/

हार के बाद सचिन,सहवाग और धोनी जैसे दिग्गज खिलाड़ियों के बारे में ये क्या बोल गये एलिस्टर कुक

भारत और इंग्लैंड के बीच पांच टेस्ट मैचों की सीरीज खेली जा रही हैं. जिसमें मेजबान भारतीय टीम 2-0 से श्रृंखला में आगे चल रही हैं.

जेसीसी
बनना चाहते हैं प्रोफेशनल क्रिकेटर?
अभी करें रजिस्टर

*T&C Apply

पहले विशाखापत्तनम और अब मोहाली टेस्ट हारने के बाद इंग्लैंड की टीम टेस्ट सीरीज में पिछड़ती हुई दिखाई दे रही हैं. जिस देखकर इंग्लैंड की टीम ने अब भारतीय टीम पर माइंड गेम खेलना शुरू कर दिया हैं. मोहाली टेस्ट हारने के बाद मीडिया से बातचित के दौरान इंग्लैंड की टेस्ट टीम के कप्तान एलिस्टर कुक ने भारतीय युवा टीम की तारीफ़ करते हुए जो कुछ भी बोला, उससे तो यही लगता हैं. अब इंग्लिश टीम भारतीय टीम पर माइंड गेम खेलने की तैयारी में हैं.

यह भी पढ़े: वीरेंद्र सहवाग ने किया खुलासा, धोनी की वजह से विराट है आज भारतीय कप्तान, चयनकर्ताओ ने दिया था रोहित कों मौका

इंग्लैंड की टेस्ट टीम के कप्तान एलिस्टर कुक के अनुसार-

”जब हमारी टीम साल 2012 में यहाँ टेस्ट सीरीज खेलने आई थी. उस वक़्त की और इस वक़्त की भारतीय टीमें पूरी तरह से भिन्न हैं. उस समय टीम इंडिया में काफी सीनियर खिलाड़ियों की फ़ौज हुआ करती थी, जबकि मौजूदा समय की टीम में  ऐसा बिलकुल नहीं हैं. यह पूरी टीम युवाओं से भरी हुई हैं और सभी खिलाड़ी हर दम जोश से लबरेज रहते हैं.”

कुक के अनुसार-

”2012 में हमारे पास भी केविन पीटरसन, ग्रीम स्वान और इयान बेल जैसे काफ़ी अनुभवी खिलाड़ी थे, जिनके पास उपमहाद्वीप में क्रिकेट खेलने का काफ़ी अनुभव था, अभी हमारी टीम में अब उस अनुभव की कमी साफ़ दिखाई देती हैं.”

यह भी पढ़े: भारतीय टीम से सिर्फ ये खिलाड़ी होंगे युवराज की शादी में शामिल

कुक ने कहा, कि-

मौजूदा इंग्लैंड टीम में बहुत कम खिलाड़ी हैं, जिनके पास उपमहाद्वीप में टेस्ट क्रिकेट खेलना का अनुभव हैं. यही नहीं मोहाली टेस्ट में हम विकेट को पढ़ने में काफ़ी गलतियाँ कर गये. जो हमारी हार का सबसे बड़ा कारण रही. अगर हम पिच को समझ पाते तो अपनी टीम में चार तेज गेंदबाज़ों और दो स्पिनर्स के साथ उतरते. विकेट से तेज गेंदबाज़ों को बहुत मदद मिल रही थी.”

कप्तान कुक ने साफ़ तौर पर 2012 की महेंद्र सिंह धोनी और 2016 की विराट कोहली की टेस्ट टीमों में अंतर बताते हुए, कोहली की टीम को धोनी की टीम से ज्यादा बेहतर बता दिया.

यह भी पढ़े: OMG! विराट कोहली और जिनिलिया का अन्तरंग विडियो हो रहा है वायरल

2012 में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में भारतीय टीम इंग्लैंड के हाथों चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला 2-1 से हार गई थी. तब भारतीय टीम में सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, हरभजन सिंह, वीरेंद्र सहवाग, हरभजन सिंह, गौतम गंभीर और ज़हीर खान जैसे बड़े नाम टीम का अहम हिस्सा थे.