IPL 2020: आकाश चोपड़ा का मानना दिनेश कार्तिक ने खुद नहीं छोड़ी होगी कप्तानी, पड़ा है दवाब 1

इंडियन प्रीमियर लीग का 13वां सीजन संयुक्त अरब अमीरात में जारी है। आईपीएल के इस सीजन ने अपने आधे से ज्यादा सफर को पूरा कर लिया है ऐसे में हर किसी की नजरें अब तो प्लेऑफ पर जा टिकी हैं। प्लेऑफ में जगह बनाने के लिए टीमों के बीच दिलचस्प होती जंग के बीच आईपीएल के इस सीजन के 28वें दिन एक बहुत ही हैरान करने वाली खबर मिली।

आकाश चोपड़ा ने कार्तिक के कप्तानी छोड़ने पर दी प्रतिक्रिया

कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तानी के पद से दिनेश कार्तिक ने इस्तीफा दे दिया। दिनेश कार्तिक के कप्तानी छोड़ने की खबर इस समय सबसे ज्यादा ट्रेंड कर रही है। दिनेश कार्तिक के इस फैसले पर हर किसी को हैरानी हो रही है।

कोलकाता नाइट राइडर्स

दिनेश कार्तिक के कप्तानी छोड़ने पर क्रिकेट फैंस से लेकर पूर्व दिग्गज क्रिकेटर्स भी अचंभित हैं। इसी बीच मशहूर कमेंटेटर और पूर्व क्रिकेटर आकाश चोपड़ा ने भी स्पष्ट रूप से कहा कि मिड सीजन में कप्तानी छोड़ना टीम के हित में नहीं है।

कप्तानी छोड़ी नहीं, किया गया है बर्खास्त

आकाश चोपड़ा ने अपने यू-ट्यूब चैनल के माध्यम से दिनेश कार्तिक के कप्तानी छोड़ने के फैसले को लेकर प्रतिक्रिया दी। आकाश चोपड़ा ने कहा कि “केकेआर ने अपने कप्तान को मिड सीजन में बर्खास्त कर दिया। हालांकि ऑफिशियल तो हमेशा ये कहेगा कि खिलाड़ी खुद ही कह रहा है कि वो कप्तानी करना नहीं चाहता है।”

IPL 2020: आकाश चोपड़ा का मानना दिनेश कार्तिक ने खुद नहीं छोड़ी होगी कप्तानी, पड़ा है दवाब 2

दिनेश कार्तिक

“हम सभी इसे फेस वेल्यू पर ले सकते हैं लेकिन कोई भी खिलाड़ी टीम को आधे रास्ते में नहीं छोड़ता है, यही मुझे लगता है। मैंने कार्तिक से बात तो नहीं की है लेकिन जो खबरे आई हैं वो ये है कि उन्होंने कहा कि वो कप्तानी नहीं करना चाहते हैं।”

कार्तिक की कप्तानी में टीम कर रही थी अच्छा

आकाश चोपड़ा ने आगे कहा कि “हालांकि ईमानदारी से कहे तो टीम का प्रदर्शन अच्छा था। उन्हंने अपने सात मैचों में से चार में टीम को जीत हासिल करायी थी और उन्हें आगे बढ़ने के लिए अपने अगले 7 में से केवल 4 मैच की जीतने थे।”

“और बल्लेबाजी में भी कार्तिक ने एक अच्छी पारी खेली थी, जहां उन्होंने किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ अर्धशतक बनाया था। वो भी बहुत ही तेज गति से। फिर उन्होंने कप्तानी क्यों छोड़ी मुझे नहीं पता।”

आईपीएल 2020

“मैं व्यक्तिगत रूप से तो एक ही पृष्ठ पर नहीं हूं। मुझे लगता है कि अगर केकेआर को ओएन मोर्गन को कप्तानी देनी थी, तो शुरुआत में ही ऐसा करना चाहिए था। अगर आप इसे मिड वे पर करते हैं तो चीजें खराब होती हैं, ये मेरी निजी राय है।”