एडम गिलक्रिस्ट ने बताया अपने संन्यास लेने का कारण, भारतीय खिलाड़ी है बड़ी वजह 1

ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के महान विकेटकीपर बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट का क्रिकेट जगत में एक बहुत बड़ा कद है। एडम गिलक्रिस्ट ने सालों तक ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम को सेवाएं दी। उन्होंने अपनी आक्रमक बल्लेबाजी से क्रिकेट के तीनों ही फॉर्मेट में अपनी एक खास और अलग ही पहचान बनायी। तो वहीं विकेट के पीछे एडम गिलक्रिस्ट का कोई सानी पूरे करियर के दौरान नहीं मिला।

एडम गिलक्रिस्ट ने बताया अपने संन्यास का वास्तविक कारण

एडम गिलक्रिस्ट ऑस्ट्रेलिया के लिए करीब 12 साल तक खेलते रहे। उन्होंने विकेट के पीछे जिस तरह की चुस्ती और फुर्ती दिखायी वो देखते ही बनती है और उन्होंने एक बड़े विकेटकीपर के रूप में अपना नाम किया।

एडम गिलक्रिस्ट ने बताया अपने संन्यास लेने का कारण, भारतीय खिलाड़ी है बड़ी वजह 2

इसके अलावा जब गिलक्रिस्ट की बल्लेबाजी की बात करते हैं उन्होंने सबसे खतरनाक बल्लेबाज जो कुछ ही गेंद या कुछ ही ओवरों में मैच का पासा पलटने की क्षमता रखते थे। गिलक्रिस्ट की बल्लेबाजी से गेंदबाज खौफजदा रहते थे।

वीवीएस लक्ष्मण का कैच छूटना संन्यास लेने का अच्छा कारण

लेकिन इस बेजोड़ विकेटकीपर बल्लेबाज ने साल 2008 में बिना किसी को बताए अचानक से इसलिए संन्यास ले लिया कि उनसे भारत के खिलाफ वीवीएस लक्ष्मण का एक आसान सा कैच छूट गया। ये खुलासा खुद गिलक्रस्ट ने किया।

एडम गिलक्रिस्ट ने बताया अपने संन्यास लेने का कारण, भारतीय खिलाड़ी है बड़ी वजह 3

एडम गिलक्रिस्ट ने टीवी प्रेजेंटेटर मैडोना टिक्सेरा के साथ बातचीत की जिसमें उन्होंने रिटायरमेंट का कारण बताते हुए कहा कि “अगर आप वीवीएस लक्ष्मण का कैच टेस्ट मैच में छोड़ देते हैं तो मुझे लगता है कि रिटायर होने का ये एक अच्छा कारण है।”

लक्ष्मण और भज्जी ऑस्ट्रेलिया को करते थे परेशान

एडम गिलक्रिस्ट ने इस दौरान कई मुद्दों पर बात कि जिसमें उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हमेशा ही लक्ष्मण और हरभजन सिंह के प्रभाव को लेकर कहा कि

एडम गिलक्रिस्ट ने बताया अपने संन्यास लेने का कारण, भारतीय खिलाड़ी है बड़ी वजह 4

लक्ष्मण और हरभजन ने हमेशा ऑस्ट्रेलिया को एक मुश्किल समय दिया। ज्यादातर भारतीय बल्लेबाजी लाइन के साथ हमें वो (लक्ष्मण) खूब मारते थे। और फिर हरभजन हमें आउट कर देते थे।”

मैं अच्छी फॉर्मे में रहते हुए लेना चाहता था संन्यास

एडम गिलक्रिस्ट ने ऑस्ट्रेलिया के लिए 287 वनडे और 96 टेस्ट मैच खेले। उन्होंने साल 2008 में भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज के बाद संन्यास की घोषणा कर दी। उन्होंने ये माना कि हमेशा वो अच्छी फॉर्म में रहते हुए संन्यास लेना चाहता था।

एडम गिलक्रिस्ट ने बताया अपने संन्यास लेने का कारण, भारतीय खिलाड़ी है बड़ी वजह 5

उन्होंने कहा कि “जहां तक सही समय पर रिटायर होने का सवाल है तो मुझे हमेशा लगता था कि मैं रिटायर तब होऊं जब लोग कहे कि अभी क्यों ये फैसला ले रहे हैं बजाए इसके कि लोग कहें कि अरे आप अभी तक रिटायर नहीं हुए।”

अंपायर के आउट दिए बिना पवेलियन जाने पर कही ये बात

इसके अलावा गिली ने साल 2003 के विश्व कप में श्रीलंका के खिलाफ सेमीफाइनल मैच में अंपायर के आउट दिए बिना पवेलियन लौटने वाली घटना को लेकर भी बात की।

एडम गिलक्रिस्ट ने बताया अपने संन्यास लेने का कारण, भारतीय खिलाड़ी है बड़ी वजह 6

“देखों मुझे लगता है कि मैं ऐसा इसलिए नहीं कर रहा हूं कि बाकी लोग मुझे देखकर ऐसा करें और ये कोई धर्मयुद्ध नहीं था। ये सिर्फ क्रिकेट खेलने का तरीका है। मुझे लगता है कि ऐसे बहुत से लोग हैं जिन्होंने ऐसे ही मैदान को छोड़ा है, लेकिन जिसका श्रेय उन्हें नहीं दिया जाता है। ये सिर्फ एक विश्व कप के सेमीफाइनल में हुआ और पूरी दुनिया ने इस पर ध्यान नहीं दिया। और विश्वास नहीं किया। लेकिन काश मैंने उस दिन गेंद का अपने बल्ले से किनारा नहीं लगवाया होता, तो मैं बल्लेबाजी करना पसंद करता, ये वैसे हुआ जैसा होना चाहिए था।”