ये है क्रिकेट इतिहास का सबसे ईमानदार खिलाड़ी, अम्पायर के आउट दिए बिना 12 बार छोड़ चूका है मैदान 1

क्रिकेट की दुनिया में रिकॉर्ड के बनने बिगड़ने का सिलसिला तो हमेशा बना रहता है लेकिन इन सब के बीच कुछ रिकॉर्ड ऐसे बन जाते हैं जिसे तोड़ना पूरे करियर में भी आसान नहीं होता। इस खबर में हम आपको ऐसे ही एक आर्टिकल के बारे में बताने जा रहे हैं। क्रिकेट में अंपायर द्वारा गलत फैसले देना, अंपायर के आउट देने पर भी बल्लेबाज का विरोध करना, ऐसी तमाम घटनाएं आपने कई बार देखी होंगी। इसके अलावा आपने कई बार ऐसा भी देखा होगा कि बल्लेबाज अंपायर के आउट देने से पहले या नॉटआउट देने के बाद भी खुद आउट मानकर पवैलियन की ओर चले जाते हैं।

सचिन ने कई बार खुद को माना आउट

ये है क्रिकेट इतिहास का सबसे ईमानदार खिलाड़ी, अम्पायर के आउट दिए बिना 12 बार छोड़ चूका है मैदान 2

भारत की ओर से सचिन, धोनी समेत दुनिया भर के कई खिलाड़ियों ने ऐसा कई बार किया हैं। लेकिन एक खिलाड़ी ऐसा है जिसने ये कारनामा एक-दो बार नहीं बल्कि पूरे 12 बार किया है। आप सोच रहें होंगे कि ऐसा खिलाड़ी कौन हैं। ऐसा करने वाला ऑस्ट्रेलिया के एक पूर्व खिलाड़ी है। वै

से तो ऑस्ट्रेलिया हमेशा से अपनी बईमानी के लिए जाना जाता है और खेल के दौरान उनके कप्तान समेत कई खिलाड़ी मैदान पर बेइमानी करते हुए अक्सर नजर आते रहे हैं। लेकिन इन सबके बीच ऑस्ट्रेलिया के विस्फोटक ओपनर और दुनिया के सबसे सफल विकेट कीपर एडम गिलक्रिस्ट एक ऐसे बल्लेबाज थे, जो आउट होने पर अपने आप पवेलियन की तरफ जाने लगते थे।

12 बार गिलक्रिस्ट ने खुद को आउट माना

ये है क्रिकेट इतिहास का सबसे ईमानदार खिलाड़ी, अम्पायर के आउट दिए बिना 12 बार छोड़ चूका है मैदान 3

 

 

उनके करियर के दौरान कई बार ऐसा हुआ जब अंपायर को पता नहीं चल पाया कि उनके बैट से स्निक लगा है या नहीं और कई बार ऐसा भी हुआ जब अंपायर उन्हें नॉट आउट करार दिया, लेकिन गिलक्रिस्ट अपने-आप ही पवेलियन की तरफ चले जाया करते थे। क्योंकि उन्हें पता होता था कि वो आउट हो चुके हैं। बाद में जब रिप्ले देखा जाता था तो सबको पता चलता था कि अंपायर ने गलत निर्णय दिया था और गिलक्रिस्ट आउट हो चुके थे।

ऑस्ट्रेलिया के इस खतरनाक विकेटकीपर बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट के करियर में ऐसी घटना कुल 12 बार हुई है। मतलब अपने करियर में 12 बार खुद आउट मांग कर पवेलियन गए थे। ये अपने आप में एक बहुत अनोखा और महान रिकॉर्ड हैं। ये रिकॉर्ड दर्शाता है कि एडम गिलक्रिस्ट कितने ईमानदार खिलाड़ी थे।

Leave a comment