CWC 2019, INDvsWI: 3 कारण क्यों भारतीय टीम को मिल सकती है पहली हार

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

CWC 2019, INDvsWI: 3 कारण क्यों भारतीय टीम को मिल सकती है टूर्नामेंट में पहली हार 

CWC 2019, INDvsWI: 3 कारण क्यों भारतीय टीम को मिल सकती है टूर्नामेंट में पहली हार

आईसीसी विश्व कप 2019 के 34वें मुकाबले में भारत का सामना वेस्टइंडीज से होने वाला है। भारतीय टीम टूर्नामेंट की सबसे इनफॉर्म टीम है और उसे एक भी हार नहीं मिली है। अफगानिस्तान के खिलाफ हुए मैच में बल्लेबाज नहीं चले थे, लेकिन गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन की वजह से टीम ने मुकाबले को अपने नाम किया था। दूसरी तरफ पहले मैच के बाद विंडीज को एक भी जीत नहीं मिली है। आज हम आपको 3 कारण बताने जा रहे हैं, क्यों भारत का विंडीज से हार मिल सकती है।

3. सलामी जोड़ी की परेशानी

शिखर धवन के विश्व कप से बाहर होने के बाद भारतीय टॉप आर्डर कमजोर दिखने लगा है। पाकिस्तान के खिलाफ रोहित शर्मा की तेज बल्लेबाजी से रन रेट पर ज्यादा प्रभाव नहीं पड़ा, लेकिन अफगानिस्तान के खिलाफ सलामी जोड़ी जूझती दिखी।

रोहित धीमी शुरुआत करते हैं और केएल राहुल उनसे भी ज्यादा समय लेते हैं। ऐसे में टीम को बड़ा स्कोर बनाने में मुश्किल हो सकती है। राहुल का सेट होने के बाद आउट होना भी टीम के लिए बड़ी परेशानी है।

2. विंडीज खिलाड़ियों का आईपीएल अनुभव

वेस्टइंडीज के बल्लेबाजों को आईपीएल में खेलने का काफी अनुभव है। उन्हें अच्छे से पता है कि भारतीय टीम के गेंदबाजों की मजबूती और कमजोरी क्या है। क्रिस गेल युजवेंद्र चहल के साथ ही मोहम्मद शमी के साथ खेल चुके हैं।

कार्लोस ब्रेथवेट कोलकाता नाईट राइडर्स के लिए खेलते हुए नेट्स पर कुलदीप यादव के खिलाफ काफी बल्लेबाजी की होती। यह भारत के खिलाफ जा सकता है। टीम के गेंदबाज खास प्लान के साथ नहीं उतरे तो खतरा हो सकता है।

1. भारतीय टीम का कमजोर मध्यक्रम

भारतीय टीम

भारत के लिए टूर्नामेंट के 4 मैचों में टॉप-3 बल्लेबाजों के अलावा सिर्फ केदार जाधव के बल्ले से अर्धशतक निकलता है। महेंद्र सिंह धोनी अफगानिस्तान के खिलाफ रन लेने में भी जूझ रहे थे वहीं हार्दिक पांड्या मुश्किल परिस्थिति में शायद ही बल्लेबाजी कर पाए।

विजय शंकर ने भी बल्ले से कुछ ज्यादा उम्मीद नहीं बंधवाई है। रोहित शर्मा और विराट कोहली को वेस्टइंडीज के गेंदबाज जल्दी पवेलियन भेज देते हैं तो भारत के लिए मैच बचना लगभग नामुमकिन हो जायेगा।

Related posts