आकाश चोपड़ा ने बताया आखिरी मैच में कौन से 2 बड़े बदलाव कर सकती है भारतीय टीम 1

पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज़ और कमेंटेटर आकाश चोपड़ा ने भारतीय टीम को सुझाव दिया है कि तीसरे और आखिरी वन-डे में कुछ बदलाव किए जाएं. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ़ होने वाले सीरीज़ के तीसरे और आखिरी मैच में भारतीय टीम के पास अपनी साख बचाने का आखिरी मौका है. पहले दो वन-डे में शानदार प्रदर्शन करते हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम ने भारत को मैच में कहीं भी नहीं टिकने दिया. आकाश चोपड़ा ने भारतीय टीम को इसी सिलसिले में तीसरे वन-डे की प्लेइंग इलेवन में कुछ बदलाव करने का सुझाव दिया है.

बल्लेबाज़ी में बदलाव से परहेज़ करे टीम मैनेजमेंट

आकाश चोपड़ा ने दिए बदलाव के सुझाव

आकाश चोपड़ा ने सीरीज़ के आखिरी मैच में गेंदबाजी विभाग में ज़रूरी बदलाव करने पर जोर देते हुए कहा कि,

“नवदीप सैनी और युजवेंद्र चहल की जगह युवा टी नटराजन और कुलदीप यादव को मौका दिया जाना चाहिए. मुझे उम्मीद है कि भारतीय टीम बल्लेबाजी में कुछ ज़्यादा बदलाव नहीं करेगी. मुझे लगता है सीरीज़ के आखिरी मैच में टीम मयंक अग्रवाल को ड्रॉप कर सकती है.

अगर टीम उन्हें ड्रॉप कर भी देती है तो इस बदलाव का यूज़ क्या होने वाला है. आप मयंक को टीम में बरकरार रख कर  केएल राहुल को नंबर 5 पर खिला सकते हैं. मेरी मानें तो टीम को बल्लेबाजी विभाग में ज़्यादा बदलाव के बारे में नहीं सोचना चाहिए.”

गेंदबाज़ी में हो सकते हैं ये बदलाव

आकाश चोपड़ा ने बताया आखिरी मैच में कौन से 2 बड़े बदलाव कर सकती है भारतीय टीम 2

बल्लेबाज़ी में कोई बदलाव न करने का सुझाव देने के बाद गेंदबाज़ी विभाग में ज़रूरी बदलावों पर बोलते हुए चोपड़ा ने कहा कि,

“मेरे हिसाब से गेंदबाज़ी में दो बदलाव होने बेहद ज़रूरी हैं. चहल और सैनी, दोनों ही गेंदबाज़ शुरुआती दो मैचों में काफ़ी महंगे साबित हुए हैं. अभी तक सीरीज़ के दो मैचों में सैनी ने 83 और 70 रन दिए हैं तो वहीं दूसरी ओर चहल ने 89 और 71 रन लुटा कर बेअसर साबित हुए हैं. इसके अलावा टीम को जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी के साथ बने रहना चाहिए.”

आकाश चोपड़ा ने ये सुझाव उस समय में दिए हैं जब भारतीय टीम लगभग हर विभाग में संघर्ष कर रही है. बेअसर गेंदबाजी और बल्लेबाज़ी की वजह से शुरुआती दोनों मैचों में हार का सामना करना पड़ा है.

कितना गंभीर है टीम मैनेजमेंट

आकाश चोपड़ा ने बताया आखिरी मैच में कौन से 2 बड़े बदलाव कर सकती है भारतीय टीम 3

वन-डे सीरीज़ हारने के बाद भारतीय टीम की हर विभाग में प्रदर्शन को लेकर चौतरफ़ा आलोचना हो रही है. इस बीच कई पूर्व खिलाड़ियों कप्तान की रणनीति पर भी सवाल उठाए हैं. तो वहीं कुछ एक्सपर्ट्स ने टीम में ज़रूरी बदलाव के सुझाव दिए हैं. अब देखना ये होगा कि पूर्व ओपनर आकाश चोपड़ा के सुझावों को टीम मैनेजमेंट कितनी गंभीरता से लेता है. इस पूरे विमर्श के बाद एक बात तो साफ़ हो जाती है कि अगर टीम को तीसरे वन-डे में अपनी साख बचानी है तो कुछ बदलाव अनिवार्य तौर पर करने होंगे.