46 साल के प्रवीण तांबे ने कहा क्रिकेट खेलने के लिए उम्र मायने नहीं रखता, सिर्फ प्रदर्शन बोलता है 1

जब साल 2013 में 41 साल की उम्र में प्रवीण तांबे ने आईपीएल में पदार्पण किया था, तब सभी ने कहा था कि ये बस एक सीजन के खिलाड़ी हैं. अब चार साल बाद प्रवीण तांबे अभी भी खेल रहें हैं और इस साल आईपीएल में सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेलेंगे.

राजस्थान रॉयल्स के साथ तीन साल खेलने के बाद प्रवीण तांबे पिछले साल गुजरात लायंस की तरफ से खेले, लेकिन सिर्फ 5 विकेट लेने के बाद गुजरात लायंस ने प्रवीण तांबे को रिलीज किया था. फिर सैयद मुश्ताक अली टी ट्वेंटी ट्रॉफी में इस साल प्रवीण तांबे ने मुंबई की तरफ से सबसे ज्यादा विकेट लिए और कमाल का प्रदर्शन किया.

मुंबई के लिए किया गया ये प्रदर्शन प्रवीण तांबे के काफी काम आया और आईपीएल अॉक्शन में सनराइजर्स हैदराबाद ने उनको 10 लाख रुपयों में खरीदा.   विडियो: ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारतीय टीम में जगह न मिलने के बाद आज युवराज ने मैदान पर उतरते ही लगाये एक ओवर में 3 छक्के

प्रवीण तांबे ने कहा, कि “सनराइजर्स हैदराबाद काफी अच्छी फ्रेंचाइज हैं, वे पिछली बार की चैम्पियन हैं. मैं उम्मीद करता हूं कि मुझे ज्यादा मैच खेलने को मिले. मैं कौन सी टीम के लिए खेलता हूं ये महत्वपूर्ण नहीं हैं मैं सिर्फ अच्छा प्रदर्शन करना चाहता हूं.”

गुजरात लायंस के साथ प्रदर्शन पर प्रवीण तांबे ने कहा, कि

“ये खेल का हिस्सा हैं और हर खिलाड़ी को इससे गुजरना पड़ता हैं. मैनें कभी इसके बारें में नहीं सोचा. मैनें पिछले साल गुजरात लायंस के लिए 7 मैच खेले और सिर्फ 1 मैच में ही मैं अच्छा प्रदर्शन कर पाया जो टी ट्वेंटी में अच्छा प्रदर्शन बिल्कुल नहीं हैं.”

प्रवीण तांबे जल्द ही 46 साल के होने वाले हैं और अगर विजय हजारे ट्रॉफी में उन्हें मुंबई की अंतिम ग्यारह में जगह मिलती हैं, तो वे प्रथम श्रेणी वनडे क्रिकेट में अपना पदार्पण करेंगे.  5 ऐसे मौके जब विराट कोहली टेस्ट क्रिकेट में बिना खाता खोले लौटे पवेलियन

प्रवीण तांबे ने कहा, कि

“मुझे मुंबई की वनडे टीम में 2013 में मौका मिला था, लेकिन मुझे मैच खेलने का मौका नहीं मिला. इस साल मैनें टी ट्वेंटी में अच्छा प्रदर्शन किया हैं तो मुझे वनडे टीम में मौका मिलने की उम्मीद हैं.”

आईपीएल और मुंबई के लिए टी ट्वेंटी खेलने के अलावा प्रवीण तांबे मुंबई के लिए रणजी मैच भी खेल चुके हैं.

प्रवीण तांबे ने कहा, कि “मैं टी ट्वेंटी से ज्यादा लुत्फ टेस्ट क्रिकेट का उठाता हूं और मुझे टेस्ट में ज्यादा मौके नहीं मिले हैं, लेकिन मैं कुछ नहीं कर सकता.”

आखिर में उन्होंने कहा, कि “मैं उम्र की तरफ देखता भी नहीं हूं. मैं काफी फिट हूं और हर चीज कर सकता हूं जो क्रिकेट में जरूरी होती हैं. मैं अभी भी खेल का लुत्फ उठा रहा हूं और खेलता रहूंगा.”   फिर दिखा महेंद्र सिंह धोनी का पुराना अंदाज़ एक पत्रकार को कहा, घर जाओ और आराम करो

sagar mhatre

I am sagar an ardent fan of cricket. I want to become a cricket writer, i always suport virat kohli and ms dhoni in every international match, but not in ipl in ipl i always chear for mumbai indian and...