इन 5 दिग्गज खिलाड़ियों ने कभी नहीं खेला एक भी टी 20 मैच

Trending News

Blog Post

एडिटर च्वाइस

वनडे और टेस्ट के दिग्गज हैं ये 5 खिलाड़ी, फिर भी अब तक नहीं मिला एक भी टी-20 खेलने का मौका 

वनडे और टेस्ट के दिग्गज हैं ये 5 खिलाड़ी, फिर भी अब तक नहीं मिला एक भी टी-20 खेलने का मौका
Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse

क्रिकेट का सबसे पुराना और लंबा फॉर्मेट यानि टेस्ट क्रिकेट की लोकप्रियता छोटे फॉर्मेट के आने से कम हो गई। लेकिन पुराने समय की बात करें तो खिलाड़ी टेस्ट क्रिकेट का ही लुफ्त उठाया करते थे।

लेकिन 1971 में वनडे और फिर 2007 में टी 20 फॉर्मेट के आ जाने से लोगों की रुचि इसमें बढ़ गई। असल में आजकल हर किसी के पास समय की कमी है ऐसे में 4-5 दिन तक टेस्ट देखने के बजाए फटाफट रिजल्ट मिलने वाले छोटे फॉर्मेट लोगों को अपनी तरफ आकर्षित करते हैं।

हालांकि आईसीसी ने टेस्ट चैंपियनशिप के जरिए दोबारा खिलाड़ियों व फैंस को टेस्ट के करीब लाने का प्रयास कर रही है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि कुछ ऐसे खिलाड़ी भी थे और हैं जिन्होंने क्रिकेट के सबसे छोटे टी 20 फॉर्मेट का एक भी मैच नहीं खेला।

जी हां, आज हम आपको ऐसे 5 दिग्गज खिलाड़ियों के बारे में बताएंगे जिन्होंने वनडे और टेस्ट मैच में अपने नाम का लोहा मनवाया लेकिन टी 20 फॉर्मेट का एक भी मैच नहीं खेला।

1- चेतेश्वर पुजारा

टीम इंडिया के टेस्ट स्पेसलिस्ट चेतेश्वर पुजारा शांत व सादमी से रहना पसंद करते हैं। पुजारा घरेलू क्रिकेट में सौराष्ट्र का प्रतिनिधित्व करते हैं। वह एक दाएं हाथ के बल्लेबाज हैं, जिन्होंने दिसंबर 2005 में सौराष्ट्र के लिए प्रथम श्रेणी में डेब्यू किया और अक्टूबर 2010 में बैंगलोर में टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया था।

पहले वह इंडिया ए टीम का हिस्सा थे जिसने 2010 में इंग्लैंड का दौरा किया था और वह दौरे के हाईएस्ट स्कोरर रहे थे। अक्टूबर 2011 में बीसीसीआई ने उन्हें डी ग्रेड राष्ट्रीय अनुबंध में शामिल किया। वह राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण के संन्यास के बाद से वह भारतीय टेस्ट टीम में नंबर-3 पर बल्लेबाजी करते हैं।

उनकी टेस्ट वापसी अगस्त 2012 में न्यूजीलैंड के खिलाफ हुई, जिसमें उन्होंने शतक बनाया। उन्होंने नवंबर 2012 में अहमदाबाद में इंग्लैंड के खिलाफ अपना पहला दोहरा शतक बनाया और मार्च 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एक और दोहरा शतक बनाया, दोनों बार भारत को जीत और उन्हें मैन ऑफ द मैच के खिताब से नवाजा गया।

2010 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ डेब्यू करने के बाद अब तक चेतेश्वर पुजारा ने 70 टेस्ट मैचों की 118 इनिंग्स में बल्लेबाजी की है। जिसमें उन्होंने 49.87 के औसत से 5486 रन बनाए हैं। टेस्ट में भारतीय क्रिकेट टीम को मजबूती देने वाले इस खिलाड़ी ने टी20 में आज तक एक भी टी 20 मैच नहीं खेला।

Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse

Related posts