाले और केवल एक विकेट हासिल किया. अभी तक कोई बभी खिलाड़ी यह कारनामा करने के बारे में सोच भी नही सका है.

5. विलफ्रेड रोड्स के 4204 विकेट-

विश्व रिकार्ड्: 70 सालो में आज तक नहीं टूटे क्रिकेट के ये 10 रिकॉर्ड, अब इन्हें तोड़ पाना मुश्किल नहीं नामुमकिन 5

पचास के दशक में विलफ्रेड रोड्स ने अपनी लेफ्ट आर्म स्पिन गेंदबाजी से फर्स्ट क्लास क्रिकेट में ऐसा रिकॉर्ड बनाया जिस तोड़ना लगभग असंभव है. रोड्स ने अपने क्रिकेट करियर में 4204 फर्स्ट क्लास विकेट लिए.

6. ऑस्ट्रेलिया की लगातार 2 बार16 जीत-

विश्व रिकार्ड्: 70 सालो में आज तक नहीं टूटे क्रिकेट के ये 10 रिकॉर्ड, अब इन्हें तोड़ पाना मुश्किल नहीं नामुमकिन 6

ऑस्ट्रेलिया टीम का क्रिकेट जगत में दबदबा किसी से छुपा नही है. ऑस्ट्रेलिया ने सबसे पहले स्टीव वॉ के नेतृत्व में 1999-2001 के बीच ऑस्ट्रेलिया ने 16 टेस्ट मैच लगातार जीते. यही रिकॉर्ड आस्ट्रेलिया ने दोबारा बनाया रिकी पोन्टिंग के नेतृत्व में 2005-08 के बीच ऑस्ट्रेलिया ने 16 टेस्ट मैच दोबारा लगातार जीते. आज इस रिकॉर्ड को तोड़ना नामुमकिन लगता है.

7. चमिंडा वास की वनडे में शानदार गेंदबाजी-

विश्व रिकार्ड्: 70 सालो में आज तक नहीं टूटे क्रिकेट के ये 10 रिकॉर्ड, अब इन्हें तोड़ पाना मुश्किल नहीं नामुमकिन 7

श्रीलंका के बायें हाथ के तेज गेंदबाज चमिंडा वास 2001 में अंतरराष्ट्रीव वन डे मैच में 8 विकेट हासिल किए. किसी वन डे में आठ विकेट लेने वाले वह एकमात्र गेंदबाज है.

8. टेस्ट मैच में गूच के 456 रन-

विश्व रिकार्ड्: 70 सालो में आज तक नहीं टूटे क्रिकेट के ये 10 रिकॉर्ड, अब इन्हें तोड़ पाना मुश्किल नहीं नामुमकिन 8

1990 में इंग्लैंड के कप्तान ग्राहम गूज ने एक टेस्ट मैच में 456 रन बनाकर अद्भुत रिकॉर्ड बनाया. उन्होंने पहली पारी में 333 और दूसरी पारी में 123 रन बनाए. टी20 क्रिकेट के इस दौर में यह रिकॉर्ड तोड़ पाना असम्भव लगता है.

9. फिल सिमंस की इकॉनामी-

विश्व रिकार्ड्: 70 सालो में आज तक नहीं टूटे क्रिकेट के ये 10 रिकॉर्ड, अब इन्हें तोड़ पाना मुश्किल नहीं नामुमकिन 9

1992 में वेस्ट इंडीज के फिल सिमंस ने ऐसा रिकॉर्ड बनाया जो आज के समय सोचना ही अकल्पनीय है. पाकिस्तान के खिलाफ वन डे में फिल सिमंस ने 10 ओवरों में केवल 3 रन दिए यानी उनका औसत 0.3 रन था. यह रिकॉर्ड आज के परिद्रश्य में तोड़ना नामुमकिन ही है.

10. गेल का टी-20 में सबसे तेज शतक-

विश्व रिकार्ड्: 70 सालो में आज तक नहीं टूटे क्रिकेट के ये 10 रिकॉर्ड, अब इन्हें तोड़ पाना मुश्किल नहीं नामुमकिन 10

टी20 क्रिकेट का दूसरा नाम गेल हैं. 2004 ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज सायमंड्स ने  इंग्लिश काउंटी टीम केंट के लिए खेलते हुए महज 34 गेंदों पर शतक जमा दिया था. यह रिकॉर्ड आईपीएल 2013 तक कायम रहा, लेकिन 2013 के आईपीएल में वेस्ट इंडीज के क्रिस गेल ने रॉयल चैलेंजर बेंगलुरु की तरफ से खेलते हुए 175 नाबाद रन बनाए. उन्होंने शतक केवल 30 गेंदों में ही लगा दिया.

 

Related posts

Leave a Reply