जोनी बेयरस्‍टो के लगातार दो शतक जड़ने की बाद उनके निजी जीवन की यह बात जान

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

पिता ने बचपन में कर लिया था आत्महत्या, अब बेटा विश्व कप में मचा रहा धमाल 

पिता ने बचपन में कर लिया था आत्महत्या, अब बेटा विश्व कप में मचा रहा धमाल

2019 विश्व के, यानी की क्रिकेट का महायुद्ध इस मे कई ऐसे खिलाड़ी सामने आ रहे है जिनका नाम भले ही पहले किसी ने ज्यादा न सुना हो पर अब वह अपनी गेंद या बल्ले से कमाल दिखा रहे है. यह खिलाड़ी ऐसे है जिन्होंने अपने बचपन मे कई दुखो को झेला है और संघर्षपूर्ण जीवन व्यतीत किया है.

8 वर्ष की उम्र मे जॉनी बैरेस्टो के सिर से उठ गया था पिता का साया

जोनी बेयरस्‍टो

इस विश्व कप मे लगातार दो मैचों मे शतक जड़ने वाले जॉनी बैरेस्टो  ने इतिहास रच दिया है. जॉनी बैरेस्टो ने न्यूजीलैंड के खिलाफ शानदार शतक लगाया. उन्होंने 99 गेंदों में 106 रनों की पारी खेली, जॉनी बैरेस्टो ने पिछले मुकाबले में भी टीम इंडिया के खिलाफ शतकीय पारी खेली थी.

हम सब मे बहुत कम लोग ही जानते होंगे की जॉनी बैरेस्टो के पिता डेविड बैरेस्टो भी इंग्लैंड के विकेटकीपर रह चुके हैं.  हालांकि जब जॉनी बैरेस्टो महज 8 साल के थे तो उनके डेविड बैरेस्टो ने डिप्रेशन के चलते खुदकुशी कर ली थी. इसके बाद से उन्होंने यहाँ तक का सफर अपने पिता के बिना तय किया है.

जॉनी बैरेस्टो का क्रिकेट करियर

जोनी बेयरस्‍टो

जॉनी बैरेस्टो इंग्लैंड की टीम मे बतौर विकेटकीपर और दाएं हाथ के बल्लेबाज शामिल हैं. 71 एकदिवसीय मैच खेले हैं और उसमे 314 चौकों और 62 छक्कों की मदद से 2791 रन बनाए है.

जॉनी बैरेस्टो ने 63 टेस्ट मैच खेले हैं,  जिसमे उन्होंने 3806 रन बनाए है. वहीं टी 20 मैच मे उन्होंने 30 मैच खेले हैं और उसमे 48 चौकों और 19 छक्कों की मदद से 513 रन बनाए हैं.

इंग्लैंड का सेमीफाइनल खेलने का सपना हुआ पूरा

जोनी बेयरस्‍टो

इंग्लैंड की टीम ने जैसन रॉय की वापसी करा कर मानो खुद की टूर्नामेंट मे वापसी कर ली हो, जैसन रॉय और जॉनी बैरेस्टो की साझेदारी विरोधी टीम के लिए एक दीवार की तरह खड़ी हो जाती है. जिसको तोड़ना मुश्किल हो जाता है. वर्ल्ड कप में दो लगातार शतक ठोकने वाले जॉनी बैरेस्टो इंग्लैंड के पहले खिलाड़ी हैं. हालांकि उनसे पहले दुनिया के 13 खिलाड़ी ये कारनामा कर चुके हैं.

Related posts