महेंद्र सिंह धोनी के 10 बयान जो चर्चा का विषय बने

महेंद्र सिंह धोनी भारतीय क्रिकेट के सबसे सफलतम कप्तानों में से एक हैं. वनडे मैच हो या टेस्ट क्रिकेट हो या 20-20 हो धोनी ने अपनी कप्तनी का लोहा क्रिकेट के सभी फॉर्मेट में मनवाया है. हालाँकि इस वक्त वह टीम इंडिया की सीमित ओवरों की टीम की अगुवाई कर रहे हैं. महेंद्र सिंह धोनी ने ना सिर्फ क्रिकेट के मैदान पर बल्कि मैदान के बाहर भी अपने धैर्य और आत्मविश्वास से अपने प्रशंसकों का दिल जीता चुके हैं. धोनी ने जिस तरह से अपने शब्दों से अपने खिलाड़ियों को प्रेरित किया और मीडिया का सामना किया वह भी काबिल ए तारीफ है. लेकिन इन सबके बीच धोनी के कई ऐसे बयान भी आयें हैं जो मीडिया में वायरल हो गयें हैं. आज हम आपको कैप्टेन कूल कुछ ऐसे ही बयानों के बारे बताना चाह रहे हैं, जो काफी वायरल हुए हैं. धोनी को उनके स्वभाव की वजह से ही कैप्टन कूल कहा जाता है:

 

1.सन्यास जानने के लिए पीआईएल डालें

ऑस्ट्रेलिया में आखिरी वनडे के बाद प्रेस कांफ्रेंस में धोनी ने कहा, मेरे संन्यास के बारे में जानने के लिए ‘जनहित याचिका’ दायर कीजिए.

2.स्पाइडरकैम से असहजता

धोनी ने ने स्पाइडरकैम पर अपनी असहजता व्यक्त की. क्यूंकि उन्हें इससे मैच में प्रभाव पड़ने की आशंका नजर आई है.

3.बहुत से लोग तलवार लिए खड़े हैं

अपनी खराब फॉर्म पर लेकर लगातार लोगों की आलोचना झेलने के बाद जब धोनी ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 94 रन की मैच जिताऊ पारी खेलने के बाद प्रेस कांफ्रेंस में धोनी ने कहा कि बहुत से लोग उनके लिए बाहर तलवार लिए खड़े हैं.

4. बांग्लादेश दौरे पर कप्तानी देने की बात कही

बांग्लादेश दौरे पर लगातार हार के बाद कप्तान धोनी ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि अगर उन्हें कप्तानी से हटाने पर टीम को जीत मिल सकती है तो वह इसे छोड़ने को तैयार हैं.

5.रहाने के न खिलाये जाने पर घिरे

बांग्लादेश दौरे पर ही धोनी रविंद्र जडेजा की खराब फॉर्म का बचाव करते नजर आए तो अजिंक्य रहाणे को प्लेइंग इलेवन से बाहर करने और उनकी धीमी पिचों पर बल्लेबाजी पर की गई टिप्पणी को लेकर भी धोनी की आलोचना हुई.

6. विराट ने चाकू लिया और धवन को मार दिया

ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर उनसे पूछा गया, ब्रिस्बेन टेस्ट में शिखर धवन और विराट कोहली के बीच झगड़ा हुआ था? धोनी ने भौंहे चढ़ाते हुए मजाकिया लहजे में कहा, ‘दरअसल विराट ने चाकू लिया और शिखर को मार दिया. धवन चोट से उबरे और फिर हमने उन्हें बल्लेबाजी के लिए मजबूर किया. ये सब कहानियां हैं. मार्वल या वॉर्नर ब्रदर्स को इसका इस्तेमाल करके एक अच्छी फिल्म बना देनी चाहिए.

7. मौत का कोई तरीका नहीं होता

धोनी से जब इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट मैच में भारत के सफाये के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि, आप मरते हैं तो आप मरते हैं, ऐसे में आप मरने का बेहतर तरीका नहीं देखते हैं.

8. डीआरएस की गारंटी नहीं होती है

लाइफ जैकेट किसी गारंटी के साथ नहीं आती है। डीआरएस पर बहुत खर्च किया जाता है लेकिन उसके साथ कोई गारंटी नहीं आती, अगर ऐसा हो तो मुझे खुशी होगी।

9. ये डकवर्थ नहीं समझ आता है

 सच कहूं तो मुझे डकवर्थ लुईस नियम बिल्कुल समझ नहीं आता है, मैं अंपायर के फैसले का इंतजार करता हूं।

10. लक्ष्मण के सन्यास पर सफाई

धोनी ने लक्ष्मण के सन्यास के बाद आरोपों का जवाब दिया था की वह अक्सर फोन से दूर रहते हैं क्योंकि साथ ही वह इस आदत को सुधार रहे हैं. लेकिन वह सुधर नहीं रही है.

11. युवराज की जगह बिन्नी को लेने की सफाई पर

विश्वकप 2015 के लिए टीम में बिन्नी को शामिल करने किए जाने पर धोनी ने बिन्नी को युवराज से बेहतर आलराउंडर बताया था. जिसकी काफी आलोचना हुई थी.

 

Related Topics