5 दिग्गज खिलाड़ी, जो कभी नहीं बन पाए भारतीय टीम के कप्तान

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

5 दिग्गज भारतीय खिलाड़ी जो बन सकते थे महान कप्तान, बीसीसीआई ने नहीं दिया मौका 

5 दिग्गज भारतीय खिलाड़ी जो बन सकते थे महान कप्तान, बीसीसीआई ने नहीं दिया मौका
Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse

भारतीय क्रिकेट इतिहास में कई शानदार कप्तान आए हैं और उन्होंने अपनी कप्तानी से देश को कई मैच भी जीताए हैं. हालांकि आज हम अपने इस ख़ास लेख में उन पांच भारतीय खिलाड़ियों की बात करने जा रहे हैं, जो काफी लंबे वक्त तक भारतीय टीम के लिए खेले, लेकिन इस दौरान उन्हें कभी ही किसी भी फॉर्मेट में कप्तान बनने का सौभाग्य प्राप्त नहीं हो पाया.

युवराज सिंह

वनडे में सबसे ज्यादा 'मैन ऑफ़ द सीरीज'
image : yuvraj singh fan club

अपने कप्तान के लिए युवराज सिंह हमेशा मैच विनर खिलाड़ी रहे हैं. चाहे कप्तान धोनी हो या गांगुली, उन्होंने हमेशा अपने शानदार प्रदर्शन से अपने कप्तान को खुश किया हैं और भारतीय टीम को जीत दिलाई है.

वह एक ऐसे खिलाड़ी रहे हैं, जो तीनों विभाग में प्रदर्शन करने की क्षमता रखता था. वह बल्लेबाजी, गेंदबाजी और फील्डिंग तीनों से ही अपनी टीम के लिए योगदान देते थे.

साल 2011 के विश्व कप में भी वह ‘मैन ऑफ़ द टूर्नामेंट’ रहे थे. उनके दमदार ऑलराउंड प्रदर्शन के दम पर ही भारत इस विश्व कप को जीत पाया था. उन्होंने 2011 विश्व कप में कुल 362 रन बनाये थे और गेंद के साथ भी कमाल दिखाते हुए विश्व कप 2011 में कुल 15 विकेट हासिल किये थे.

2007 टी20 वर्ल्ड कप के इसी मैच में इंग्लैंड के खिलाफ युवराज सिंह ने 6 गेंद में 6 छ्क्के भी लगाए थे. उन्होंने एक मैच में इंग्लैंड के खिलाफ मात्र 12 गेंदों में अर्द्धशतक जमा दिया था. हालांकि अपने इस शानदार करियर के बावजूद वह कभी भी भारतीय टीम की कप्तानी नहीं कर पाए थे.

Prev1 of 5
Use your ← → (arrow) keys to browse

Related posts