बीसीसीआई का बॉस बनने के बाद सबसे पहले इस समस्या को दूर करना चाहते हैं गांगुली

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

बीसीसीआई का बॉस बनने के बाद सबसे पहले इस समस्या को दूर करना चाहते हैं सौरव गांगुली 

बीसीसीआई का बॉस बनने के बाद सबसे पहले इस समस्या को दूर करना चाहते हैं सौरव गांगुली

अपनी कप्तानी में भारतीय क्रिकेट को एक अच्छे मुकाम तक पहुंचाने वाले सौरव गांगुली का बीसीसीआई अध्यक्ष बनना तय हो गया है. भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली को रविवार को मुंबई के एक फाइव स्टार होटल में हुई हाई प्रोफाइल बैठक में सर्वसम्मति के साथ बीसीसीआई का अगला अध्यक्ष के रूप में चुना गया है.

बीसीसीआई का बॉस बनने के बाद सबसे पहले इस समस्या को दूर करना चाहते हैं सौरव गांगुली 1

हितों का टकराव सुलझाना जरूरी

बीसीसीआई का बॉस बनने के बाद सबसे पहले इस समस्या को दूर करना चाहते हैं सौरव गांगुली 2

पिछले 1-2 सालों से देखा गया है, कि हितों के टकराव के मामले पूर्व दिग्गज खिलाड़ियों पर बहुत ज्यादा लग रहे थे. खुद सौरव गांगुली को भी हितों के टकराव का नोटिस आया था और उन्होंने ट्वीट कर हितों के टकराव वाले इस मामले पर अपनी नाराजगी व्यक्त की थी.

हाल में ही राहुल द्रविड़ जैसे दिग्गज खिलाड़ी को हितों के टकराव के मामले में बीसीसीआई के लोकपाल के सामने पेश होना पड़ा था और कपिल देव, अंशुमन गायकवाड़ जैसे दिग्गजों ने हितों के टकराव के ही चलते क्रिकेट सलाहकार समिति के पद से इस्तीफा दिया था.

सौरव गांगुली ने बीसीसीआई का अध्यक्ष बनने के बाद अपने एक बयान में कहा, “भारतीय क्रिकेट में हितों का टकराव एक बड़ा मुद्दा है. पद संभालने के बाद मैं निश्चित रूप से इस पर ध्यान दूंगा. यह महत्वपूर्ण मुद्दा है और इसे सुलझाना जरूरी है. एनसीए, सीएसी, कोचों की नियुक्ति में यह एक बड़ा मुद्दा रहा है, इसलिए इसे वास्तव में देखने की जरूरत है.”

फर्स्ट क्लास क्रिकेटरों की स्थिति को बेहतर करना प्राथमिकता

बीसीसीआई का बॉस बनने के बाद सबसे पहले इस समस्या को दूर करना चाहते हैं सौरव गांगुली 3

सौरव गांगुली ने आगे अन्य मुद्दों पर बात करते हुए कहा, “पिछले तीन साल के बीसीसीआई में जो खराब हालात थे, उनमें सुधराना और फर्स्ट क्लास क्रिकेटरों की स्थिति को बेहतर करना प्राथमिकता होगी. 

मेरे अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने में कोई भी राजनेता मेरे संपर्क में नहीं है. मैं ममता दीदी (पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री) का धन्यवाद करता हूं और जिन्होंने इस पर खुशी जाहिर की है.”

मेरे लिए कुछ करने का यह एक शानदार अवसर

बीसीसीआई का बॉस बनने के बाद सबसे पहले इस समस्या को दूर करना चाहते हैं सौरव गांगुली 4

सौरव गांगुली ने आगे अपनी बात को बढ़ाते हुए कहा,  “मैं नियुक्ति से खुश हूं क्योंकि यह वह समय है जब बीसीसीआई की छवि में बाधा आ गई है और मेरे लिए कुछ करने का यह एक शानदार अवसर है. चाहे आप निर्विरोध चुने गए हों या चुनाव से यह अब मुद्दा नहीं है, यह एक बड़ी जिम्मेदारी है क्योंकि यह दुनिया का सबसे बड़ा संगठन है.”

 

Related posts