साउथ अफ्रीका से सीरीज जीतने के बाद कोच ने दिया संदेश, वर्ल्ड कप से इन खिलाड़ियों की हो सकती हैं छुट्टी

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

अफ्रीका से सीरीज जीतने के बाद भी इन 5 खिलाड़ियों की 2019 विश्वकप के लिए भारतीय टीम से छुट्टी होना तय 

अफ्रीका से सीरीज जीतने के बाद भी इन 5 खिलाड़ियों की 2019 विश्वकप के लिए भारतीय टीम से छुट्टी होना तय

साउथ अफ्रीका की धरती पर उन्हीं के खिलाफ भारत ने करीब ढ़ाई दशक के बाद कोई वनडे सीरीज जीती है। भारत ने साउथ अफ्रीका को साल 2018 के पहले वनडे सीरीज में 5-1 के बड़े अंतर से हरा दिया। भारत ने पांचवे और आखिरी वनडे मैच में भी मेजबान टीम को 8 विकेट के बड़े अंतर से हरा दिया।

अफ्रीका से सीरीज जीतने के बाद भी इन 5 खिलाड़ियों की 2019 विश्वकप के लिए भारतीय टीम से छुट्टी होना तय 1

भारत ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया और साउथ अफ्रीका को 204 रनों पर ऑल आउट कर दिया। जिसके जबाव में भारत ने बड़ी आसानी से 32.1 ओवर में ही 8 विकेट से मैच जीत लिया।

भारत की इस शानदार जीत की हीरो एक बार फिर विराट कोहली साबित हुए। भारत के आखिरी मैच में जीत और सीरीज जीतने के बाद भी कोच रवि शास्त्री कुछ ज्यादा खुश नहीं है। भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने वनडे सीरीज के खत्म होने के बाद जो बयान दिया उससे लगता है कि वो टीम के कुछ खिलाड़ियों के प्रदर्शन से खुश नहीं हैं।

मध्यक्रम बल्लेबाजों से खुश नहीं रवि शास्त्री

 

अफ्रीका से सीरीज जीतने के बाद भी इन 5 खिलाड़ियों की 2019 विश्वकप के लिए भारतीय टीम से छुट्टी होना तय 2

रवि शास्त्री ने मूमेंटम सीरीज में भारत की जीत के बाद कहा कि

 “मैं सबसे पहले तो यही चाहूंगा कि हमारी मध्यक्रम की बल्लेबाजी सामान्य दिख रही है और इसमें सुधार की आवश्यकता है, क्योंकि हमने शुरुआत अच्छी की लेकिन हम बाद में फ्लॉप रहे है और स्कोर को बड़ा नहीं बना सके और इसमें असफल रहे है। इस प्रकार हम देख रहे है कि इस समय, भारत में कई ऐसे खिलाड़ी हैं, जो घरेलू क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। पिछले छह महीनों में, हमने कौशल, फिटनेस, चुनौतियों आदि के संदर्भ में टीम ने अच्छा क्रिकेट खेलकर दिखाया है”

रहाणे, श्रेयस और पंड्या को सुधार की जरूरत

अफ्रीका से सीरीज जीतने के बाद भी इन 5 खिलाड़ियों की 2019 विश्वकप के लिए भारतीय टीम से छुट्टी होना तय 3

भारतीय कोच ने अपने बयान से साफ संकेत दे दिए हैं, कि वर्ल्ड कप से वो मीडिल ऑर्डर बल्लेबाजी को काफी मजबूत बनाना चाह रहे हैं। भारत को सलामी बल्लेबाजों से अच्छी शुरुआत मिल रही है, लेकिन मध्यक्रम में विराट के अलावा कोई भी दूसरा खिलाड़ी अच्छा खेल दिखाने में नाकाम रहा। जिसकी वजह से टीम इंडिया अच्छी शुरुआत को बड़े स्कोर में बदलने में नाकामयाब रही।

अफ्रीकी सीरीज में मध्यक्रम की जिम्मेदारी अजिंक्य रहाणे और श्रेयर अय्यर पर थी, लेकिन रहाणे ने धीमी पारियां खेली तो श्रेयस बड़ी पारियां खेलने में नाकाम रहे। वहीं निचले क्रम की जिम्मेदारी हार्दिक पंड्या, केधार जाधव और महेंद्र सिंह धोनी  पर थी, लेकिन ये भी कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए। खासतौर पर हार्दिक पंड्या टीम में एक ऑलराउंडर की भूमिका निभाते हैं लेकिन वो ना तो गेंदबाजी में कोई कमाल दिखा पाए और बल्लेबाजी में उनसे ज्यादा अच्छी बल्लेबाजी भुवनेश्वर कुमार ने पूरी सीरीज में की।

लिहाजा रवि शास्त्री के बयान से साफ हैं कि इन खिलाड़ियों को अगर वर्ल्ड कप टीम में जगह बनानी है तो अपने प्रदर्शन में काफी सुधार लाना होगा। मध्य क्रम की अगर बात करें तो साउथ अफ्रीका की सीरीज में खेले खिलाड़ियों के अलावा कुछ पुराने खिलाड़ी भी वर्ल्ड कप की रेस में शामिल हैं। इनमें सबसे बड़ा नाम युवराज सिंह और सुरेश रैना का है।

चहल और कुलदीप ने की शानदार गेंदबाजी

अफ्रीका से सीरीज जीतने के बाद भी इन 5 खिलाड़ियों की 2019 विश्वकप के लिए भारतीय टीम से छुट्टी होना तय 4

रवि शास्त्री ने मूमेंटम सीरीज में भारत की जीत के बाद दिए गए बयान में स्पिन गेंदबाजों की भी तारीफ की। उन्होंने कहा कि ” “युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव की गेंदबाजी सबसे अच्छी और शानदार रही हैं और जसप्रीत बुमराह ने भी जबरदस्त गेंदबाजी से सभी को प्रभावित किया है, मैं उनके बारे में कुछ नहीं कह सकता वास्तव में उन्होंने भी बहुत शानदार गेंदबाजी की है। यह एक शानदार प्रयास रहा है और हम आगे भी ऐसा ही करने प्रयास करेंगे। सबसे महत्वपूर्ण बात तो यही है कि मध्य-क्रम को देखो, अगर हम उस पर काम कर सकते हैं और सुधार कर सकते हैं।” 

अश्विन और जडेजा की भी मुश्किलें बढ़ी

अफ्रीका से सीरीज जीतने के बाद भी इन 5 खिलाड़ियों की 2019 विश्वकप के लिए भारतीय टीम से छुट्टी होना तय 5

शास्त्री के इस बयान से रविंद्र जडेजा और रविंद्रचंद्र अश्विन के लिए भी वर्ल्ड कप की प्रतिस्पर्घा काफी कड़ी कर दी है। चहल और कुलदीप में घरेलू पिचों के बाद अफ्रीकी पिचों पर भी शानदार प्रदर्शन करके जडेजा और अश्विन के लिए मुश्किलें थोड़ी बढ़ा दी है। इसके दो कारण पहला कुलदीप और चहल का बढ़िया प्रदर्शन लेकिन अगर प्रदर्शन की बात करें तो अश्विन और जडेजा भी बढ़िया ही प्रदर्शन कर रहे थे।

दूसरा और इससे भी बड़ा कारण कुलदीप और चहल के रिस्ट और लेग स्पिनर होना है। आजकल सीमित ओवरों के खेल में लेग स्पिनर और रिस्ट स्पिनर की भूमिका काफी महत्वपूर्ण हो गई है। शायद यहीं कारण है कि अश्विन भी इन दिनों रिस्ट से गेंदोंं को घुमाने और लेग स्पिन गेंद फेंकने का प्रयास करने लगे हैं।

Related posts

Leave a Reply