रोचक: विश्व क्रिकेट का ऐसा एक अद्दभुत रिकॉर्ड, जिसे पढ़ने के बाद आपको भी नहीं होगा खुद पर यकीन 1

मौजूदा समय में क्रिकेट का खेल जितना लोकप्रिय हैं, शायद ही अन्य कोई और खेल हो… क्रिकेट की दीवानगी का आलम यहाँ तक हैं, कि उपमहाद्वीप और एशिया में तो क्रिकेट के सिवाए और किसी खेल की बात ही नहीं होती… क्रिकेट को लेकर खेल प्रेमियों में जूनून और उत्साह देखते ही बनता हैं.

ऐसा हो भी क्यों ना दर्शकों को एक से बढ़कर एक और सांसे रोक देने वाले मुकाबलें जो देखने को मिलते हैं. क्रिकेट जैसे मजेदार खेल की सबसे अच्छी बात यह हैं, कि इस खेल में आये दिन अनोखे और अविस्मरणीय रिकार्ड्स देखने को मिलते हैं.

इस लेख के माध्यम से भी हम आज आपको एक ऐसे ही अद्दभुत रिकॉर्ड के बारे में बताने जा रहे हैं, जो आज से पहले आपने पहले कभी भी पढ़ा या सुना नहीं होगा.

अद्दभुत, अकल्पनीय और अविश्वसनीय 

रोचक: विश्व क्रिकेट का ऐसा एक अद्दभुत रिकॉर्ड, जिसे पढ़ने के बाद आपको भी नहीं होगा खुद पर यकीन 2

आज हम आपो एक रिकॉर्ड के बारे में बताने जा रहे हैं, जो श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के सनथ जयसूर्या और मुथैया मुरलीधरन के नाम पर दर्ज हैं. यह बात हम सभी बहुत ही अच्छे से जानते हैं, कि दोनों ही खिलाड़ियों ने ना सिर्फ श्रीलंकाई क्रिकेट टीम का, बल्कि विश्व क्रिकेट का भी बहुत ही नाम ऊँचा किया.

दोनों ही खिलाड़ी विश्व क्रिकेट को अपने अपने खेल से एक अलग चर्म सीमा तक लेकर गये. दोनों ने साथ में 100 या 200 नहीं, बल्कि पूरे 408 मुकाबलें एक साथ खेले. जी हाँ ! 408 और सबसे रोचक बात तो, यह रही कि इन 408 मैचों में एक बार भी इन दोनों खिलाड़ियों को एक दूसरे के साथ बल्लेबाजी करते हुए नहीं देखा गया.

क्यों चौंक गये ना…

रोचक: विश्व क्रिकेट का ऐसा एक अद्दभुत रिकॉर्ड, जिसे पढ़ने के बाद आपको भी नहीं होगा खुद पर यकीन 3

सुनने में भले ही यह बात विश्वास करने योग्य ना हो, लेकिन एकदम सत्य हैं. दो दशकों तक विश्व क्रिकेट पर राज करने वाले यह दोनों खिलाड़ी कभी भी एक साथ मैदान पर क्रीज़ शेयर करते हुए नहीं देखे गये. सनथ जयसूर्या और मुथैया मुरलीधरन ने एक साथ मिलाकर अपने देश के लिए कुल 90 टेस्ट307 एकदिवसीय और 11 T-20I मैच खेले, किन्तु संयोग से एक बार भी साथ बल्लेबाजी का जौहर ना दिखा सके.

आपको बता दे, कि जयसूर्या ने अपने करियर का आगाज एक निचले क्रम के बल्लेबाज के रूप में किया था और बाद में वह दिग्गज और महान सलामी बल्लेबाज के रुप में पहचनाने जाने लगे. वही बात अगर मुरली की करे, तो वह शुरू से ही 10वें और 11वें कर्म के बल्लेबाज रहे.

जो 408 अंतर्राष्ट्रीय मैच यह दोनों दिग्गज एक साथ खेले, उसमे कुल 267 बार दोनों की बल्लेबाजी आई. मगर संयोग से जब तक मुरलीधरन के बल्लेबाजी करने का नंबर आता, तब तक जयसूर्या आउट हो चुके होते थे.

रोचक: विश्व क्रिकेट का ऐसा एक अद्दभुत रिकॉर्ड, जिसे पढ़ने के बाद आपको भी नहीं होगा खुद पर यकीन 4

हाँ ! कुछ ऐसा मौके जरुर आये जब यह दोनों साथ में बल्लेबाजी कर सकते थे. दरअसल मुरली ने अपने टेस्ट करियर का आगाज जब किया तब वह छठे और सातवें क्रम के बल्लेबाज के रूप में आया करते थे. मगर तब तक जयसूर्या एक सलामी बल्लेबाज के रूप में स्थापित हो चुके थे.

जयसूर्या ने मुरलीधरन के टीम में रहते हुए कुल 468 पारियां खेली और 15964 रन बनाये. इस दौरान उनके बल्ले से 32 शतक और 87 अर्द्धशतक भी निकले, लेकिन अफ़सोस वह कभी भी विश्व के सर्वश्रेष्ठ स्पिन खिलाड़ी के साथ जोड़ी ना बना सके.

एक आंकड़ो पर नजर डाले, तो जयसूर्या ने कुल 39 जोड़ीदारो के साथ साझेदारी बनाई. इस दौरान वह 219 बार मर्वन अट्टापट्टू, 101 बार रोमेश कालूवितरने के साथ बल्लेबाजी करने उतरे. इस दौरान सबसे ख़ास बात यह रही, कि मुरली ने कालूवितरने के साथ चार और अट्टापट्टू के साथ दो बार बल्लेबाजी की.

रोचक: विश्व क्रिकेट का ऐसा एक अद्दभुत रिकॉर्ड, जिसे पढ़ने के बाद आपको भी नहीं होगा खुद पर यकीन 5

मुरलीधरन के अगर जोड़ीदारों की बात, कि जाए तो उन्होंने तिलकरत्ने दिलशान {10}, कुमार संगकारा {7}, महेला जयवर्धने {5}, रोशन महानामा, अरविन्द डीसिल्वा {3} के साथ मिलकर बल्लेबाजी की थी. इतना ही नहीं एशिया एकादश में मुरली ने जो {वनडे और टेस्ट} खेले उसमे उन्होंने राहुल द्रविड़ और जैक कैलिस जैसे बल्लेबाजो के साथ दो से चार बार बल्लेबाजी करने का मौका मिला.

मुरली सबसे ज्यादा 67 बार चमिंडा वास के साथ बल्लेबाज करते देखे गये. जयसूर्या के टीम में रहते हुए वह जिन 267 पारियों में बल्लेबाजी करने के लिए आये, उस दौरान उनके बल्ले से 1617 रन बनाये, इसमें एक अर्द्धशतक भी शामिल हैं.

रोचक: विश्व क्रिकेट का ऐसा एक अद्दभुत रिकॉर्ड, जिसे पढ़ने के बाद आपको भी नहीं होगा खुद पर यकीन 6

अगर गेंदबाजी के बात करे, तो 44 बार आपको जरुर कॉट जयसूर्या बोल्ड मुरलीधरन और 12 बार कॉट मुरलीधरन बोल्ड जयसूर्या जरुर पढने को मिलेगा.

यह सभी आंकड़े क्रिकेट विज्ञान के धर्मेन्द्र मोहन पन्त द्वारा निकले गये हैं.

Akhil Gupta

Content Manager & Senior Writer at #Sportzwiki, An ardent cricket lover, Cricket Statistician.

Leave a comment