हरभजन सिंह

भारतीय क्रिकेट टीम ने 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली गई घरेलू टेस्ट सीरीज में ऐतिहासिक जीत दर्ज की थी। इस सीरीज में भारत के हरभजन सिंह, वीवीएस लक्ष्मण व राहुल द्रविड़ के दिए योगदान का जिक्र आज भी क्रिकेट के गलियारों में किया जाता है। अब ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के पूर्व विकेटकीपर-बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट ने उस सीरीज को याद करते हुए भज्जी से जुड़ा एक किस्सा बताया।

हर बार आउट करने के बाद कह रहे थे शब्द

हरभजन सिंह

एक वक्त था जब क्रिकेट की दुनिया में ऑस्ट्रेलिया का दबदबा हुआ करता था। उस दौरान विपक्षी टीमों का जीतना बेहद  मुश्किल माना जाता था लेकिन भारत ने 2001 में घरेलू टेस्ट सीरीज को 2-1 से जीत दर्ज की थी। अब उस वक्त ऑस्ट्रेलिया की टीम के विकेटकीपर-बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट ने उस सीरीज को याद किया। अब ‘लाइव कनेक्ट’ में टीवी प्रेजेंटर मैडोना टिक्सिरा के साथ इंटरव्यू के में बात करते हुए कहा,

“मुझे याद नहीं है कि यह शब्द क्या था, लेकिन जब मैं रन बना रहा था तब जब भी हरभजन सिंह मुझे आउट कर रहे थे तो भारतीय फील्डर्स एक शब्द बोल रहे थे। मुझे यकीन नहीं है कि मैं यह कह रहा हूं।”

भारत में फैंस को लेकर गिलक्रिस्ट ने कही ये बात

ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के लिए 96 टेस्ट, 287 वनडे व 13 टी20 आई मैच खेले हैं। जिसमें क्रमश: 5570, 9619, 272 रन बनाए। गिलक्रिस्ट ने आगे बताया की उन्हें भारत काफी पसंद है। उन्होंने आगे कहा,

“यह हमेशा अच्छा होता है। लव इंडिया…भारती हमसे इतनी अच्छी तरह से व्यवहार करते हैं। यातायात रोकने वाली गांधी प्रतिमा को देखने के लिए हम मुख्यमंत्री के साथ रुके। मुंबई में एक सुबह जब मैं उठा तो एक कैप लगाई थी, धूप का चश्मा, कान में ईयरफोन लगाकर सिर नीचे करके मैं पानी के पास टहलने गया और वहां घूमता रहा। कुछ क्रिकेट फैंस ने मुझे देखा और एक बार जब मुझे देखा गया तो वे फिर वह मेरे पीछे भागते रहे।”

“वह सिर्फ एक सेल्फी के लिए मेरे पीछे भाग रहे थे। यह बहुत मज़ेदार था। यह हमेशा मनोरंजक है, हमेशा भरपूर ऊर्जा है। आगे देखिए, मुझे यकीन नहीं है की अगला टूर कब होगा लेकिन भारत में वापस आने का इंतजार नहीं करेंगे।”

हरभजन ने 32 विकेट चटकाए

हरभजन सिंह

भज्जी ने 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेली गई ऐतिहासिक सीरीज में तीन मैचों में 32 विकेट चटकाए। उस सीरीज में उन्होंने पोंटिंग और गिलक्रिस्ट को ज्यादा स्कोर नहीं करने दिया, जिसने जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई।

हरभजन ने अपने टेस्ट करियर में पोंटिंग को 10 बार आउट किया। सबसे ज्यादा, मैथ्यू हेडन को नौ बार और एडम गिलक्रिस्ट को सात बार पवेलियन का रास्ता दिखाया है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपने 18 मैचों में, हरभजन ने 29.95 की औसत से 95 विकेट लिए हैं।