NZ vs IND, दूसरा टेस्ट: अजिंक्य रहाणे ने पहले मैच में चेतेश्वर पुजारा की बल्लेबाजी का किया बचाव

Trending News

Blog Post

क्रिकेट

NZ vs IND, दूसरा टेस्ट: अजिंक्य रहाणे ने बताया क्यों पहले टेस्ट में फ्लॉप रहे चेतेश्वर पुजारा 

NZ vs IND, दूसरा टेस्ट: अजिंक्य रहाणे ने बताया क्यों पहले टेस्ट में फ्लॉप रहे चेतेश्वर पुजारा

न्यूजीलैंड और भारत के बीच टेस्ट सीरीज का दूसरा और अंतिम मैच 29 फरवरी से क्राइस्टचर्च में खेला जाएगा। सीरीज के पहले मैच को न्यूजीलैंड ने 10 विकेट से अपने नाम कर लिया था। भारतीय टीम की बल्लेबाजी दोनों पारियों में नहीं चली और टीम को करारी हार मिली। दूसरे मैच को जीतकर भारत सीरीज का बराबरी पर समाप्त करना चाहेगा वहीं कीवी टीम सीरीज अपने नाम करने के इरादे से मैदान पर उतरेगी। क्राइस्टचर्च में आज भारतीय उपकप्तान अजिंक्य रहाणे ने मीडिया से बात की।

पुजारा की बल्लेबाजी पर दिया बयान

NZ vs IND, दूसरा टेस्ट: अजिंक्य रहाणे ने बताया क्यों पहले टेस्ट में फ्लॉप रहे चेतेश्वर पुजारा 1

पहले मैच में भारतीय टीम के बल्लेबाजों ने काफी धीमी बल्लेबाजी की थी। चेतेश्वकर पुजारा ने पहली पारी में 42 गेंदों पर 11 रन बनाए थे। दूसरी पारी में 11 रन बनाने के लिए पुजारा ने 81 गेंदों का सामना किया था। इस बारे में सवाल पूछे जाने पर रहाणे ने कहा

“मैंने सोचा कि व्यक्तिगत रूप से न्यूजीलैंड ने बहुत अच्छी गेंदबाजी की। पुजारा मेरे हिसाब से नहीं फंस रहे थे। वह रन बनाने की कोशिश कर रहे थे। उनके सभी गेंदबाजों ने कोई भी ढीली गेंदबाज़ी नहीं की। ऐसा हो सकता है, कोई भी बल्लेबाज इस दौर से गुजर सकता है। हर किसी का खेल बिल्कुल अलग होता है। एक टीम के रूप में, हमें यह पता लगाना होगा कि हम वास्तव में बीच में कैसे खेलते हैं।”

इंडिया ए का मुकाबला हुआ था

NZ vs IND, दूसरा टेस्ट: अजिंक्य रहाणे ने बताया क्यों पहले टेस्ट में फ्लॉप रहे चेतेश्वर पुजारा 2

इस मैदान पर इंडिया ए ने न्यूजीलैंड ए के खिलाफ मैच खेला था। अजिंक्य रहाणे ने उम्मीद की है कि इस मैदान पर भी पहले मैच की तरह ही परिस्थिति मिल सकती है। इसके साथ ही हनुमा विहारी ने भी टीम के अभ्यास मैच के पिच के बारे में बताया है। अजिंक्य रहाणे ने आगे कहा

“वेलिंगटन में जो भी मिला, हमें वैसा ही मिल सकता है। इंडिया ए ने यहां खेला था। हनुमा ने हमें बताया कि यह विकेट बहुत अच्छा खेलता है, इस विकेट पर अच्छी गति और उछाल है। महत्वपूर्ण बात यह होगी कि आप खुद पर भरोसा रखें और पहले टेस्ट मैच के बारे में न सोचें। विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप में साठ अंक दांव पर होंगे।”

Related posts