वो 5 बाते जो आने वाले समय में 'बदल सकती है आईपीएल की तस्वीर | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

वो 5 बाते जो आने वाले समय में ‘बदल सकती है आईपीएल की तस्वीर 

हाल ही में आईपीएल ने सफलतापूर्वक अपना 8 वां सत्र भी पूरा किया . वैसे देखा जाये तो यह सत्र प्रतिस्पर्धी स्तर और प्रशंसकों की इसमें भागीदारी के मामले में सबसे सफल रहा. आईपीएल दुनिया भर में सबसे ज्यादा देखे जाने वाले खेलों में से एक बन गया है. लेंकिन फिर भी दुनिया में अन्य खेल के लीग की तरह मुकाम पाने में अभी कसर बाकी है. आयोजकों ने निश्चित रूप से वह मंज़िल पाने के लिए कुछ लक्ष्य तय किये होंगे और साथ ही वे ये भी जानते है कि इसे पूरा करने में सालों लगेंगे. जहाँ बात हो दर्शकों की तो वे तो खेल में कुछ नयापन व् उत्साह से पूर्ण लीग चाहते हैं.

यहाँ पेश हैं वो 5 बाते जो आने वाले समय में आईपीएल में सुधार कर सकती हैं

जर्सी को लेकर नयापन
अपने देश में खेलते हुए अलग जर्सी और प्रतिद्वंद्वियों के स्थल पर अलग जर्सी में खिलाडियों को खेलते हुए देखना रोचक होगा. और तो और इससे ये जानना आसान होगा की होम टीम कौन सी है और बाहर की टीम कौन सी. कैश रिच लीग में टीमों ने अपने लोगो, डिज़ाइन और रंगो को लेकर तो बहुत प्रयोग किये हैं लेकिन जर्सी के मामले में नहीं. टीम के मालिकों को निश्चित रूप से इस विचार पर और गौर करना चाहिए.

इवेंट्स के दौरान खिलाडियों का स्थानांतरण
यह दुनिया भर की प्रमुख खेल प्रतियोगिताओं के साथ शायद कभी नहीं हुआ होगा.ये तो सब जानते हैं कि केवल चार विदेशियों को अंतिम एकादश में शामिल किया जाता है. लीग शुरू होने से पहले ही खिलाडियों को ख़रीदा या बदला जा सकता है और एक बार जो खेल शुरू हो गया फिर इसकी अनुमति नहीं है. खेल के स्तर को बढ़ाने के लिए आईपीएल की गवर्निंग बॉडी को इवेंट के दौरान भी स्थानान्तरण की अनुमति देनी चाहिए. अगर एक खिलाड़ी अपनी मौजूदा टीम की योजना का हिस्सा नहीं बन पा रहा है तो उसे अन्य टीम द्वारा ख़रीदा जा सके जिनके लिए यह खिलाडी फिट बैठता हो . इससे पुरे सत्र में लोगो की खिलाडियों व् खेल को लेकर दिलचस्पी बनी रह सकती है.

अधिक घरेलु स्थल
राजस्थान रॉयल्स, हैदराबाद की टीम, किंग्स इलेवन पंजाब और दिल्ली डेयरडेविल्स जैसी टीमों के आईपीएल के आठवे सत्र दो घरेलु स्थल रहे जबकि चेन्नई सुपर किंग्स , मुंबई इंडियंस , कोलकाता नाइट राइडर्स और रॉयल्स चैलेंजर्स बेंगलूर के केवल एक एक ही रहे. पूरे भारत में छोटे केंद्रों में भी खेल को बढ़ावा देने के नज़रिये से प्रत्येक आईपीएल फ्रेंचाइजी को कम से कम दो घरेलु स्थल रखने चाहिए. इससे कम लोकप्रिय क्षेत्रों में मैचों के आयोजन से खेल की लोकप्रियता बढ़ेगी.

तकनीकी आधार पर कुछ नया
अंपायरों की टोपी पर कैमरा ,मैदान में घूमता मकड़ी कैमरा ये कुछ नई चीज़े थी जिसने की आईपीएल को दिलचस्प बनाया . इस तरह ऊंचाई से व् अलग अलग दिशा से शॉट्स देखना वाकई अच्छा लगता है. वहीँ अंपायर को रीप्ले देखने के लिए टेबलेट्स भी दिया जा सकते हैं जहाँ वो मैदान पर ही ख़ास परिस्थितियों में एक्शन रीप्ले देखकर निर्णय ले सके.

देश के बाहर दोस्ताना मैच
फुटबॉल में प्रसिद्ध क्लब वास्तविक लीग से पहले दुनिया के विभिन्न भागों में दोस्ताना मैच खेलते हैं और ऐसा क्लब व् खेल को बढ़ावा देने के लिए किया जाता है . आईपीएल इस मामले में पीछे है . इसी मामले में आईपीएल के विभिन्न फ्रेंचाइजी के प्रबंधन एक या दो देशों से आईपीएल के शुरू होने से पहले उन्ही स्थानीय टीमों के साथ कुछ मैच खेल सकते हैं. इससे फ्रैंचाइज़ी व् खेल को नए बाजारों तक पहुंचने में मदद मिलेगी और साथ ही वित्तीय आय व् प्रशंसकों के मामले में भी यह कदम फायदेमंद हो सकता है.

Related posts

Leave a Reply