घरेलू क्रिकेट के 5 ऐसे रिकॉर्ड जो अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में आज तक नहीं बने, इनका टूटना मुश्किल नहीं नामुमकिन

dibyanshu / 11 October 2018

घरेलू क्रिकेट में बनाए गये ऐसे रिकॉर्ड जिनके बारे में शायद ही पाको मालूम हो

घरेलू क्रिकेट एक ऐसी जगह है जहां खिलाडी अपनी प्रतिभा दिखा कर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में प्रवेश कर सकते हैं. अलग-अलग तरह के घरेलू टूर्नामेंट पूरे सीजन के दौरान होते रहते हैं. इन टूर्नामेंट्स में प्रदर्शन के आधार पर ही खिलाड़ियों का चयन देश की टीम में होता है. वहीं भारतीय घरेलू क्रिकेट के इतिहास में देखें तो कई शानदार रिकॉर्ड दर्ज हैं. चलिए हम आपको ऐसे ही पांच रिकॉर्ड के बारे में बताते हैं.

1. प्रणव धनावड़े के नाम दर्ज नाबाद 1009 रन 

जनवरी 2016 में मुंबई के प्रणव धनावड़े ने क्रिकेट इतिहास में अपना नाम दर्ज करा लिया था. स्कूल स्तर पर खेलते हुए धनावड़े ने 323 गेंदों पर ही नाबाद 1009 रन बना दिए थे. अपनी इस तूफानी पारी में उन्होंने 59 छक्के और 129 चौके लगाए थे.

धनावड़े की इस विशालकाय पारी की मदद से केसी गाँधी स्कूल टीम ने 3 विकेट के नुकसान पर 1465 रन का पहाड़ जैसा स्कोर खड़ा कर दिया था. धनावड़े ने ऐसा कर एइजे कॉलिन का 116 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया था. कॉलिन ने 1899 में 628 रन बनाकर व्यक्तिगत तौर पर सबसे बड़ा स्कोर बनाने का रिकॉर्ड दर्ज किया था, जोकि अब धनावड़े के नाम है.

2. 729 रनों की साझेदारी

हैदराबाद के दो लड़कों ने सेंट पीटर्स हाई स्कूल की ओर से खेलते हुए 729 की साझेदारी की थी. इस साझेदारी में मोहम्मद शाहबाज तुंबी ने नाबाद 324 रन और बी मनोज कुमार ने नाबाद 320 रनों की पारी खेली थी . ऐसे कर ये दोनों  बल्लेबाज लाइम लाइट में आ गये थे.

3. राहुल सांघवी ने 15 रन देकर लिए थे 8 विकेट 

राहुल सांघवी ने 1997-98 में एक विश्व रिकॉर्ड अपने नाम दर्ज कर लिया था. दिल्ली की ओर से खेलते हुए राहुल ने हिमाचल के खिलाफ लिस्ट ए मैच में 15 रन देकर 8 विकेट चटकाए थे. लिस्ट ए क्रिकेट में किसी भी गेंदबाज द्वारा किया गया ये सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन बना हुआ है.

4. 1948-49 रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल में बने सबसे ज्यादा रन

1948-49 रणजी ट्रॉफी के सेमिफिनल मैच में कुल 2376 रन बने थे. घरेलू क्रिकेट में किसी एक मैच में बने सर्वाधिक रनों के मामले में ये रिकॉर्ड अभी भी बना हुआ है. इस मैच के दौरान दौरान कुल 9 शतक लगाए गए थे.

5. जम्मू और कश्मीर रणजी ट्रॉफी के एक मैच में नहीं ले पायी थी एक भी विकेट 

1960-61 में रणजी ट्रॉफी के एक मैच में जम्मू और कश्मीर की टीम रेलवे टीम से बुरी तरह हार गयी थी. जम्मू और कश्मीर दोनों पारियों में रेलवे टीम का एक भी विकेट लेने में कामयाब नहीं हो पायी थी. रेलवे के दोनों ओपनर बल्लेबाज दोनों पारियों में नाबाद रहे थे.