दूसरा टी-20 जीतने के लिए भारत को अपनानी होगी ये 6 रणनीति

दूसरा टी-20 जीतने के लिए भारत को अपनानी होगी ये 6 रणनीति

पुणे मे खेले गए पहले टी-ट्वेंटी मैच मे श्रीलंका ने भारत को हरा कर 3 मैचो की श्रृंखला मे श्रीलंका ने 1-0 से बढ़त बना ली है. टी-ट्वेंटी विश्वकप की सबसे मजबूत दावेदार माने जाने वाली भारत की हार के साथ ही बहुत सी कमजोरिया जग उगागर हो गयी.  3 मैचो की श्रृंखला मे वापसी करने के लिए भारत को रांची मे खेले जाना वाला दुसरे टी-ट्वेंटी जीतना अब जरुरी हो गया है.

दूसरा टी-ट्वेंटी जीतने के लिए भारत को इन 6 रणनीति को अपनाना होगा,

1) शीर्ष क्रम को करनी होगी अच्छी बल्लेबाज़ी
भारत को रांची मे खेले जाने वाले टी-ट्वेंटी मैच जीतने के लिए, सलामी जोड़ी शिखर और रोहित को देनी होगी अच्छी शुरुवात. पुणे मे पहले टी-ट्वेंटी मे भारत की सलामी जोड़ी के साथ पुरे शीर्ष क्रम ने ख़राब बल्लेबाज़ी की थी. भारत ने पहले टी-ट्वेंटी मे मैच के पहले ओवर मे ही 2 विकेट खो दिए थे जिस से पूरी टीम दवाब मे आ गयी थी.

2) रहाने को निभानी होगी कोहली की भूमिका
श्रीलंका के विरुद्ध अंजिक्य रहाने को विराट कोहली के स्थान पर 3 नंबर पर बल्लेबाज़ी का मौका दिया गया. रोहित शर्मा बिना खाता खोले पवेलियन लोटे तो रहाने को कोहली की तरह भारतीय पारी को संभालना था, जबकि रहाने जल्दी मे दिखे और सिर्फ 4 रन बनाकर पहले ओवर मे ही पवेलियन वापस लौट गए. कोहली को श्रीलंका के विरुद्ध श्रृंखला मे आराम दिया गया है.

3) कप्तान धोनी को अपनी कप्तानी तकनीक में बदलाव करने की की जरुरत 
दुसरे टी-ट्वेंटी को जीतने के लिए भारतीय कप्तान को अपनी कप्तानी मे करने होगे कुछ बदलाव. पहले टी-ट्वेंटी मे भारतीय कप्तान कुछ दवाब मे दिखे जिसके कारण कुछ गलत फैसले लिए, नेहरा और बुमराह की गेंदबाज़ी मे आक्रामक फील्डिंग न देना और रवि अश्विन को देरी से गेंदबाज़ी देने के लिए काफी आलोचना का सामना करना पड़ा.

4) श्रीलंका को हल्के मे लेने की गलती दोबारा न करे 
पहले टी-ट्वेंटी मे भारत ने श्रीलंका को 1 कमजोर टीम समझकर बहुत बड़ी गलती की थी. श्रीलंका मे चांदीमल, कपूगेदरा जैसे अनुभवी बल्लेबाज़ है, जबकि कुछ नए चेहरे है जो अपनी टीम की जीत मे अहम भूमिका निभा सकते है. श्रीलंका के तेज गेंदबाजो ने पहले टी-ट्वेंटी मे दिखा दिया अगर परिस्तिथि उनके अनुकूल हुयी तो वे किसी भी बल्लेबाज़ी को परेशान कर सकते है. 

5) भारत को अपनी फील्डिंग में करना होगा सुधार
किसी भी मैच को जीतने के उसकी फ़ील्डिंग की अहम भुमिका  होती है, श्रीलंका को 102 रनों का लक्ष्य देने के बाद पूरा दारोमदार भारतीय गेंदबाज़ी और फील्डिंग पर था, मगर भारतीय फ़ील्डरो ने कई ऐसे मौके गवाए जहा विकेट मिलने का अच्छा अवसर था . रोहित और रहाने ने कैच गिराया तो जडेजा ने रन-आउट का मौका हाथ से जाने दिया.

6) युवराज और रैना को लेनी होगी जिम्मेदारी 
युवराज और रैना भारतीय टीम के सबसे अनुभवी क्रिकेटर है, उन्हें भारत को मैच जीताने की जिम्मेदारी लेनी होगी. रैना ने पहले टी-ट्वेंटी मे अच्छी शुरुआत की मगर 20 के स्कोर को एक बड़े स्कोर मे न बदल सके. युवराज ने भी जबसे अंतराष्टीय क्रिकेट मे वापसी की तबसे कोई जिम्मेदारी वाली पारी नहीं खेली है. युवराज को रैना को 10-20 के स्कोर को बड़ी पारी मे बदलना होगा जोकि टीम के काम आएगा. 

Related Topics