मिताली राज ने इस जीत को बताया महिला टीम की सबसे बड़ी उपलब्धि

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

संन्यास के बाद स्मृति मंधाना और हरमनप्रीत कौर पर बोली मिताली राज, इसे बताया टीम इंडिया का टर्निंग पॉइंट 

संन्यास के बाद स्मृति मंधाना और हरमनप्रीत कौर पर बोली मिताली राज, इसे बताया टीम इंडिया का टर्निंग पॉइंट

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान मिताली राज ने मंगलवार को टी 20 फॉर्मेट से संन्यास की घोषणा कर चुकी हैं। अब उन्होंने ईएसपीएनक्रिकइन्फो को दिए इंटरव्यू में बताया कि भारतीय महिला क्रिकेट टीम के लिए 2016 में ऑस्ट्रेलिया में जाकर टी 20 सीरीज जीतना वाकई हमारे लिए काफी रोमांचक मोड़ था।

पहली बार ऑस्ट्रेलिया में 2016 में टी 20 सीरीज जीती

संन्यास के बाद स्मृति मंधाना और हरमनप्रीत कौर पर बोली मिताली राज, इसे बताया टीम इंडिया का टर्निंग पॉइंट 1

मिताली ने ईएसपीएनक्रिकइन्फो को दिए इंटरव्यू में बताया,

“जब 2016 में हमने ऑस्ट्रेलिया में जाकर ऑस्ट्रेलिया को ही टी 20 सीरीज में हराया था, वह पहली बार था जब हमने वह उपलब्धि हासिल की थी।

उस दौरे पर भारतीय महिला टीम की कप्तानी करना मेरे लिए गर्व की बात थी। यही वह बिंदु था जब भारतीय टीम के लिए चीजें शुरू हुईं और उसके बाद बहुत सारे अच्छे खिलाड़ी सामने आए।

उस सीरीज को जीतने के बाद हमारी टीम में कॉन्फिडेंस लेवल काफी बढ़ गया था। उस वक्त हमें यह अहसास हुआ था कि हमारे पास इससे बेहतर टी 20 सीरीज खेलने की भी क्षमता है।

मिताली राज ने बताई उपलब्धियां

मिताली राज

ऑस्ट्रेलिया में सीरीज जीतने के बाद हमारी पूरी टीम में कॉन्फिडेंस काफी बढ़ गया था। भारतीय महिला टीम ने आत्मविश्वास को आगे बढ़ाया और अगले साल इंग्लैंड में होने वाले 50 ओवर वाले विश्व कप के फाइनल में पहुंचे। दूसरी तरफ देश में महिलाओं के खेल की लोकप्रियता में लगातार वृद्धि हुई।

मिताली ने कहा,

“यकीन मानिए ऑस्ट्रेलिया में सीरीज जीतना भारतीय महिला क्रिकेट की जर्नी का एक महत्वपूर्ण मोड़ था। मैं इसे भारतीय टीम के लिए एक बड़ी प्रगति के रूप में देखती हूं। उस दौरे के बाद से, टीम ने सीरीज खेलने में काफी सुधार किया है और हमारे पास स्मृति मंधाना और हरमनप्रीत कौर जैसे बेहतरीन खिलाड़ी हैं।”

न्यूजीलैंड के खिलाफ टी 20 के बाद संन्यास लेने की बनाई थी योजना

संन्यास के बाद स्मृति मंधाना और हरमनप्रीत कौर पर बोली मिताली राज, इसे बताया टीम इंडिया का टर्निंग पॉइंट 2

मंगलवार को टी 20 फॉर्मेट से संन्यास लेने के बाद मिताली ने बताया,

मैंने इस साल की शुरुआत में न्यूजीलैंड दौरे के दौरान इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज के बाद टी 20 से संन्यास लेने की योजना बनाई थी। और इसके बारे में मुख्य कोच डब्ल्यूवी रमन और मुख्य चयनकर्ता हेमलता काला को बताया था। महान महिला बल्लेबाज 2021 में न्यूजीलैंड में एकदिवसीय विश्व कप में हिस्सा लेना चाहती हैं।

“जब मैं न्यूजीलैंड में कोच से बातचीत कर रही थी। तो मुझे एहसास हुआ कि वह अगले टी 20 विश्व कप (फरवरी-मार्च 2020 में) की योजना बना रहे हैं और मैं उनकी उस योजना का हिस्सा नहीं थी। तब मैंने कोच को अपने संन्यास के विचार के बारे में बताया।

मैंने अचानक टी 20 से संन्यास लेने का फैसला किसी भी तरह से भावनाओं में बहकर नहीं किया है।

यह तो आप सभी जानते हैं कि मैं अभी भी वनडे टीम की कप्तान हूं। मैंने टी 20 को अलविदा कहने का फैसला काफी पहले ही कर लिया था जिसके बारे में मेरे कोच व चयनकर्ता दोनों ही जानते थे।

कई रिकॉर्ड हासिल कर चुकी हैं मिताली राज

अब तक भारतीय महिला टीम के लिए मिताली राज ने टी20 क्रिकेट के फोर्मेट में 89 मैच की 84 पारियां खेली है. जिसमें उन्होंने 37.52 की औसत से 2364 रन बनाये हैं। जिसमें 17 अर्द्धशतक भी शामिल हैं। टी20 क्रिकेट में उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर नाबाद 97 रनों का था।

फील्डर के रूप में उन्होंने 19 कैच भी पकड़ी. मिताली राज ने भारतीय टीम के लिए 32 टी20 मैच में कप्तानी भी की। जिसके साथ ही वो टी20 विश्व कप 2012 , 2014 और 2016 में कप्तानी की है। इन्होने उसके बाद अपनी कप्तानी छोड़कर बल्लेबाजी पर ध्यान देना शुरू कर दिया था।

Related posts