आईपीएल की बात की जा तो चेन्नई सुपरकिंग्स मुंबई इंडियंस के बाद दूसरी सबसे सफल टीम है. इस टीम ने अभी तक तीन बार आईपीएल खिताब को अपने नाम किया है. अगर आईपीए 2020 के सीजन को छोड़ दिया जाए तो इस टीम ने हर बार आईपील के प्लेआफ में जगह बनाई है. वहीं मुंबई इंडियंस ने अभी तक पांच बार आईपीएल खिताब को अपने नाम किया है.

चेन्नई सुपरकिंग्स की इस सफलता के पीछे कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का हाथ है. 2000 के टी-20 विश्वकप जीतने के बाद जब आईपीएल का शुरुआत हुई तो चेन्नई के कप्तान के रुप में महेंद्र सिंह धोनी को अपनी टीम में चेन्नई में शामिल किया गया.

एम.एस धोनी के करियर की बात की जाए तो वो अब ढ़लान की ओर है. हो सकता है आईपीएल 2022 के पहले ही वो संन्यास का ऐलान कर दें. ऐसे में ये सवाल उठना लाजिमी है कि धोनी के बाद इस टीम का कप्तान कौन होगा.

रवींद्र जडेजाः

रवींद्र जडेजा जिनकी गिनती जबर्दस्त आलराउंडरों में की जाती है. वो कई सालों से चेन्नई की ओर से खेल रहे हैं. उनका बतौर टीम योगदान भी खूब रहता है फिर चाहे क्षेत्ररक्षण हो, बल्लेबाजी हो या गेंदबाजी.

टीम इंडिया की ओर से लगभग सभी सीरीजों में भाग लेते हैं. ऐसे में जडेजा के पास अनुभव खूब हो गया है. उनकी खिलाड़ियों के बीच केमिस्ट्री भी जबर्दस्त है. ऐसे में फ्रेंचाइजी को उनका कप्तान बनाना शानदार फैसला साबित हो सकता है.

ऋतुराज गायकवाड़ः

अगर चेन्नई सुपरकिंग्स की ओर से किसी युवा खिलाड़ी को भविष्य में ध्यान रखते हुए कप्तान बनाने के बारे में सोचते हैं, तो ऋतुराज गायकवाड़ बेहतर विकल्प टीम के लिए साबित हो सकते हैं.

पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने भी कहा था कि ऋतुराज गायकवाड़ सीएसके के अगले कप्तान बन सकते हैं. सहवाग के मुताबिक ऋतुराज के पास वो टेंपरामेंट हैं. सहवाग के मुताबिक अगर गायकवाड़ कुछ और सालों तक सीएसके में रहते हैं तो शायद उनके पास कप्तान बनने की क्षमता है.

सैम करनः

सैम करन भी युवा कप्तान के रुप में टीम के रुप में बेहतरीन विकल्प साबित हो सकते हैं वो लगभग हर मुकाबलों में खेलते हैं उनके द्वारा आलराउंड प्रर्दशन से प्लेइंग इलेवन में उनकी जगह फिक्स रहती है.