CWC 2019, ENGvsAUS: आरोन फिंच ने हार के बावजूद कहा, टीम के प्रदर्शन पर गर्व है

Trending News

Blog Post

इंटरव्यूज

CWC 2019, ENGvsAUS: आरोन फिंच ने हार के बावजूद कहा, टीम के प्रदर्शन पर गर्व है 

CWC 2019, ENGvsAUS: आरोन फिंच ने हार के बावजूद कहा, टीम के प्रदर्शन पर गर्व है

ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच विश्व कप का दूसरा सेमीफाइनल खेला गया। ऑस्ट्रेलिया के कप्तान आरोन फिंच ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया था। मैच को इंग्लैंड ने 8 विकेट से अपने नाम कर सेमीफाइनल में जगह बनाई। उनका मुकाबला 14 जुलाई को न्यूजीलैंड से होगा और क्रिकेट को नया विश्व विजेता भी मिलने वाला है। इंग्लैंड 27 साल बाद विश्व कप के फाइनल में पहुंचा है।

शुरुआत में भी बदला मैच

इंग्लैंड ने पहले 7 ओवर में ही ऑस्ट्रेलिया के तीन बल्लेबाजों को पवेलियन भेज दिया। इसमें शानदार फॉर्म में चल रहे डेविड वॉर्नर और आरोन फिंच के विकेट भी शामिल था। आरोन फिंच ने इसे हार की बड़ी वजह माना है। उन्होंने मैच के बाद कहा

“हम आज पूरी तरह से बाहर थे। जिस तरह से उन्होंने गेंद के साथ टोन सेट किया और दस ओवर के बाद 27/3 पर पहुंच गए, यहाँ मैच काफी बदल गया। वहां से वापस आना काफी मुश्किल था। आप नई गेंद को पहले सीम करने की उम्मीद करते हैं, लेकिन उन्होंने स्टंप्स को निशाना बनाकर अच्छी गेंदबाज़ी की। कुछ ऐसा किया जिसे हमने भी करने की कोशिश की।”

टीम पर गर्व

ऑस्ट्रेलिया ने पिछले साल वनडे क्रिकेट में काफी खराब प्रदर्शन किया था। इसके बावजूद इस टूर्नामेंट में उनका प्रदर्शन शानदार रहा। टीम ने 9 लीग मुकाबलों में 7 को अपने नाम किया लेकिन सेमीफाइनल को नहीं जीत पाई। आरोन फिंच ने आगे कहा

“इस विश्व कप में हमारे लिए बहुत सारी सकारात्मक चीजें हुई हैं, विशेष रूप पिछले साल जब हम इंग्लैंड आये थे और जिस परिस्थिति में थे। आप हमेशा जीतना चाहते हैं, लेकिन हमें यहां तक पहुँचने की वजह से टीम पर काफी है। पिछले छह महीनों में, बहुत सारे चरित्र दिखाए गए हैं, लेकिन यह अभी भी दर्द देता है।”

हमारे पक्ष में कुछ नहीं गया

ऑस्ट्रेलिया के लिए इस मैच में कुछ खास नहीं रहा। इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाजों ने शुरुआत से ही तेज गेंदबाजों पर दबाव बनाया और उन्हें विकेट नहीं लेने दिया। मिचेल स्टार्क समेत सभी तेज गेंदबाजों के काफी उन्होंने रन बनाये। कप्तान फिंच ने गेंदबाजी पर कहा

“हम विकेट लेने के विकल्प तलाशते रहे। सिर्फ इसलिए नहीं मिला क्योंकि वे असाधारण रूप से अच्छा खेले। हम जानते हैं कि वे कितने गतिशील हैं और कितने हावी हैं। यह उन दिनों में से एक है, चीजें हमारे अनुसार नहीं गईं। ऐसा होता है तो अच्छी टीमें आपको काफी परेशान करती हैं। आपको किसी भी परिस्थिति में जीत हासिल करनी पड़ेगी।”

Related posts