30 सालों के लम्बे अन्तराल के बाद ऐलन बॉर्डर और उनकी टीम को मिलेंगे 1987 विश्व कप के मेडल्स | Sportzwiki Hindi

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

30 सालों के लम्बे अन्तराल के बाद ऐलन बॉर्डर और उनकी टीम को मिलेंगे 1987 विश्व कप के मेडल्स 

30 सालों के लम्बे अन्तराल के बाद ऐलन बॉर्डर और उनकी टीम को मिलेंगे 1987 विश्व कप के मेडल्स

सुनने में थोड़ा अटपटा लगता हैं, लेकिन यह बात बिलकुल सच हैं. ऑस्ट्रेलिया को 1987 में विश्व कप जीतने वाली टीम को अभी तक उनके हक के मेडल्स नहीं मिले थे. मगर रविवार, 22 जनवरी का दिन 1987 में विश्व कप जीतने वाले हर ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी के लिए बहुत बड़ा होने वाला हैं, क्योंकि इसी दिन सभी खिलाड़ियों को 30 सालों के लम्बे अन्तराल के बाद उनके हक के मेडल्स दिए जायेंगे.

ऑस्ट्रेलिया की टीम ने 8 नवम्बर, 1987 को एलन बॉर्डर की कप्तानी में पहली बार विश्व कप का खिताब जीता था. ऑस्ट्रेलिया की टीम ने 1987 के विश्व कप में इंग्लैंड की टीम को 7 रनों से हराया था और रिलायंस विश्व कप जीता था. यह फाइनल मुकाबला कोलकाता के सुप्रसिद्ध मैदान इडेन गार्डन्स के मैदान पर खेला गया था. भारत-ऑस्ट्रेलिया सीरीज से पहले एलेन बॉर्डर ने बाँधे कोहली की तारीफों के पुल, ऑस्ट्रेलिया को दिया चेतावनी 

ऑस्ट्रेलिया की टीम के 14 खिलाड़ियों के साथ-साथ, कोच बाब सिम्पसन, टीम के मैनेजर एलेन क्रोम्पटन, फिजियो एरोल अल्कोत्त के साथ साथ सभी को मेडल्स के साथ सम्मानित किया जायेंगा.

ऑस्ट्रेलियाई टीम के इन सभी खिलाड़ियों का सम्मान ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के बीच चौथे वनडे मैच से पूर्व सिडनी क्रिकेट ग्राउंड, सिडनी में किया जायेंगा. भारत दौरे के लिए चुनी गयी ऑस्ट्रेलिया की टीम से नाख़ुश है एलन बॉर्डर 

आपकों बता दे, कि 1987 में मिली ऐतिहासिक विश्व कप जीत के बाद से ही ऑस्ट्रेलिया की टीम का विश्व क्रिकेट में दबदबा बन गया था. मौजूदा समय में सबसे ज्यादा एकदिवसीय विश्व कप जीतने का रिकॉर्ड भी ऑस्ट्रेलियाई टीम के नाम पर ही दर्ज हैं. ऑस्ट्रेलिया ने 1999, 2003, 2007 और 2015 के वनडे विश्व कप जीते हैं.

1987 के विश्व कप में टीम के कप्तान रहे ऐलन बॉर्डर ने इसके बारे के बात करते हुए अपने एक इंटरव्यू में कहा, कि

”मुझे बहुत ख़ुशी हो रही हैं, कि रविवार को मेरी टीम फिर से एक बार सिडनी के मैदान पर इकट्टी होगी. यह हमारी पूरी टीम के लिए बहुत बड़ी और सम्मान की बात हैं. विश्व कप की जीत के मेडल्स का बहुत मान होता हैं. यह मेडल्स आपकों आपकी जीत की याद दिलते रहते हैं.” इस ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर ने कहा उनका अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट करियर समाप्त हो चूका है

ऐलन बॉर्डर के अनुसार-

”मैं 1987 के अपने 17 सदस्यों की टीम के सभी लोगों से मिलने को बेताब हूँ. इंग्लैंड के खिलाफ वो यादगार जीत की यादें एक बार फिर से ताज़ा होने वाली हैं.”

पिछले साल जून 2016 में सीइसी की एक मीटिंग में इस बात पर मुहर लगाई गयी थी, कि 2017 में ऑस्ट्रेलिया के टीम के खिलाड़ियों को 1987 विश्व कप मेडल्स को आईसीसी द्वारा दिए जायेंगे.

Related posts