आकाश चोपड़ा ने कहा इस भारतीय खिलाड़ी को वनडे टीम से दूध में पड़ी मक्खी की तरह अलग कर दिया गया 1

टीम इंडिया के पूर्व खिलाड़ी आकाश चोपड़ा व कमेंटेटर आकाश चोपड़ा इन दिनों अपने यूट्यूब चैनल के जरिए फैंस के  साथ क्रिकेट के मुद्दों पर बात कर रहे हैं। अब चोपड़ा ने टीम इंडिया से अजिंक्य रहाणे को ड्रॉप किए जाने पर अपनी राय दी। उनके अनुसार रहाणे को टीम से बाहर करना दूध में से मक्खी को अलग करने जैसा था।

नंबर-4 के लिए परफैक्ट हैं अजिंक्य रहाणे

अजिंक्य रहाणे

कोरोना वायरस के चलते 4 महीने से क्रिकेट रुका हुआ है। हालांकि इंग्लैंड के मैदान पर क्रिकेट ने वापसी कर ली है, लेकिन भारत में अभी किसी भी आयोजन का ऐलान नहीं हुआ है। जिसके चलते क्रिकेटर्स को सोशल मीडिया के जरिए फैंस से बातचीत करते देखा जा रहा है।

आकाश चोपड़ा ने कोरोना काल में यूट्यूब चैनल के जरिए फैंस के सवालों के जवाब दिए हैं। अब जब चोपड़ा से पूछा गया कि अजिंक्य रहाणे भारतीय टीम में नंबर चार पर अपनी जगह पक्की क्यों नहीं कर पाए। इसपर आकाश चोपड़ा ने जवाब देते हुए कहा,

“मैं खुद भी हैरान हूं कि आखिर जब वो इस पोजीशन पर अच्छी बल्लेबाज कर रहे थे तब भी उनसे साथ ऐसा क्यों हुआ। वनडे में नंबर चार पर लगातार अच्छा प्रदर्शन करने के बावजूद उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया। टीम इंडिया को नंबर चार के लिए जिस तरह का बल्लेबाज चाहिए रहाणे उसके लिए परफेक्ट हैं। इसका कारण क्योंकि वह पारंपरिक तरीके से बल्लेबाजी करते हैं जो टीम इंडिया के वनडे अप्रोच के हिसाब से बिल्कुल ठीक है।”

रहाणे को वनडे से ड्रॉप करना गलत फैसला

अजिंक्य रहाणे ने भारत के लिए 90 एकदिवसीय मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने 35 के औसत से 2962 रन बनाए। लेकिन 2018 में रहाणे को नंबर-4 पर अच्छे प्रदर्शन के बाद भी टीम से ड्रॉप कर दिया गया। मैनेजमेंट के इस फैसले से हर कोई हैरान था।

अब आकाश ने आगे कहा कि,

“नंबर चार की पोजीशन पर रहाणे के जो आंकड़े हैं वो भी अच्छे रहे हैं। जब आप इस क्रम पर खेलते हुए अच्छा कर रहे हैं और आपका स्ट्राइक रेट भी 83 के आसपास है तो आपको मौके क्यों नहीं मिलने चाहिए। रहाणे को वनडे टीम से निकालना सही फैसला तो बिल्कुल भी नहीं था। रहाणे को टीम से ऐसे बाहर कर दिया गया जैसे दूध से मक्खी को निकालकर फेंक दिया जाता है। मुझे ऐसा लगता है कि उनके साथ गलत किया गया है।”

श्रेयस अय्यर ने सुलझाई नंबर-4 की गुत्थी

आकाश चोपड़ा ने कहा इस भारतीय खिलाड़ी को वनडे टीम से दूध में पड़ी मक्खी की तरह अलग कर दिया गया 2

टीम इंडिया 2015 विश्व कप के बाद से ही नंबर-4 बल्लेबाजी क्रम के परफैक्ट बल्लेबाज की तलाश कर रही थी। तमाम क्रिकेटर्स को आजमाने के बाद भी टीम इंडिया की तलाश पूरी नहीं हो सकी। लेकिन 2019 विश्व कप के बाद टीम मैनेजमेंट ने युवा विस्फोटक बल्लेबाज श्रेयस अय्यर को नंबर-4 पर मौके दिए।

अय्यर ने इन मौकों को अच्छी तरह भुनाया और आज वह टीम इंडिया के लिए परफैक्ट नंबर-4 बल्लेबाज बनकर उभरे हैं। अय्यर ने किवी कंडीशंस में नंबर-4 पर खेलते हुए शतक भी लगाया।