ऐसे 5 महत्वपूर्ण रिकार्ड्स जो छोटी टीमो के खिलाफ बने है

SAGAR MHATRE / 13 August 2015

क्रिकेटर द्वारा समय-समय पर शतक लगाये जाते रहते है, लेकिन दर्शकों को वो हमेशा याद रहते है. किसी खिलाडी के संन्यास लेने के बाद उनके द्वारा किए गये रिकॉर्ड सभी को याद रहते है. काफी बार कई छोटे खिलाडियों ने बडी बडी टीमों के खिलाफ रिकॉर्ड बनाए है, जो हमेशा याद किए जाते है.

लेकिन काफी छोटी टीमों के खिलाफ रिकॉर्ड बने है, जो ऐसा लगता है कि कोई गली क्रिकेट हो रहा हो. ऐसे रिकॉर्ड बनते है, अगर वो बडी टीम के खिलाफ बनते तो लोग काफी खुश होते.

अब हम बता रहे है ऐसे पांच रिकॉर्ड जो छोटी टीमों के खिलाफ बने है:

1. हर्शल गिब्स के 6 गेंदों में 6 छक्के:

1877 से जब क्रिकेट शुरू हुआ तब से लेकर 2007 तक कोई भी बल्लेबाज अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में लगातार 6 गेंदों पर 6 छक्के नहीं लगा पाया था. लेकिन 2007 के विश्वकप में नीदरलैंड के खिलाफ ये कारनामा पहली बार हर्शल गिब्स ने किया.

अफ़्रीकी पारी के 30 वे ओवर में हर्शल गिब्स ने डान वान बंग के एक ओवर की 6 गेंदों पर लगातार 6 छक्के लगाए और रिकॉर्ड बनाया.

गिब्स ने इस मैच में 40 गेंदों में 72 रन बनाए, और दक्षिण अफ्रिका को आसानी से 221 रन से जीत मिली.

2. क्रिस गेल का विश्वकप में दोहरा शतक:

इस साल विश्वकप में गेल किसी भारतीय के बाद पहले ऐसे खिलाडी बने जिन्होंने वनडे में दोहरा शतक बनाया. जिंबाब्वे के खिलाफ उन्होंने ये कारनामा किया.

विश्वकप में पहली बार किसी बल्लेबाज ने दोहरा शतक लगाया था, और गेल ने 147 गेंदों में 215 रन बनाए थे, जिसमे 16 छक्के शामिल थे.

इस मैच में गेल और सैमुयल ने 372 रन कि साझेदारी बनाई थी, जो वनडे क्रिकेट में किसी भी विकेट के लिए सबसे बडी साझेदारी थी. उन्होंने सचिन और द्रविड की 331 रन की साझेदारी का रिकॉर्ड तोडा था.

3. ब्रेट ली की वनडे और टी ट्वेंटी में हैट्रिक:

ब्रेट ली सिर्फ अकेले गेंदबाज है, जिनके नाम वनडे और टी ट्वेंटी दोनों जगह हैट्रिक है. और ये दोनों हैट्रिक छोटी टीमों के खिलाफ आयी थी.

वनडे में उन्होंने हैट्रिक 2003 के विश्वकप में केन्या के खिलाफ ली थी. जब उन्होंने ओटिनो, ब्रिजेस पटेल, और डेविड ओबयो को अपना शिकार बनाया था.

टी ट्वेंटी में ब्रेट ली ने हैट्रिक 2007 के टी ट्वेंटी विश्वकप में बांग्लादेश के खिलाफ ली थी. तब उन्होंने, शकीब अल हसन, मशरफे मुर्तजा और आलोक कपाली का विकेट लिए थे.

4. वनडे और टी ट्वेंटी का सर्वाधिक स्कोर श्रीलंका द्वारा:

टेस्ट क्रिकेट, वनडे क्रिकेट, और टी ट्वेंटी क्रिकेट के सर्वाधिक स्कोर श्रीलंका के नाम है. लेकिन सिर्फ टेस्ट का सर्वाधिक स्कोर अच्छी टीम के खिलाफ आया था. वनडे और टी ट्वेंटी का सर्वाधिक स्कोर नीदरलैंड और केनया के खिलाफ आया है.

वनडे में श्रीलंका ने नीदरलैंड के खिलाफ 443 रन बनाए थे, जो वनडे का सर्वाधिक स्कोर है. जयसूर्या 157 और दिलशान के 117 रन की मदद से श्रीलंका ने ये कारनामा किया था.

टी ट्वेंटी में केन्या के खिलाफ श्रीलंका ने 260 रन बनाए थे. जयसूर्या के 88, महेला के 65, और मुबारक के 46 रन के बदौलत श्रीलंका ने ये रिकॉर्ड बनाया था.

5. चमिंडा वास द्वारा वनडे इतिहास का बेस्ट गेंदबाजी प्रदर्शन:


ये प्रदर्शन आज भी वनडे का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन है. इस मैच में वास ने हैट्रिक भी ली थी. ये मैच जिंबाब्वे के खिलाफ हुआ था.

स्टुअर्ट कार्लिस्ले, क्रेग विशार्ट, और तैबू का विकेट निकालकर उन्होंने हैट्रिक ली थी.

उस मैच में जिंबाब्वे की टीम 38 रन पर अॉल आउट हो गयी थी, और श्रीलंका ने ये लक्ष्य 26 गेंदों में हासिल किया था.

वास के नाम एक और रिकॉर्ड है, जब 2003 विश्वकप में बांग्लादेश के खिलाफ पहले तीन गेंद पर उन्होंने हैट्रिक ली थी.

Related Topics