सचिन तेंदुलकर की पाकिस्तानी दिग्गज आकिब जावेद ने जमकर की तारीफ, कही ये बहुत बड़ी बात 1

विश्व क्रिकेट में भारत के महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर को सबसे बेहतरीन बल्लेबाज माना जाता है। सचिन तेंदुलकर के द्वारा दिए गए योगदान के कारण उन्हें क्रिकेट के भगवान का दर्जा हासिल है। सचिन तेंदुलकर का क्रिकेट जगत में जैसा कद है, जैसी पहचान है उससे वो किसी को अपनी पहचान कराने के मोहताज नहीं हैं।

सचिन तेंदुलकर को पूरा क्रिकेट जगत करता है सलाम

आज क्रिकेट के खेल में हर प्रशंसक जानता है कि सचिन तेंदुलकर ने किस तरह का योगदान दिया है, जिनके नाम रिकॉर्ड्स की वो फेहरिस्त मौजूद है जो कोई कल्पना तक नहीं कर सकता है।

सचिन तेंदुलकर की पाकिस्तानी दिग्गज आकिब जावेद ने जमकर की तारीफ, कही ये बहुत बड़ी बात 2

साल 1989 में सचिन तेंदुलकर ने इंटरनेशनल क्रिकेट में अपना कदम रखा, जिसके बाद उन्होंने कुछ ऐसा अविश्वसनीय प्रदर्शन किया कि आज पूरा क्रिकेट जगत उन्हें सजदा करने को मजबूर है। सचिन ने इंटरनेशनल क्रिकेट को 24 साल का समय दिया।

आकिब जावेद ने की सचिन तेंदुलकर की जमकर तारीफ

सचिन तेंदुलकर ने 15 नवंबर 1989 को पाकिस्तान के खिलाफ अपने करियर का आगाज किया था। जिसके बाद तो उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और उन्होंने विश्व क्रिकेट में कई कीर्तिमान तो ऐसे स्थापित किए हैं जिसका टूटना कुछ ज्यादा ही मुश्किल कहा जा सकता है।

सचिन तेंदुलकर की पाकिस्तानी दिग्गज आकिब जावेद ने जमकर की तारीफ, कही ये बहुत बड़ी बात 3

सचिन तेंदुलकर ने अपने इंटरनेशनल करियर में गजब का योगदान दिया और उसी को आज हर कोई याद कर रहा है जिसमें पाकिस्तान के लिए करीब 11 साल तक खेलने वाले पूर्व तेज गेंदबाज आकिब जावेद ने भी याद किया। आकिब जावेद ने पाकिस्तान के लिए 1988 से 1998 तक खेलने में सफलता हासिल की।

सचिन के पास थी जैसी प्रतिभा वैसा ही दिया योगदान

आकिब जावेद ने अपने करियर के दौरान कई बार सचिन तेंदुलकर को गेंदबाजी की है। उन्होंने हाल ही में ग्लोफैंस में कई सवालों के जवाब दिए। इस दौरान उनसे कुल 20 सवाल किए गए थे, जिसमें सचिन तेंदुलकर से जुड़ा सवाल आने पर उन्होंने मास्टर-ब्लास्टर की खूब तारीफ की।

सचिन तेंदुलकर की पाकिस्तानी दिग्गज आकिब जावेद ने जमकर की तारीफ, कही ये बहुत बड़ी बात 4

आकिब जावेद ने सचिन तेंदुलकर को लेकर कहा कि

“वे बहुत ही प्रतिभाशाली बल्लेबाज हैं। मास्टर ब्लास्टर कई वर्षों तक नंबर 1 बल्लेबाज भी रहे। सचिन के पास जितना टैलेंट था, उन्होंने बिलकुल 100 फीसदी प्रभाव छोड़ा। सचिन बहुत काबिल खिलाड़ी थे।”