एक दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैच ग्वालियर में पांच साल बाद खेला जाएगा

 
ग्वालियर के कैप्टन रूपसिंह स्टेडियम पर अक्टूबर-नवंबर में एक बार फिर फिर से महफ़िल सजेगी पता चला है की एक बार फिर से यहाँ क्रिकेट होगा और यह मैच भारत के दौरे पर आने वाली दक्षिण अफ्रिका के साथ आमना सामना होगा और साथ ही इसकी अगुवाई बीसीसीआई ने मध्यप्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन (एमपीसीए) को सोंप दी है और किसी कारण वश यह मैच ग्वालियर में नहीं हो पाया, तो इसकी वयवस्था इंदौर में की गयी है  बीसीसीआई की दौरा व कार्यक्रम निर्धारण समिति की रविवार को कोलकाता में हुई बैठक में दक्षिण अफ्रीका और श्रीलंका के भारत दौरे का कार्यक्रम तय किया गया।
और ये मैच नहीं बल्कि पहले भी कई मैच यहाँ हो चुके है  कै.रूपसिंह स्टेडियम पर यह 13वां वन-डे मैच होगा और इससे पहले भी मैच  24 फरवरी 2010 में भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच में आमान सामना हुआ था , और इस मैच में सचिन तेंडुलकर ने वन-डे में पहली डबल सेंचुरी जड़ कर एक नया इतिहास रचा था।

आईसीसी का एक खास नियम है कि किसी सेंटर पर अगर किसी भी कारन वश 5 साल के अंतराल में मैच नहीं हुआ तो, आईसीसी की जांच पड़ताल की कमेटी सेंटर का दौरा करने आएगी अगर उनके जांच पड़ताल में कोई कमी नहीं आई सब कुछ ठीक रहा तो वहां मैच कराया जाएगा।

 

Related Topics