हैदराबाद टेस्ट : शतक लगाने के बाद बोले रिद्धिमान साहा 1

भारत और बांग्लादेश के बीच हैदराबाद में खेले जा रहे ऐतिहासिक टेस्ट मैच में भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी का फैसला किया, जिसके बाद बल्लेबाज़ी करने आई भारतीय टीम की शुरुआत अच्छी नहीं हुयी और पहले ही ओवर में तस्कीन अहमद की गेंद पर लोकेश राहुल आउट हो गए. इस भारतीय बल्लेबाज़ का विकेट लेना चाहते है बांग्लादेश के तेज़ गेंदबाज़ तस्कीन अहमद

लोकेश राहुल के आउट होने के बाद भारतीय टीम के सभी बल्लेबाजों ने बहुत ही शानदार बल्लेबाज़ी की और भारतीय टीम का पहली इनिंग का स्कोर 687/6 तक पहुँचाकर पारी घोषित कर दी. इस स्कोर में मुरली विजय का शतक, कप्तान विराट कोहली का दौहरा शतक और विकेटकीपर बल्लेबाज़ रिद्धिमान साहा का शतक शामिल है.

रिद्धिमान साहा ने शतक लगाने के बाद कहा, “मैंने अभी ईरानी कप में दोहरा शतक लगाया था, जिसकी वजह से मेरा आत्मविश्वास बढ़ गया था और इस मैच में बल्लेबाज़ी के लिए आने से पहले कप्तान और कोच ने भी मुझे मेरा स्वाभाविक खेल खेलने को कहा और मैंने वही कहा.”

हैदराबाद टेस्ट : शतक लगाने के बाद बोले रिद्धिमान साहा 2

मुशफ़िकुर रहीम से मिले जीवनदान पर रिद्धिमान साहा ने कहा,

“उस पल के लिए मैं खुद को बहुत ज्यादा भाग्यशाली समझता हूँ, क्योंकि वो पल मेरे लिए क्रीज़ पर बने रहने जैसा नहीं था, लेकिन किस्मत से मुझे वह मौका मिला.”

रिद्धिमान साहा ने आगे कहा, “मेरे शतक तक जड्डू और मेरे पास पारी घोषित करने का कोई संदेश नहीं आया था, हम अपना स्वाभाविक खेल रहे थे, लेकिन दिन के अंत के कुछ समय पहले ही हमें पारी घोषित करने का संदेश मिला और तब हमने कई चौके और छक्के भी लगाये.”   भारत के विरुद्ध टेस्ट खेलकर बांग्लादेश टीम अनुभव हासिल करेगी: रवि शास्त्री   

बांग्लादेश की मिली सौम्या सरकार की विकेट पर रिद्धिमान साहा ने कहा, “मुझे बिलकुल भी नहीं पता चला था, कि यह गेंद बल्ले से लगकर आई है. मैंने तो बस गेंद को पकड़ा था और मैं उस समय अच्छी पोजीशन में था, इसलिए उस गेंद को आसानी से पकड़ पाया, लेकिन कप्तान कोहली को इस कैच पर पूरा भरोसा था और उन्होंने रिव्यू लिया, जिसकी वजह से हमें पहली सफ़लता मिली.”