OMG! एक बार नहीं, बल्कि पूरे 24 बार अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में यह अद्दभुत कारनामा कर चुके हैं एमएस धोनी

Akhil Gupta / 21 December 2017

महेंद्र सिंह धोनी एमएस धोनी धोनी आप चाहे टीम डिया के पूर्व कप्तान को किसी भी नाम से पुकार ले, लेकिन टीम में उनका कद सदैव ऊँचा और काम हमेशा देश को जीत दिलाना ही रहेगा.

बुधवार, 21 दिसम्बर को भी श्रीलंका के विरुद्ध ऐसा ही कुछ देखने को मिला. एक लम्बे समय से क्रिकेट की दुनिया के तमाम जानकार अभी कुछ समय पहले तक धोनी की T-20I फॉर्म पर सवालियां निशान उठा रहे थे. मगर आज पूरा विश्व क्रिकेट एक बार फिर से धोनी धोनी के नाम का गुणगान करता हुए नजर आ रहा हैं.

अकेले ने किया लंका दहन 

बुधवार, 20 दिसम्बर को भारत और श्रीलंका के बीच तीन टी ट्वेंटी मैचों की पेटीएम श्रृंखला का पहला मुकाबला खेला गया. जहाँ भारतीय टीम के पूर्व चैंपियन कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का ही जलवा देखने को मिला. तूफानी बल्लेबाजी से लेकर शानदार कीपिंग तक हर मोर्चे पर धोनी सबसे आगे रहे.

भारतीय पारी के दौरान बल्लेबाजी करने के लिए चौथे क्रम पर आये और अपने अनुभव से टीम को अंतिम ओवर तक लेकर गये. धोनी ने मात्र 22 गेंदों का सामना किया और 39 रनों की नाबाद पारी खेली. अपनी पारी के दौरान एमएस ने चार चौके और एक छक्का लगाया. मैच में धोनी का स्ट्राइक रेट 177.27 का रहा.

आखिरी गेंद पर लगाया छक्का 

धोनी ने भारतीय पारी की अंतिम गेंद पर एक लम्बा छक्का लगाकर पारी का समापन किया और इसी छक्के के साथ उनके नाम पर एक बड़ा रिकॉर्ड भी दर्ज हो गया. दरअसल अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में यह 24वां ऐसा मौका रहा, जब धोनी ने छक्का लगाकर पारी का अंत किया हो.

13 बार वनडे में {9 बार लक्ष्य का पीछा करने वाली पारी में}

बार T-20I में {3 बार लक्ष्य का पीछा करने वाली पारी में}

3 बार टेस्ट में {1 बार लक्ष्य का पीछा करने वाली पारी में}

इतना ही नहीं महेंद्र सिंह धोनी कुल पांचवी बार भारतीय टी20 पारी की अंतिम गेंद पर छक्का लगाने में सफल रहे. इस मामले में भी वह T-20I में अन्य खिलाड़ियों में सबसे आगे हैं.

एक नजर उन खिलाड़ियों के नाम पर जिन्होंने अपनी टीम की पहली पारी की अंतिम गेंद पर सबसे ज्यादा 6 लगाये:-

महेंद्र सिंह धोनी {5} , एंजेले मैथ्यूस {2} , मशरफे मोर्तजा {2} , शफिउल्लाह {2} , नाथन मैकुलम {2के नाम आते हैं.

आगे भी किया कमाल 

 यह धोनी की ही मेहरबानी थी, कि टीम इंडिया अपने निर्धारित 20 ओवर के खेल में 180/3 का एक बड़ा स्कोर बनाने में सफल रही. बल्ले से जौहर दिखने के बाद अब बारी कीपिंग से छाप छोड़ने की थी. धोनी ने इसके बाद अपनी जबरदस्त और शानदार कीपिंग से सभी का दिल जीत लिया. महेंद्र सिंह धोनी ने श्रीलंकाई पारी के दौरान दो कैच और दो स्टंपिंग की…

टीम इंडिया यह मुकाबला 93 रनों के एक बड़े अंतर के साथ जीतने में सफल रही.