भारतीय क्रिकेट टीम के नए कोच के लिए अब इस भारतीय दिग्गज का नाम आया आगे | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

भारतीय क्रिकेट टीम के नए कोच के लिए अब इस भारतीय दिग्गज का नाम आया आगे 

भारतीय क्रिकेट टीम के नए कोच के लिए अब इस भारतीय दिग्गज का नाम आया आगे

भारतीय टीम चैम्पियंस ट्रॉफी की तैयारी में जुटी है। वहीं टीम के कप्तान अनिल कुंबले कोच का पद छोड़ने के लिए खुद मानसिक रूप से तैयार करने में जुटे होंगे। कुंबले की कोचिंग में भारतीय टीम ने कई अहम मुकाबलों में जीत हासिल की है। लिहाजा कुंबले एक सफल कोच बन गए हैं। बीसीसीआई के कायदों के मुताबिक सफल कोच के अनुबंध अवधि को बढ़ा दिया जाता है। लेकिन कुंबले के साथ ऐसा नहीं हुआ है। इसके इतर बीसीसीआई ने कोच पद के लिए आवदेन मांगे हैं, जिसमें कई पूर्व दिग्गज खिलाड़ी आवदेन दे चुके हैं।

भारतीय टीम के कोच पद के लिए वीरेन्द्र सहवाग और पूर्व आस्ट्रेलियाई खिलाड़ी टॉम मूडी के साथ ही पूर्व भारतीय खिलाड़ी लालचंद राजपूत ने भी आवेदन दिया है। एक अहम बात यह है कि इस समय लालचंद राजपूत अफगानिस्तान के कोच हैं। उनकी कोचिंग में अफगानी टीम में कई सकारात्मक बदलाव देखने को मिले हैं। इसके साथ ही टीम के प्रदर्शन में सुधार आया है। लालचंद राजपूत को यकीन है कि उन्हें भारतीय टीम कोच बनाया जा सकता है। स्पिन के जादूगर मुथैया मुरलीधरन को आईसीसी करेगा एक ऐसे सम्मान से सम्मानित, जिसे आजतक कोई श्रीलंकाई क्रिकेटर नहीं हासिल कर सका

बतौर कोच प्रभावी रहा है मेरा रिकॉर्ड –

भारतीय क्रिकेट टीम के नए कोच के लिए अब इस भारतीय दिग्गज का नाम आया आगे 1

बौतर खिलाड़ी लालचंद राजपूत का अच्छा रिकॉर्ड रहा है। कोच बनने के बाद भी राजपूत अपना बेहतरीन योगदान देते दिखे हैं। राजपूत ने भारतीय टीम का कोच बनने पर कहा, बतौर कोच मेरा प्रभावशाली रिकॉर्ड रहा है। मैंने कोच भूमिका में टीम के लिए बहुत कुछ किया है। मैं कोचिंग में ही भारत ने पहला बार टी-20 विश्वकप जीता था। इसके साथ ही इंडिया ए और अंडर 19 टीम के साथ भी प्रभावी रिकॉर्ड रहा है।

संकट में भारतीय टीम के तारणहार बने थे राजपूत –

भारतीय क्रिकेट टीम के नए कोच के लिए अब इस भारतीय दिग्गज का नाम आया आगे 2

भारतीय टीम ग्रैग चैपल की कोचिंग में काफी निराश हो गयी थी और टीम में मतभेद भी पैदा हो गए थे। लिहाजा चैपल को कोचिंग से हटा दिया गया था। चैपल के हटने के बाद लालचंद राजपूत को बीसीसीआई ने टीम मैनेजर की जिम्मेदारी थी। लालचंद के मैनेजर बनने के बाद भारतीय टीम को नई दिशा मिली थी। 2007 विश्वकप में टीम मैनेजर राजपूत के साथ ही भारतीय टीम मैदान पर उतरी थी। वहीं राजपूत के सहायक वेंकटेश प्रसाद बोलिंग कोच की भूमिका में थे और फील्डिंग कोच की भूमिका रोबिन सिंह को दी गयी थी। इस सभी की मेहनत की वजह से भारतीय टीम ने विश्वकप में जीत हासिल की थी।  कोलकाता के खिलाफ मिली हार के बाद अजिंक्य रहाणे ने इन्हें ठहराया हार का ज़िम्मेदार साथ ही जयदेव के कैच छोड़ने पर भी दिया चौकाने वाला बयान

चैपल के बाद मैंने टीम को संभाला –

भारतीय क्रिकेट टीम के नए कोच के लिए अब इस भारतीय दिग्गज का नाम आया आगे 3

ग्रैग चैपल के बाद टीम मैनेजर की भूमिका जिक्र करते हुए राजपूत ने कहा, ग्रैग चैपल के बाद भारतीय टीम का मनोबल टूट गया था। लेकिन मैंने उस कठिन परिस्थिति में टीम को जोड़ा है। सभी खिलाड़ियों को संभालते हुए टीम को मजबूत बनाया। इसके रिजल्ट भी देखने को मिले थे। भारतीय टीम ने पाकिस्तान और आस्ट्रेलिया को हराया था। इसके साथ ही खिलाड़ियों की समस्याओं को सुलझाया था।

Related posts