पाकिस्तान के दिग्गज ऑलराउंडर शाहिद अफरीदी को अपने अंतिम इंटरनेशनल मैच के बाद आईसीसी ने दिया ये सम्मान 1

पाकिस्तान क्रिकेट इतिहास में जब कभी भी महान खिलाड़ियों की बात होती है तो इसमें इमरान खान, जावेद मियांदाद, इंजमाम उल हक, वसीम अकरम और वकार यूनिस जैसे खिलाड़ियों को रखा जाता है, लेकिन इन सबके बीच पाकिस्तान के दिग्गज ऑलराउंडर खिलाड़ी शाहिद अफरीदी को इन लोगों के बीच स्थान नहीं दिया जाता है।

पाकिस्तान के दिग्गज ऑलराउंडर शाहिद अफरीदी को अपने अंतिम इंटरनेशनल मैच के बाद आईसीसी ने दिया ये सम्मान 2

पाकिस्तान के दिग्गज ऑलराउंडर रहे हैं शाहिद अफरीदी

पाकिस्तान के सबसे शानदार ऑलराउंडर्स में से एक रहे शाहिद अफरीदी पिछले 21 सालों से इंटरनेशनल क्रिकेट में सक्रिय हैं। इन सालों के दौरान शाहिद अफरीदी ने विश्व क्रिकेट में पाकिस्तान क्रिकेट टीम के लिए एक बहुत बड़ा योगदान दिया है। जिसे पाकिस्तान क्रिकेट ही नहीं विश्व क्रिकेट में भी लंबे समय से याद किया जाएगा।

पाकिस्तान के दिग्गज ऑलराउंडर शाहिद अफरीदी को अपने अंतिम इंटरनेशनल मैच के बाद आईसीसी ने दिया ये सम्मान 3

विश्व इलेवन की टीम की ओर से अफरीदी ने खेला अपना अंतिम इंटरनेशनल मैच

पाकिस्तान क्रिकेट टीम के लिए पिछले कुछ सालों से इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह चुके दिग्गज ऑलराउंडर खिलाड़ी शाहिद अफरीदी ने गुरूवार को आईसीसी विश्व इलेवन की टीम की तरफ से खेलते हुए अपने अंतिम इंटरनेशनल मैच को खेला। गुरूवार को लॉर्ड्स क्रिकेट ग्राउंड में आईसीसी विश्व इलेवन और वेस्टइंडीज के बीच चैरिटी मैच खेला गया।

पाकिस्तान के दिग्गज ऑलराउंडर शाहिद अफरीदी को अपने अंतिम इंटरनेशनल मैच के बाद आईसीसी ने दिया ये सम्मान 4

अफरीदी को इस तरह से किया गया सम्मानित

इस मैच में शाहिद अफरीदी आईसीसी विश्व इलेवन टीम की अगुवायी कर रहे थे और ये उनका आखिरी इंटरनेशनल मैच रहा। इस मैच में शाहिद अफरीदी ने 12 गेंदो में 11 रन ही बनाए, लेकिन जब वो आउट होने के बाद पैवेलियन की ओर गए तो हर किसी ने अपनी सीट से खड़े होकर इस दिग्गज खिलाड़ी के सम्मान में ताली बजाकर अभिनंदन किया।

विश्व इलेवन की टीम के खिलाड़ियों ने दिया गार्ड ऑफ ऑनर

इतना ही नहीं जब शाहिद अफरीदी अपना आखिरी इंटरनेशनल मैच खेलने मैदान में उतरे तो उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर भी दिया गया। शाहिद अफरीदी को गार्ड ऑफ ऑनर विश्व इलेवन की टीम में शामिल उनके टीम साथियों ने दिया। इस टीम में अफरीदी को चुना जरूर गया था, लेकिन कप्तानी इंग्लैंड के ओएन मोर्गन के हाथ में थी।

मोर्गन के अंतिम पलो में चोटिल होने पर अफरीदी को कमान सौंपी गई। और इस तरह से एक कप्तान के रूप नें अफरीदी ने अपने इंटरनेशनल करियर को अलविदा कह दिया।

अगर आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आए तो प्लीज इसे लाइक और शेयर करें। 

Leave a comment