केकेआर
Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse

आईपीएल 2020 का 32वां मुकाबला मुंबई इंडियंस और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच खेला गया। इस मैच में केकेआर ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। जहां, केकेआर ने 5 विकेट के नुकसान पर 148 रन बनाए।

जवाब में बल्लेबाजी करने उतरी मुंबई इंडियंस की टीम ने अबु धाबी के मैदान पर आसानी से इस लक्ष्य को हासिल कर लिया और 2 विकेट के नुकसान के साथ 8 विकेट से शानदार जीत दर्ज कर ली। इस जीत के साथ ही मुंबई इंडियंस की टीम नंबर-1 पर पहुंच गई है और केकेआर अभी भी टॉप-4 में बरकरार है।

इस मैच में कोलकाता नाइट राइडर्स के नए कप्तान इयोन मोर्गन ने कुछ ऐसी गलतियां की, जिसका खामियाजा केकेआर को भुगतना पड़ा। तो आइए इस आर्टिकल में आपको उन 3 कारणों के बारे में बताते हैं जिसके चलते केकेआर को हार का सामना करना पड़ा।

  इन 3 कारणों से केकेआर को करना पड़ा हार का सामना

1- कुलदीप यादव को नहीं दी प्लेइंग इलेवन में जगह

IPL 2020: इन 3 कारणों से कोलकाता नाइट राइडर्स को मिली मुंबई इंडियंस के हाथों करारी हार 1

आईपीएल 2020 का आयोजन यूएई के मैदानों पर हो रहा है। अब देखा जा रहा है कि पिचें सूख चुकी हैं और स्पिन गेंदबाजों के लिए पिच पर काफी मदद है। ऐसे में सभी टीमें अपनी प्लेइंग इलेवन में टीम के क्वालिटी स्पिनर्स को शामिल कर जीत दर्ज करती नजर आ रही हैं।

मगर मुंबई इंडियंस के खिलाफ बतौर कप्तान पहला आईपीएल मैच खेल रहे केकेआर के कप्तान इयोन मोर्गन ने चाइनामैन कुलदीप यादव को प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं किया। असल में कुलदीप यादव ने 3 मैच खेले, जिसमें वह 1 ही विकेट निकाल सके।

भले ही कुलदीप शुरुआत में कुछ खास ना कर सके हो, लेकिन अब जबकि स्पिनर्स के लिए पिच पर मदद है, तो ऐसे में कुलदीप यादव टीम के लिए मैन विनर साबित हो सकते हैं। इसलिए कुलदीप यादव को प्लेइंग इलेवन से बाहर बैठाना टीम मैनेजमेंट का एक गलत फैसला है।

Prev1 of 3
Use your ← → (arrow) keys to browse