अंडर 19 खेलने वाले ऐसे खिलाड़ी जिनकी प्रतिभा के सभी कायल

खेल डेस्‍क। भारत में क्रिकेट एक धर्म है और इसकी दीवानगी किसी से छुपी नहीं है, लेकिन हर खिलाड़ी का दौर आता है और चला जाता है। ऐसे में हमारे जेहन में एक सवाल उठता है, कि अगला कौन? ऐसे ही आपके जेहन में उठने वाले सवाल का जवाब हम कुछ चुने हुए खिलाडि़यों के माध्‍यम से देना चाहते है। जिनमें प्रतिभा की कोई कमी नहीं है और वो इस बात को साबित करने के लिए भरपूर मेहनत भी कर रहे हैं।

अरमान जाफर
भारतीय घरेलु क्रिकेट के स्टार वसीम जाफर के 17 साल के भतीजे अरमान जाफर ने अंडर-19 कूच बेहार ट्रॉफी में एक अद्भुत रिकॉर्ड बनाया। अरमान ने लगातार तीन दोहरे शतक और चार शतक बनाये। मुंबई के इस खिलाडी ने यह उपलब्धि कर्नाटक अंडर-19 के खिलाफ हासिल की। इस उभरते खिलाड़ी का रिकॉर्ड बहुत ही शानदार है, और माना जा रहा है कि यह भविष्‍य में अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में एक अच्‍छा मुकाम हासिल करेगा। 1998 को जन्मे इस दाएं हाथ के बल्लेबाज़ ने घरेलू क्रिकेट में अपनी पहचान बना ली है। 2010 में रिज़वी स्प्रिंगफील्ड स्कूल के खिलाफ उनकी बनाई गयी 418 रन के पारी, स्कूल क्रिकेट में बनाये गया सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर है। खास बात ये है, कि ये रिकॉर्ड इसके पहले उनके अंकल के नाम था।

वाशिंगटन सुंदर
13 साल की उम्र में तमिलनाडु क्रिकेट एसोशिएसन से अपने करियर की शुरूआत करने वाले वाशिंगटन सुंदर ने जल्‍द ही अपनी प्रतिभा का लोहा सबसे मनवा दिया था। उनकी प्रतिभा को देखते हुए विशेषज्ञों का कहना है, कि 2018 में होने वाले अंडर 19 वर्ल्‍डकप में वह जरूर खेलेगा। वह एक ओपनिंग बल्‍लेबाज है और कई सीरीज में उसके प्रदर्शन ने लोगों का ध्‍यान अपनी ओर खींचा है। इसके साथ ही ऑफ ब्रेक गेंदबाज के रूप में भी वह अपनी भूमिका निभा सकते हैं।

आवेश खान
भारतीय क्रिकेट को वैसे बल्‍लेबाजी के लिए जाना जाता है और ऐसा इसलिए भी क्‍योंकि समय-समय पर उसने महान बल्‍लेबाजों को जन्‍म दिया है। लेकिन गेंदबाजी टीम इंडिया के लिए हमेशा परेशानी का कारण बनी रही है। इसी बीच में एक नाम उठकर सामने आ रहा है वह है आवेश खान का। आवेश से तेज गेंदबाजी के क्षेत्र में काफी उम्‍मीदें लगाईं जा रही हैं। मध्‍यप्रदेश के इस खिलाड़ी को हाल में एक अंडर 19 मैच के लिए याद किया जा रहा है, जिसमें उन्‍होंने 6 ओवर में 4 रन देकर 4 विकेट झटक लिए थे।

 

ऋषभ पंत
दिल्ली के बायें हाथ के युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत के 88 गेंद में 87 रन और भारत ने अंडर 19 ट्राई सीरीज के मैच में अफगानिस्तान को 33 रन से हराया। ऐसी और भी कई पारियां है जिन्‍हें याद किया जाता है। इस बेहतरीन युवा बल्‍लेबाज की सबसे बड़ी खासियत यह है, कि यह दवाब में भी शानदार गेंदबाजी करता है।

सरफराज खान
इनकी काबिलियत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है, कि 12 वर्ष की उम्र में इन्‍होंने 439 रन की पारी खेली और लोगों को इनके अंदर सचिन तेंदुलकर की छवि नजर आने लगी। इसके बाद इन्‍होंने अपनी प्रतिभा के हिसाब से प्रदर्शन भी किया और अब रॉयल चैलेंज बेंगलूरू की तरफ से आईपीएल में भी खेलते हैं। इसके साथ ही उनका चुनाव अंडर 19 वर्ल्‍डकप 2014 के लिए भी हुआ। उन्‍होंने 211 रन बनाए जो कि 70.33 की औसत से थे।

Related Topics